Wednesday, August 4संस्थापक, प्रधान संपादक, स्वामी श्री नवनीत जगतरामका जी
Shadow

मनोरंजन

मनवा बीजापुर फ़ोटोग्राफी कांटेस्ट के नतीजे 30 जुलाई को विजेता 15 अगस्त को मुख्य अतिथि के हाँथों होंगे पुरुस्कृत

मनवा बीजापुर फ़ोटोग्राफी कांटेस्ट के नतीजे 30 जुलाई को विजेता 15 अगस्त को मुख्य अतिथि के हाँथों होंगे पुरुस्कृत

बस्तर संभाग, मनोरंजन
बीजापुर। जिला प्रशासन  द्वारा बीते दिनों मनवा बीजापुर फ़ोटोग्राफी कॉन्टेस्ट आयोजन करवाया गया था, जिसे दो श्रेणियों में पेशेवर और प्रारंभिक पर बंटा गया था। फोटोग्राफी का विषय प्रकृति, कृषि, ग्रामीण-शहरी जीवनशैली, आदिवासी  संस्कृति और पर्यटन पर केंद्रित था। कॉन्टेस्ट में जिले के लगभग 150 से अधिक पेशेवर एवं प्रारम्भिक फोटोग्राफरों ने भाग लिया जिसमे लगभग 3000 से अधिक फ़ोटो अलग अलग विषयों पर ऑनलाइन जमा हुये। इस पर अधिक जानकारी देते हुए उप संचालक समाज कल्याण विभाग  उमेश पटेल ने बताया कि विजेताओं की घोषणा 30 जुलाई को की जाएगी तथा 15 अगस्त को मुख्य अतिथि द्वारा पुरुस्कार  वितरण किया जाएगा।...
छत्तीसगढ़ के सीएम ने ‘बचपन का प्यार…’ गाने वाले स्कूली छात्र से की मुलाकात

छत्तीसगढ़ के सीएम ने ‘बचपन का प्यार…’ गाने वाले स्कूली छात्र से की मुलाकात

मनोरंजन, रायपुर
छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित सुकमा जिले में रहने वाले सहदेव का गाना ‘बचपन का प्यार भूल ना जाना रे’ इन दिनों सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है. उनके गाने के फैन्स में बॉलीवुड सिंगर बादशाह भी शामिल है. जब बादशाह के पास यह वायरल वीडियो पहुंचा तो उन्होंने साथ में गाने का सहदेव को ऑफर दे दिया. उन्होंने इस बच्चे से वीडियो कॉल के जरिए बात की और उसे चंडीगढ़ बुला लिया. छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने छात्र सहदेव से मुलाकात की और साथ का एक वीडियो को ट्वीट किया है. इस वीडियो में सहदेव वही गाना गाते हुए सुनाई दे रहे हैं और उनके गले में एक फूलों की माला डली हुई है. बचपन का प्यार....वाह! pic.twitter.com/tWUuWFP71f — Bhupesh Baghel (@bhupeshbaghel) July 27, 2021 ...
मीराबाई चानू ओलिम्पिक में सिल्वर मेडल जीतने वाली की संघर्ष भरी दास्तान

