Tuesday, November 30संस्थापक, प्रधान संपादक, स्वामी श्री नवनीत जगतरामका जी
Shadow

उद्योग जगत

बलौदाबाजार : अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस पर न्यू विस्टा लिमिटेड ने आयोजित किया योग प्रशिक्षण कार्यक्रम

बलौदाबाजार : अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस पर न्यू विस्टा लिमिटेड ने आयोजित किया योग प्रशिक्षण कार्यक्रम

उद्योग जगत
बलौदाबाजार न्यू विस्टा लिमिटेड (रिसदा) बलौदाबाजार के तत्वाधान में सभी योगासनों तथा प्राणायाम का अभ्यास कराकर लाभ के बारे मे जानकारी दी गयी l प्रशिक्षाथीर्यो ने योग काे अपनाने तथा लोगाे काे प्रेरित करने की शपथ भी ली। 21 जून अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर न्यू विस्टा लिमिटेड के चीफ मैनुफैक्चरिंग आफिसर श्री अनंत महोबे की प्रेरणा, मानव संसांधन विभाग प्रमुख श्री राजू बेनर्जी के मार्गदर्शन तथा कार्पोरेट सामाजिक उत्तरदायित्व विभाग के सहायक महाप्रबंधक चन्द्रशेखर उपाध्याय के नेतृत्व में आज ग्राम रिसदा में योग प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसका मुख्य उद्देश्य योग के महत्व को बताकर योग को दैनिक जीवन अपनाने हेतु प्रेरित करना है। इस अवसर पर बाबा रामदेव के पंतजलि योग शिक्षा केन्द्र से प्रशिक्षित श्रीमती राजेश्वरी वर्मा, सुश्री राखी वर्मा तथा उनकी सहायिका सुश्री श्री यादव, आंगनवाडी का...
एनएमडीसी का एक और शानदार प्रदर्शन वित्‍त वर्ष 21 में अब तक का सर्वोत्‍तम तिमाही तथा वार्षिक वित्‍तीय प्रदर्शन

एनएमडीसी का एक और शानदार प्रदर्शन वित्‍त वर्ष 21 में अब तक का सर्वोत्‍तम तिमाही तथा वार्षिक वित्‍तीय प्रदर्शन

उद्योग जगत, राष्ट्रीय
भारत के सबसे बड़े लौह उत्‍पादक एनएमडीसी ने वित्‍त वर्ष 2020-21 के दौरान लौह अयस्‍क का 34.15 मिलियन टन उत्‍पादन किया तथा 33.25 मिलियन टन बिक्री की। यह वित्‍त वर्ष 2019-20 में किए गए 31.49 मिलियन टन उत्‍पादन तथा 31.51 मिलियन टन बिक्री से क्रमश: 8% तथा 6% अधिक है। यह उपलब्धि निश्चित रूप से एक चुनौतीपूर्ण वर्ष में हासिल की गई है। एनएमडीसी का कारोबार वित्‍त वर्ष 2020-21 में रूपए 15,370 करोड़ रहा जो कि वित्‍त वर्ष 2019-20 के रूपए 11699 करोड़ पर 31 % की वृद्धि है। वित्‍त वर्ष की चौथी तिमाही के दौरान कारोबार रूपए 6,848 करोड़ रहा जो कि पिछले वर्ष की इसी अवधि के रूपए 3,187 करोड़ था। कंपनी ने चौथी तिमाही तथा वार्षिक कारोबार, दोनों में ही रिकार्ड उपलब्धि हासिल की जो कि स्थापना से अब तक सर्वाधिक है। वित्‍त वर्ष 2020-21 में ...
एनटीपीसी लारा ने ‘योगा एट होम, योगा फॉर वेलनेस’ के प्रसंग में मनाया अंतर्राष्ट्रीय योगा दिवस

एनटीपीसी लारा ने ‘योगा एट होम, योगा फॉर वेलनेस’ के प्रसंग में मनाया अंतर्राष्ट्रीय योगा दिवस

