Saturday, July 24संस्थापक, प्रधान संपादक, स्वामी श्री नवनीत जगतरामका जी
Shadow

Tag: kilosarkar group

विशेष लेख : श्री लक्ष्मणराव काशीनाथ किर्लोस्कर जयंती, कलर ब्लाइंड थे फिर मैकेनिकल इंजीनियर बने, किर्लोस्कर ग्रुप के संस्थापक, 100 वर्षो पहले ही मेक इन इंडिया ला चुके थे

विशेष लेख : श्री लक्ष्मणराव काशीनाथ किर्लोस्कर जयंती, कलर ब्लाइंड थे फिर मैकेनिकल इंजीनियर बने, किर्लोस्कर ग्रुप के संस्थापक, 100 वर्षो पहले ही मेक इन इंडिया ला चुके थे

उद्योग जगत, मनोरंजन, राष्ट्रीय
रायपुर. श्री लक्ष्मणराव काशीनाथ किर्लोस्कर जी का जन्म 20 जून 1869 बेलगाम, तब बंबई में हुआ था। बचपन से इन्हे पेंटिंग का बहुत शौक था, वर्ष 1885 में इन्हे जे जे स्कूल ऑफ़ आर्ट, बॉम्बे में एडमिशन मिला था पर 2 वर्ष बाद वो आंशिक रूप से अंधे हो गए थे. इस वजह से इन्हे कॉलेज से बेदखल कर दिया गया था. श्री किर्लोस्कर जी ने हार नहीं मानी और मैकेनिकल ड्राइंग की पेंटिंग्स बनाना जारी रखा इनमे रंगो को भरने की जरुरत नहीं होती थी, फिर इन्होने मैकेनिकल स्कूल में दाखिला लिया और इनकी मैकेनिकल ड्राइंग की कला और निपुणता को देख कर इन्हे उसी स्कूल में पढ़ाने की नौकरी भी मिल गयी। फिर इन्होने बेलगांव में एक सी छोटी साइकिल की दुकान खोली और फिर यहां से उनका जीवन बदल-सा गया। वे 700 रुपये - 1000 रुपये में साइकिल बेचने लगे व 15 रुपये में सिखाने भी लगे। 19वी सदी में एक साइकिल, मोटर कार के बराबर मानी जाती थी। जिस सड़...