मीराबाई चानू ओलिम्पिक में सिल्वर मेडल जीतने वाली की संघर्ष भरी दास्तान

खेल कूद, मनोरंजन, विशेष लेख
उस समय उसकी उम्र 10 साल थी। इम्फाल से 200 किमी दूर नोंगपोक काकचिंग गांव में गरीब परिवार में जन्मी और छह भाई बहनों में सबसे छोटी मीराबाई चानू अपने से चार साल बड़े भाई सैखोम सांतोम्बा मीतेई के साथ पास की पहाड़ी पर लकड़ी बीनने जाती थीं। एक दिन उसका भाई लकड़ी का गठ्ठर नहीं उठा पाया, लेकिन मीरा ने उसे आसानी से उठा लिया और वह उसे लगभग 2 किमी दूर अपने घर तक ले आई। शाम को पड़ोस के घर मीराबाई चानू टीवी देखने गई, तो वहां जंगल से उसके गठ्ठर लाने की चर्चा चल पड़ी। उसकी मां बोली, ''बेटी आज यदि हमारे पास बैल गाड़ी होती तो तूझे गठ्ठर उठाकर न लाना पड़ता।'' ''बैलगाड़ी कितने रूपए की आती है माँं ?'' मीराबाई ने पूछा ''इतने पैसों की जितने हम कभी जिंदगीभर देख न पाएंगे।'' ''मगर क्यों नहीं देख पाएंगे, क्या पैसा कमाया नहीं जा सकता ? कोई तो तरीका होगा बैलगाड़ी खरीदने के लिए पैसा कमाने का ?'' चानू ने ...
93 साल का हुआ आकाशवाणी, प्रधानमंत्री मोदी के मन की बात और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के लोकवाणी से मिली संजीवनी

93 साल का हुआ आकाशवाणी, प्रधानमंत्री मोदी के मन की बात और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के लोकवाणी से मिली संजीवनी

मनोरंजन, राष्ट्रीय, विशेष लेख
आकाशवाणी को 94 साल के उम्रदराज होने की बधाईयां। हिंदुस्तान के आकाश की फ़िजां की हवाएं में घुली मिसरी की डली जैसे मीठी मीठी आवाजों की जादूगरी 23 जुलाई से 1923 से जो शुरू है, इसका तिलस्म आज भी मौजूद है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी की ‘मन की बात’ और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल जी की लोकवाणी कार्यक्रम ने आकाशवाणी की लोकप्रियता को अर्श की उंचाई की तरफ ले जाना भी आकाशवाणी के महत्व और इतिहास को सुनहला बनाये जाने की कवायद एक मिसाल साबित हुई है। आने वाले छः साल में आकाशवाणी के वजूद के 100 साल पूरे होना है। देश के गांव-गांव, देहात-देहात और शहर के मुहल्ले मुहल्ले के अलग अलग लोक भाषा में आकाशवाणी सुननेवालों के अंर्तमन में युवा तरंगे भी हिलोले मारने लगी है। सूबूत है आकाशवाणी की बढ़ती लोकप्रियता और एफ.एम., सामुदायिक रेडियो केन्द्रो की तादाद में इजाफा । बहरहाल आकाशवाणी की बढ़ती कामयाबी...
रायपुर : राज्यपाल ने लघु फिल्म ‘‘भूमका’’ का विमोचन किया :कोरोना टीकाकरण पर बनी है ‘भूमका’

रायपुर : राज्यपाल ने लघु फिल्म ‘‘भूमका’’ का विमोचन किया :कोरोना टीकाकरण पर बनी है ‘भूमका’

मनोरंजन, राष्ट्रीय
राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके नेे आज यहां राजभवन में कोरोना टीकाकरण पर आधारित लघु फिल्म ‘‘भूमका’’ का विमोचन किया और फिल्म के सभी कलाकारों एवं निर्माता श्री संजय भारद्वाज को शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में टीकाकरण पर आधारित लघु फिल्म का निर्माण सराहनीय कार्य है। इसमें सभी पात्रों ने उम्दा अभिनय किया है। साथ ही फिल्मांकन भी बहुत अच्छा किया गया है, जिससे फिल्म में सजीवता आ गई है। इसके माध्यम से आदिवासी समाज में तथा ग्रामीण क्षेत्रों में जागरूकता आएगी और उनके मध्य टीकाकरण को लेकर भ्रम दूर होगा और वे कोरोना का टीका लगाएंगे। राज्यपाल ने कहा कि कोरोना पर विजय प्राप्त करने के लिए टीकाकरण प्रमुख हथियार है। टीका लगवाने के बाद भी आमजन भौतिक दूरी, मास्क लगाना तथा हाथ धोने जैसे नियमों का पालन करते रहें। हम सबके समन्वित प्रयासों से कोरोना से जल्द मुक्ति पाएंगे। श्री संजय भारद्वाज ने बता...
12 जुलाई जन्मदिन : अभिनेत्री सुलक्षणा पंडित रायगढ़ छत्तीसगढ़,  विनय पाठक, शिवा राजकुमार एवं अन्य