उद्योग जगत
एनटीपीसी लारा ने ‘योगा एट होम’ कर के अंतर्राष्ट्रीय योगा दिवस सफलतापूर्वक मनाया। आयुष मंत्रालय के दिशा-निर्देशों को मध्यनज़र रखते हुए ‘योगा फॉर वेलनेस’ अथार्थ ‘स्वास्थ्य के लिए योग’ के प्रसंग में योगा दिवस का आयोजन किया गया। एनटीपीसी लारा के कर्मचारियों एवं उनके परिवार के सदस्यों ने घर पे रह कर योगा किया एवं योगा को अपने जीवन का अभिन्न अंग बनाने का संकल्प लिया। उल्लेखनीय है कि सभी आयु वर्ग के लोगों ने योगा के कार्यक्रमों में बढ़ चढ़ के हिस्सा लिया। इस अवसर पर एनटीपीसी लारा के कार्यकारी निदेशक श्री आलोक गुप्ता ने कहा " योग अपने आप को जीवंत करने का एक महत्वपूर्ण साधन है। वर्तमान समय में योग को अपने जीवन में शामिल करना अत्यंत आवश्यक है। कोरोना महामारी ने हमें ये पुनः याद दिलाया है कि हमारा स्वस्थ्य सर्वोपरि है और इसलिए हमें खुद को स्वस्थ रखने के लिए नियमित तौर पर योग का अभ्यास करना चाहिए”।...
विशेष लेख : श्री लक्ष्मणराव काशीनाथ किर्लोस्कर जयंती, कलर ब्लाइंड थे फिर मैकेनिकल इंजीनियर बने, किर्लोस्कर ग्रुप के संस्थापक, 100 वर्षो पहले ही मेक इन इंडिया ला चुके थे

विशेष लेख : श्री लक्ष्मणराव काशीनाथ किर्लोस्कर जयंती, कलर ब्लाइंड थे फिर मैकेनिकल इंजीनियर बने, किर्लोस्कर ग्रुप के संस्थापक, 100 वर्षो पहले ही मेक इन इंडिया ला चुके थे

उद्योग जगत, मनोरंजन, राष्ट्रीय
रायपुर. श्री लक्ष्मणराव काशीनाथ किर्लोस्कर जी का जन्म 20 जून 1869 बेलगाम, तब बंबई में हुआ था। बचपन से इन्हे पेंटिंग का बहुत शौक था, वर्ष 1885 में इन्हे जे जे स्कूल ऑफ़ आर्ट, बॉम्बे में एडमिशन मिला था पर 2 वर्ष बाद वो आंशिक रूप से अंधे हो गए थे. इस वजह से इन्हे कॉलेज से बेदखल कर दिया गया था. श्री किर्लोस्कर जी ने हार नहीं मानी और मैकेनिकल ड्राइंग की पेंटिंग्स बनाना जारी रखा इनमे रंगो को भरने की जरुरत नहीं होती थी, फिर इन्होने मैकेनिकल स्कूल में दाखिला लिया और इनकी मैकेनिकल ड्राइंग की कला और निपुणता को देख कर इन्हे उसी स्कूल में पढ़ाने की नौकरी भी मिल गयी। फिर इन्होने बेलगांव में एक सी छोटी साइकिल की दुकान खोली और फिर यहां से उनका जीवन बदल-सा गया। वे 700 रुपये - 1000 रुपये में साइकिल बेचने लगे व 15 रुपये में सिखाने भी लगे। 19वी सदी में एक साइकिल, मोटर कार के बराबर मानी जाती थी। जिस सड़...
एनटीपीसी भारत के टॉप 50 श्रेष्ठ कार्यस्थलों में शामिल, जीपीटीडब्ल्यू द्वारा नेशन बिल्डर्स 2021 के रूप में मान्यता दी गयी

एनटीपीसी भारत के टॉप 50 श्रेष्ठ कार्यस्थलों में शामिल, जीपीटीडब्ल्यू द्वारा नेशन बिल्डर्स 2021 के रूप में मान्यता दी गयी

उद्योग जगत, राष्ट्रीय
रायगढ़। 19 जून, 2021. एनटीपीसी को लगातार 15वें वर्ष ग्रेट प्लेस टू वर्क इंस्टिट्यूट द्वारा श्रेष्ठ कार्यस्थल (ग्रेट प्लेस टू वर्क) के रूप में मान्यता दी गयी है। एनटीपीसी, भारत के टॉप 50 सर्वश्रेष्ठ कार्यस्थलों में जगह पाने वाला इकलौता सरकारी उपक्रम है। इस वर्ष एनटीपीसी 38वें स्थान पर रहा, जबकि पिछले वर्ष यह 47वें स्थान पर था। इसने नेशन-बिल्डर्स 2021 में भारत के सर्वश्रेष्ठ नियोजक के रूप में अब तक का अपना पहला सम्मान भी हासिल किया। जीपीटीडब्ल्यू के सर्वश्रेष्ठ कार्यस्थलों की सूची में वर्ष-दर-वर्ष लगातार स्थान पाना इसके लोगों की कार्यपद्धतियों एवं दृष्टिकोण का प्रमाण है। ग्रेट प्लेस टू वर्क (जीपीटीडब्ल्यू) इंस्टिट्यूट ने अत्यंत विश्वासपूर्ण संस्कृति का पथप्रदर्थक बनने के लिए एनटीपीसी के कर्मचारियों की प्रशंसा की। जीपीटीडब्ल्यू इंस्टिट्यूट ने एनटीपीसी के सफल कारोबार और इसके कर्मचारियों के स...