ब्रिटेन में नवजाद शिशु कोरोना से संक्रमित सबसे कम उम्र का मरीज

लंदन | कोरोना वायरस के खौफ से पूरी दुनिया परेशान है। अब तक इस खतरनाक बीमारी ने दुनियाभर में 150000 से ज्यादा लोगों को चपेट में लिया है और 5000 से ज्यादा लोगों की जान चली गई है। वहीं इंग्लैंड में एक नवजात शिशु में भी कोरोना वायरस का संक्रमण पाया गया है। वह दुनिया में सबसे कम उम्र का कोरोना का मरीज है। ‘द सन’ की रिपोर्ट के मुताबिक जब बच्चे का जन्म नहीं हुआ था तो उसकी मां को निमोनिया की शिकायत थी। जांच की रिपोर्ट नहीं आई थी उससे पहले ही बच्चे का जन्म हो गया। जन्म के बाद बच्चे को भी बुखार था और उसकी भी जांच की गई। नवजात की भी रिपोर्ट पॉजिटिव आई।

क्या गर्भ में भी हो सकता है कोरोना का संक्रमण?
सवाल यही है कि क्या गर्भ में भी कोरोना वायरस का संक्रमण हो सकता है। पहले की रिपोर्ट कहती हैं कि ऐसा संभव नहीं है। डॉक्टर यह जानने की कोशिश कर रहे हैं कि आखिर बच्चा वायरस के संपर्क में कैसे आया। बच्चे को उसी अस्पताल में रखा गया है जबकि मां को दूसरे हॉस्पिटल में शिफ्ट किया गया है।

सुकून की बात यह है कि डॉक्टरों का कहना है कि अभी मां और शिशु दोनों में ही संक्रमण ज्यादा नहीं है। उनमें हल्के लक्षण ही नजर आए हैं। इसलिए मां बच्चे को दूध पिला सकती है। ब्रिटेन से इन दिनों ऐसी सन्नाटे की तस्वीरें आ रही हैं कि उन्हें देखकर लगता है शहर में कोई रहता ही नहीं। लंदन में भी मॉल खाली दिखे।

कोरोना वायरस से बचाव के लिए कई देशों ने यात्राओं पर प्रतिबंध लगा दिया है। अमेरिका ने पहले कई यूरोपीय देशों पर अमेरिका आने पर प्रतिबंध लगाया था। अब यह प्रतिबंध ब्रिटेन और आयरलैंड तक बढ़ा दिया गया है। वहीं भारत ने भी एहतियाती कदम उठाते हुए बॉर्डर से लोगों का आना-जाना प्रतिबंधित कर दिया है।