12 जुलाई जन्मदिन : अभिनेत्री सुलक्षणा पंडित रायगढ़ छत्तीसगढ़, विनय पाठक, शिवा राजकुमार एवं अन्य

मनोरंजन
रायपुर। आज 12 जुलाई 1954 को अभिनेत्री सुलक्षणा पंडित का जन्म छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिले में हुआ था। वे अभिनय के साथ साथ गायन भी करती है। उन्होंने वर्ष 1970 में जीतेन्द्र, संजीव कुमार, राजेश खन्ना, विनोद खन्ना, शशि कपूर, शत्रुगण सिन्हा की फिल्मो में अभिनय किया है। वर्ष 1975 में "तू ही सागर है तू ही है किनारा" गीत के लिए उन्हें फ़िल्म्फर बेस्ट प्लेबैक सिंगर का अवार्ड भी मिला था। संजीव कुमार जी से उन्हें अथाह प्रेम हो चला था पर संजीव कुमार तो हेमा मालिनी को चाहते थे, अंत उन्होंने कभी विवाह नहीं किया और आज भी मुंबई में रहती है। अन्य जन्मदिन शिवा राजकुमार, कन्नड़ फिल्मो के सुपरस्टार (1961) विनय पाठक, भारतीय कलाकार एवं अभिनेता  (1968, धनबाद)  ...
11 जुलाई जन्मदिन : प्रथम कॉमिडियन एवं गायक टुन टुन, राजनेता सुरेश प्रभु व अन्य

11 जुलाई जन्मदिन : प्रथम कॉमिडियन एवं गायक टुन टुन, राजनेता सुरेश प्रभु व अन्य

मनोरंजन
रायपुर। 11 जुलाई 1923 को श्री उमा देवी खत्री जी का जन्म हुआ वो रुपहले पर्दे पर टुनटुन नाम से विख्यात थी। वे ज्यादातर कॉमेडियन पात्र अभिनीत करती थी और हिंदी सिनेमा जगत की प्रथम कॉमेडियन अभिनेता का दर्जा भी उन्हें प्राप्त है। बहुत कम लोग जानते होंगे की  कॉमिडियन टुन टुन ने सिने जगत की करियर की शुरआत गायक के तौर पर की थी, मात्र 23 वर्ष की उम्र में उन्होंने संगीत निर्माता नौशाद अली का दरवाजा खटखटाया था। उन्होंने ने लोकप्रिय गीत "अफसाना लिख रही हूँ दिल बेकरार का", "ये कौन चला मेरी आँखों में समां कर", "आज मची है धूम झूम ख़ुशी से झूम" गाये है। जब लता मंगेशकर एवं आशा भोसले की गायकी की लोकप्रियता आसमान को छू रही थी तब नौशाद जी ने उमा देवी खत्री को फिल्मो में अभिनय करने का सुझाव दिया। उमा देवी जी दिलीप कुमार की अदाकारी की दीवानी थी व उनके साथ काम करना चाहती थी। नौशाद अली ने दिलीप कुमार को उमा देवी...
10 जुलाई जन्मदिन : लिटिल मास्टर सुनील गावस्कर, राजनाथ सिंह एवं आलोक नाथ

10 जुलाई जन्मदिन : लिटिल मास्टर सुनील गावस्कर, राजनाथ सिंह एवं आलोक नाथ

मनोरंजन, राष्ट्रीय
रायपुर। आज 10 जुलाई 1949 को क्रिकेट जगत के धुआँधार बल्लेबाज़ लिटिल मास्टर सुनील गावस्कर जी का जन्म मुंबई शहर में हुआ था। गावस्कर जी को सदी के महानतम टेस्ट मैच ओपनर बल्लेबाज़ के रूप में दर्जा दिया गया है। उन्होंने ने अपने करियर के दौरान सबसे ज्यादा 34 टेस्ट शतक लगाने का रिकॉर्ड साधा था जिसे बाद में 2005 में सचिन तेंदुलकर ने तोड़ा, वे पहले बल्लेबाज़ थे जिन्होंने 10,000 रन बनाने का विश्व कीर्तिमान बनाया। गावस्कर 1983 विश्व कप विजेता भारतीय टीम के सदस्य भी थे और उन्हें उनकी उपलब्धियों के लिए भारत सरकार ने पद्मा विभूषण पुरुस्कार से सम्मानित किया। अन्य जन्मदिन 1951 श्री राजनाथ सिंह, भारतीय राजनेता, चंदौली 1956 अलोक नाथ, भारतीय सिने कलाकार, मुंबई...
9 जुलाई जन्मदिन : महान अभिनेता गुरुदत्त व संजीव कुमार एवं अन्य भारतीय हस्तियाँ

9 जुलाई जन्मदिन : महान अभिनेता गुरुदत्त व संजीव कुमार एवं अन्य भारतीय हस्तियाँ

मनोरंजन, विशेष लेख
रायपुर। आज 9 जुलाई 1925 भारतीय सिने जगत के महान अभिनेता श्री गुरुदत्त का जन्म बेंगलुरु में हुआ था. उनका असल नाम श्री वसंत कुमार शिवशंकर पादुकोण था। वे सिर्फ अभिनय था सिमित नहीं थे उन्होने डायरेक्शन, निर्माण, लेखन एवं कोरियोग्राफी में भी योगदान दिया था. उनके द्वारा अभिनीत वर्ष 1957 में प्यासा, 1959 कागज़ के फूल, 1960 चौदिनी का चाँद 1962 साहब बीवी और गुलाम भारतीय सिने जगत की महानतम फिल्मो में गिना जाता है। प्यासा को टाइम्स ने विश्व की 100 सर्वश्रेठ फिल्मो की सूची में भी रखा है। दक्षिण भारत से आने वाले गुरुदत्त बचपन में अपने परिवार के साथ कोलकाता बंगाल जा बसे थे वे फराटेदार बंगाली भी बोल जानते थे। उनके द्वारा निर्मित सभी फिल्मे सुपरहिट रही थी और उनके द्वारा अभिनेत संगीत आज भी लोग आनंद लेकर सुनते है। संजीव कुमार 9 जुलाई 1938 को सूरत, गुजरात में जन्म लिए थे, उनका असल नाम श्री हरिहर जेठालाल जर...
7 जुलाई जन्मदिन : क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी, सिख बालगुरु श्री गुरु हरीकिशन जयंती, कैलाश खेर अन्य

7 जुलाई जन्मदिन : क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी, सिख बालगुरु श्री गुरु हरीकिशन जयंती, कैलाश खेर अन्य

खेल कूद, मनोरंजन, राष्ट्रीय, विशेष लेख
रायपुर। 7 जुलाई 1981 को विश्व विख्यात भारतीय क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी का जन्म रांची, झारखंड में हुआ। धोनी विकेट कीपर, दाहिने हाथ के तेज बल्लेबाज़ है, उन्होंने भारतीय क्रिकेट टीम का विश्व कप 2007 (टी-20), विश्व कप 2011 में सफल नेतृत्व किया और टीम इंडिया को विश्व चैंपियन बनाया। महेंद्र सिंह धोनी को उनके खेल जगत में योगदान हेतु भारत सरकार ने पद्म विभूषण, पद्म श्री, राजीव गाँधी खेलरत्न, से सम्मानित किया है। भारतीय सेना की टेरिटोरियल आर्मी में उन्हें लेफ्टिनेंट कर्नल की उपाधि दी है जिसके लिए उन्होंने आधिकारिक ट्रेनिंग भी ली है। सिख समाज के आठवे गुरु श्री हरी किशन जी की जयंती भी आज 7 जुलाई को होती है, इनका जन्म वर्ष 1656 कीरतपुर साहिब में हुआ था। श्री हरी किशन जी ने मात्र 5 वर्ष की उम्र में सिख गुरु बने, वे सबसे युवा एवं बाल गुरु के नाम से भी जाने जाते है। उनका कार्यकाल 2 साल पांच मही...