Sunday, September 26संस्थापक, प्रधान संपादक, स्वामी श्री नवनीत जगतरामका जी
Shadow

Tag: covid

डा. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना एवं आयुष्मान योजना के अंतर्गत अब तक 5157 मरीजों का हुआ कोविड से इलाज  

डा. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना एवं आयुष्मान योजना के अंतर्गत अब तक 5157 मरीजों का हुआ कोविड से इलाज  

छत्तीसगढ़ न्यूज़
डाॅ खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना एवं आयुष्मान योजना के अन्तर्गत अब तक प्रदेश के शासकीय एवं पंजीकृत निजी अस्पतालों में कोविड संक्रमण से पीड़ित 5 हजार 157 मरीजों का इलाज किया गया है। राज्य शासन ने उक्त दोनों योजनाओं के हितग्राहियों के लिए अस्पताल में उपलब्ध कुल बिस्तरों में से 20 प्रतिशत बिस्तर आरक्षित करने के निर्देश दिए है। शासकीय एवं पंजीकृत निजी अस्पतालों में योजना अन्तर्गत कोविड.19 के उपचार हेतु दरें जनरल वार्ड हेतु प्रतिदिन 2 हजारए एचडीयू आक्सीजन हेतु प्रतिदिन 5 हजार 5 सौ आईसीयू;बिना वेन्टीलेटर प्रतिदिन 7 हजार व आई सीयू;वेन्टीलेटर के साथ प्रतिदिन 9 हजार शासन द्वारा निर्धारित की गई हैं। योजना के अंतर्गत 3 हजार 978 मरीजों का शासकीय चिकित्सालयों में एवं 1179 मरीजों का निजी चिकित्सालयों में इलाज किया गया है। इस तरह रायपुर जिले 862 बलौदाबाजार जिले 545 दुर्ग जिले 379ए रायगढ़ जिले 361ज...
डा. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना एवं आयुष्मान योजना के अंतर्गत अब तक 5157 मरीजों का हुआ कोविड से इलाज  

डा. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना एवं आयुष्मान योजना के अंतर्गत अब तक 5157 मरीजों का हुआ कोविड से इलाज  

छत्तीसगढ़ न्यूज़
डाॅ खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना एवं आयुष्मान योजना के अन्तर्गत अब तक प्रदेश के शासकीय एवं पंजीकृत निजी अस्पतालों में कोविड संक्रमण से पीड़ित 5 हजार 157 मरीजों का इलाज किया गया है। राज्य शासन ने उक्त दोनों योजनाओं के हितग्राहियों के लिए अस्पताल में उपलब्ध कुल बिस्तरों में से 20 प्रतिशत बिस्तर आरक्षित करने के निर्देश दिए है। शासकीय एवं पंजीकृत निजी अस्पतालों में योजना अन्तर्गत कोविड.19 के उपचार हेतु दरें जनरल वार्ड हेतु प्रतिदिन 2 हजारए एचडीयू आक्सीजन हेतु प्रतिदिन 5 हजार 5 सौ आईसीयू;बिना वेन्टीलेटर प्रतिदिन 7 हजार व आई सीयू;वेन्टीलेटर के साथ प्रतिदिन 9 हजार शासन द्वारा निर्धारित की गई हैं। योजना के अंतर्गत 3 हजार 978 मरीजों का शासकीय चिकित्सालयों में एवं 1179 मरीजों का निजी चिकित्सालयों में इलाज किया गया है। इस तरह रायपुर जिले 862 बलौदाबाजार जिले 545 दुर्ग जिले 379ए रायगढ़ जिले 361ज...
सीटी स्कोर 25 में पूरे 25 होने के बाद भी 12 दिन में पूरी तरह स्वस्थ :  62 वर्षीय बुजुर्ग बीपी की मरीज तीजन बाई तिरंगे को मिली संजीवनी

सीटी स्कोर 25 में पूरे 25 होने के बाद भी 12 दिन में पूरी तरह स्वस्थ :  62 वर्षीय बुजुर्ग बीपी की मरीज तीजन बाई तिरंगे को मिली संजीवनी

छत्तीसगढ़ न्यूज़
दुर्ग जिले के धमधा की 62 वर्ष की तीजन बाई तिरंगे की कहानी कोविड संक्रमण से रिकवरी की प्रेरक कहानी है। तीजन बाई का सीटी स्कोर 25 में 25 आ गया था। इनका आक्सीजन लेवल 60 तक उतर गया था। प्राइवेट हॉस्पिटल में जगह नही मिली तो धमधा कोविड केअर सेंटर लेकर आये। धमधा कोविड केयर सेंटर के चिकित्सकों ने शंकराचार्य हास्पिटल में रिफर करने का निर्णय किया। पेशेंट और घर वाले पुनः बाहर नहीं जाना चाहते थे। काफी विरोध के चलते उन्हें ले जाना संभव नहीं हो पाया क्योंकि इस बात की आशंका थी कि वहाँ भी मरीज इस स्थिति में बिल्कुल भी हास्पिटल स्टाफ से सहयोग न करें। ऐसे में इन्हें धमधा कोविड केयर सेंटर में ही रखने का फैसला किया। इलाज आरंभ हो गया, धमधा कोविड सेंटर के  चिकित्सकों में बीएमओ डॉ. डीपी ठाकुर, डॉ. शशिप्रभा मैत्री और डॉ. जयश्री नागरे ने कोविड प्रोटोकाल के मुताबिक मेडिसीन प्लान की और इलाज आरंभ कर दिया। वे हायर सें...
सीटी स्कोर 25 में पूरे 25 होने के बाद भी 12 दिन में पूरी तरह स्वस्थ :  62 वर्षीय बुजुर्ग बीपी की मरीज तीजन बाई तिरंगे को मिली संजीवनी

सीटी स्कोर 25 में पूरे 25 होने के बाद भी 12 दिन में पूरी तरह स्वस्थ :  62 वर्षीय बुजुर्ग बीपी की मरीज तीजन बाई तिरंगे को मिली संजीवनी

छत्तीसगढ़ न्यूज़
दुर्ग जिले के धमधा की 62 वर्ष की तीजन बाई तिरंगे की कहानी कोविड संक्रमण से रिकवरी की प्रेरक कहानी है। तीजन बाई का सीटी स्कोर 25 में 25 आ गया था। इनका आक्सीजन लेवल 60 तक उतर गया था। प्राइवेट हॉस्पिटल में जगह नही मिली तो धमधा कोविड केअर सेंटर लेकर आये। धमधा कोविड केयर सेंटर के चिकित्सकों ने शंकराचार्य हास्पिटल में रिफर करने का निर्णय किया। पेशेंट और घर वाले पुनः बाहर नहीं जाना चाहते थे। काफी विरोध के चलते उन्हें ले जाना संभव नहीं हो पाया क्योंकि इस बात की आशंका थी कि वहाँ भी मरीज इस स्थिति में बिल्कुल भी हास्पिटल स्टाफ से सहयोग न करें। ऐसे में इन्हें धमधा कोविड केयर सेंटर में ही रखने का फैसला किया। इलाज आरंभ हो गया, धमधा कोविड सेंटर के  चिकित्सकों में बीएमओ डॉ. डीपी ठाकुर, डॉ. शशिप्रभा मैत्री और डॉ. जयश्री नागरे ने कोविड प्रोटोकाल के मुताबिक मेडिसीन प्लान की और इलाज आरंभ कर दिया। वे हायर सें...