Monday, July 26संस्थापक, प्रधान संपादक, स्वामी श्री नवनीत जगतरामका जी
Shadow
vishwa-jansankhya-diwas-12-july-2021

दुर्ग : विश्व जनसंख्या दिवस पर स्वास्थ्य केंद्रों में जागरूकता शिविर चलाया गया

दुर्ग. विश्व जनसंख्या दिवस के उपलक्ष पर विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा दुर्ग जिले में स्थित विभिन्न स्वास्थ्य केंद्रों में जागरूकता शिविर चलाया गया श्री राजेश श्रीवास्तव जिला एवं सत्र न्यायाधीश अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण दुर्ग के मार्गदर्शन एवं निर्देशन आज दिनांक 11 साथ 2021 को दुर्ग जिले में स्थित स्वास्थ्य केंद्रों में पैरा लीगल वालंटियर द्वारा लोगों को जनसंख्या वृद्धि से हो रही परेशानी एवं उससे बचाव हेतु विधिक जागरूकता शिविर कुल 55 स्थानों में किया गया

दुनिया भर में बढ़ती जनसंख्या परेशानी का एक बड़ा कारण बन गई है इसकी वजह से अशिक्षा बेरोजगारी भुखमरी और गरीबी अनियंत्रित होती जा रही है बढ़ती जनसंख्या से निपटने के लिए परिवार नियोजन जैसे समाधान मौजूद है लेकिन लोगों में इसकी जगह की कमी है दुनिया भर में किसी बढ़ती आबादी के प्रति जागरूक करने के लिए हर साल जरा जुलाई को वर्ल्ड पापुलेशन डे मनाया जाता है

इस दिन को मनाने का उद्देश्य यह है कि दुनिया के प्रत्येक व्यक्ति बढ़ती जनसंख्या की ओर अवश्य ध्यान दें और जनसंख्या को कंट्रोल करने में अपना योगदान भी अवश्य करें इस दिन राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कई क्रियाकलाप किए जाते हैं ताकि जनता जागरूक हो सके और जनसंख्या पर कंट्रोल कर सके जनसंख्या वृद्धि के कई देशों के सामने बड़ी समस्या का रूप ले चुकी है खासकर विकासशील देशों में जनसंख्या विस्फोट गहरी चिंता का विषय है ऐसे में इस मौके पर आइए अपने आसपास के लोगों को जागरूक करते हैं घनी आबादी के कारण मानव स्वास्थ्य खतरे में है दिन-ब-दिन बढ़ती आबादी के बीच आसानी से वायु जनित रोग यानी हवा से होने वाली बीमारियां आसानी से फैल रही है जैसा कि शोध में भी स्पष्ट हो चुका है

कि कोविड-19 मानसूनी बीमारियां भी हवा से फैलती है जनसंख्या के बढ़ने से शहरी भीड़ और पर्यावरणीय परिवर्तन जैसे मुद्दों को भी जन्म दिया है जिसके चलते कई संक्रामक रोग सामने आए हैआने वाले दिनों में यह रोग अपना विस्तार कर सकते हैं अधिक जनसंख्या के कारण पानी की समस्या भी लगातार बढ़ रही है कई लोगों तक पीने का पानी नहीं पहुंचता और दूषित जल के सेवन से भी सेहत पर बुरा असर पढ़ रहा है हर साल दूषित पानी से होने वाली बीमारियों के कारण भी कई लोगों की मौत हो जाती है क्योंकि घनी आबादी में वायरस तेजी से फैलता है और म्यूटेशन के कारण नए-नए घातक वैरीअंट भी आते हैं

आबादी के बढ़ने से अपने वाहन से यात्रा करने वाले लोगों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है इस वजह से वायु प्रदूषण भी बढ़ रहा है जिससे लोगों को ताजी हवा में सांस लेना मुश्किल होता जा रहा है ऐसे में सड़क पर यातायात के कारण होने वाले स्वास्थ्य प्रभावों के बारे में चिंता बढ़ रहे हैं हवा में जहरीली गैस व्यस्को की तुलना में बच्चों की सेहत पर अधिक नेगेटिव प्रभाव डाल रही है मौजूदा दौर में खराब गुणवत्ता वाली हवा से अधिकांश लोग सांस की समस्याओं से पीड़ित हैं जिनके बारे में नीचे जिक्र है अधिक जनसंख्या की समस्या को हल करने के लिए लोगों में जागरूकता लानी होगी ग्रामीण और शहरी लोगों को चाहिए कि वह गर्भनिरोधक के तरीकों के बारे में पढ़ें परिवार नियोजन शिक्षा के बारे में जागरूकता फैलाना जन्म नियंत्रण उपाय और नियमों को लागू करना जो जनसंख्या वृद्धि को नियंत्रित करने में मदद करें

पोर्टल/समाचार पत्र विज्ञापन हेतु संपर्क : +91-9229705804
Advertise with us

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *