Saturday, November 27संस्थापक, प्रधान संपादक, स्वामी श्री नवनीत जगतरामका जी
Shadow

Tag: coronavirus

बलौदाबाजार : वैक्सीनेशन से कोई खतरा नहीं ,यह पूरी तरह सुरक्षित, जिले में कोरोना से अब तक 509 की मृत्यु , 508 बिना वैक्सीनेशन के

बलौदाबाजार : वैक्सीनेशन से कोई खतरा नहीं ,यह पूरी तरह सुरक्षित, जिले में कोरोना से अब तक 509 की मृत्यु , 508 बिना वैक्सीनेशन के

बलौदा बाजार
बलौदाबाजार, कोरोना वैक्सीन से किसी प्रकार का कोई खतरा नहीं है, बल्कि इसके माध्यम से शरीर स्वयं ही अपने भीतर कोरोना के खिलाफ एक रक्षा तंत्र विकसित कर लेता है I कोरोना की तीसरी लहर की आशंका में यह वैक्सीनेशन बचाव का आसान, सुलभ और सुरक्षित तरीका साबित होगा I मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ खेमराज सोनवानी ने आम जन के मन में वैक्सीन को लेकर चल कई प्रकार की भ्रांतियों का निराकरण करते हुए बताया की वैक्सीन लगने के बाद किसी-किसी को हल्का बुखार या बदन में दर्द ,थकान , सर दर्द एक सामान्य बात है। इसमें घबराने की आवश्यकता नहीं है I इसके उपचार के लिए टीके लगवाने के साथ ही दवाई दी जाती है। सीएमएचओ ने बताया कि कई लोग इस भ्रान्ति में हैं कि कोरोना वैक्सीन से स्त्री पुरुष में बाँझपन या नपुंसकता आती है जो पूरी तरह से गलत है I अभी तक जिले में कोई ऐसा मामला नहीं है। जिसमें वैक्सीन लगने के बाद किस...
बलौदाबाजार : कोरोना से जान गंवाने वाले व्यक्ति के आश्रितों को स्वरोजगार के लिए मिलेगा आसान ऋण अंत्यावसायी समिति द्धारा 24 जून तक आवेदन आमंत्रित

बलौदाबाजार : कोरोना से जान गंवाने वाले व्यक्ति के आश्रितों को स्वरोजगार के लिए मिलेगा आसान ऋण अंत्यावसायी समिति द्धारा 24 जून तक आवेदन आमंत्रित

बलौदा बाजार
बलौदाबाजार, जिला अंत्यावसायी सहकारी विकास समिति द्वारा ऐसे परिवार जिन्होने कोविड-19 महामारी से परिवार के मुखिया की मृत्यु होने के कारण जीवनयापन हेतु कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है। उनको आर्थिक सहायता प्रदान करने हेतु राष्ट्रीय अनुसूचित जाति एवं पिछड़ा वर्ग वित्त एवं विकास निगम के द्वारा आशा और स्माईल के नाम से योजना प्रारंभ किया जा रहा है। इसके लिए अनुसूचित जाति एवं पिछड़ा वर्ग समूह के कोविड-19 से मृत्यु होने वाले मृतको के परिवार के लोगो से आवेदन 24 जून तक आमंत्रित किया गया है। अंत्यावसायी सहकारी विकास समिति के सीईओ श्री मनहरण कोसले ने बताया कि परिवार का मुखिया जो परिवार का पालन पोषण करता था, कि मृत्यु करोना से हो गई है, तो उनके तुरंत बाद उस परिवार का पालन पोषण करने वाले व्यक्ति के लिये ऋण उपलब्ध कराया जाना है। योजना अंतर्गत व्यवसाय प्रारंभ करने के लिए अधिकतम 5लाख रूपये तक ऋण दिया जाएगा, ...
रायपुर : राज्य योजना आयोग द्वारा ’स्वास्थ्य, पोषण एवं खाद्य सुरक्षा’ पर गठित टॉस्क फोर्स की बैठक में सदस्यों ने दिए महत्वपूर्ण सुझाव

रायपुर : राज्य योजना आयोग द्वारा ’स्वास्थ्य, पोषण एवं खाद्य सुरक्षा’ पर गठित टॉस्क फोर्स की बैठक में सदस्यों ने दिए महत्वपूर्ण सुझाव

रायपुर, राष्ट्रीय
स्वास्थ्य, पोषण एवं खाद्य सुरक्षा के संबंध में राज्य योजना आयोग को सुझाव देने के लिए गठित टॉस्क फोर्स की बैठक में सदस्यों ने महत्वपूर्ण सुझाव दिए। योजना भवन नवा रायपुर में आज आयोजित बैठक में टॉस्क फोर्स के अध्यक्ष एवं मुख्यमंत्री के सलाहकार श्री राजेश तिवारी ने कहा कि राज्य योजना आयोग द्वारा राज्य सरकार की कल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन में व्यवहारिक सुझाव एवं अनुशंसाएं प्रदान करने 14 टॉस्क फोर्स गठित किए गए है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य, पोषण एवं खाद्य सुरक्षा संबंधित विषय पर सुझाव देने के लिए प्रदेश एवं देश के लब्ध प्रतिष्ठित विषय विशेषज्ञों, सामाज सेवियों, जनप्रतिनिधियों एवं विभागीय अधिकारियों को शामिल किया गया है। श्री राजेश तिवारी ने स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता और सुपोषण के लिए स्थानीय स्तर पर उपलब्ध पोषक सामग्री का अधिकाधिक उपयोग तथा प्राथमिक स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर करने में ...
रायपुर : अब तक 9 वर्चुअल कार्यक्रमों में मुख्यमंत्री ने 18 जिलों को दी 5 हजार 220 करोड़ रुपए की सौगात

रायपुर : अब तक 9 वर्चुअल कार्यक्रमों में मुख्यमंत्री ने 18 जिलों को दी 5 हजार 220 करोड़ रुपए की सौगात

रायपुर, राष्ट्रीय
रायपुर। कोरोना की दूसरी लहर की रफ्तार धीमी पड़ने के साथ ही छत्तीसगढ़ में विकास-कार्यों में तेजी आ गई है। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल हर रोज वर्चुअल-कार्यक्रम के माध्यम से विभिन्न जिलों में नये विकास कार्यों का भूमिपूजन और लोकार्पण कर रहे हैं। अब तक 9 वर्चुअल कार्यक्रमों के माध्यम से वे 18 जिलों में 5 हजार 220 करोड़ रुपए से अधिक के विकास कार्यों की सौगात दे चुके हैं। कल 18 जून को श्री बघेल कोरबा जिले में 111 करोड़ रुपए और जांजगीर जिले में 122 करोड़ 96 लाख रुपए का लोकार्पण और भूमिपूजन करेंगे। इन वर्चुअल कार्यक्रमों में श्री बघेल महत्वपूर्ण कार्यों की घोषणाएं करने के साथ-साथ स्वीकृतियां भी दे रहे हैं। 18 जून को कोरबा और जांजगीर जिले में नये विकास-कार्यों का लोकार्पण और भूमिपूजन वर्चुअल भूमिपूजन और लोकार्पण कार्यक्रमों की शुरुआत 08 जून 2021 से हुई। पहले दिन मुख्यमंत्री श्री बघेल ने बालोद जिले...
कोविड की संभावित तीसरी लहर से पहले छत्तीसगढ़ ने कसी कमर : गांवों से लेकर शहरों तक मजबूत होंगे सरकारी अस्पताल

कोविड की संभावित तीसरी लहर से पहले छत्तीसगढ़ ने कसी कमर : गांवों से लेकर शहरों तक मजबूत होंगे सरकारी अस्पताल

छत्तीसगढ़ न्यूज़, राष्ट्रीय
कोविड की संभावित तीसरी लहर से पहले छत्तीसगढ़ ने गांवों से लेकर शहरों तक सरकारी अस्पतालों को मज़बूत बनाने और उन्हें समस्त सुविधाओं से युक्त करने के लिए कमर कस ली है । मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कहा है कि स्वास्थ्य अधोसरंचना को सशक्त बनाने और छत्तीसगढ़ के दूरदराज के इलाक़ों तक सर्वसुविधायुक्त उपचार व्यवस्था बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी जायेगी। कोरोना की दूसरी लहर के दौरान हुए अनुभवों को देखते हुए छत्तीसगढ़ शासन ने गांवों से लेकर जिला मुख्यालयों तक सरकारी अस्पतालों में व्यवस्थाओं को मजबूत करने का काम शुरु कर दिया है।मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने प्रदेश के सभी जिला चिकित्सालयों एवं विकासखण्ड स्तरीय अस्पतालों को सर्वसुविधायुक्त बनाने के लिए जिला कलेक्टरों को 15 दिनों में कार्य-योजना   संपन्न बनाया तैयार कर प्रस्तुत करने को कहा है। श्री बघेल ने कहा है कि स्वास्थ्य अधोसंरचना को मजबूती देने ...
बलौदाबाजार : संक्रमित 13 वर्षीय तौफीक ने दी कोरोना को 14 दिनों में मात

बलौदाबाजार : संक्रमित 13 वर्षीय तौफीक ने दी कोरोना को 14 दिनों में मात

बलौदा बाजार
बलौदाबाजार, सिमगा विकासखण्ड के अंतर्गत ग्राम सुहेला निवासी 13 वर्षीय तौफ़ीक़ अंसारी ने कोरोना को मात देतें हुए उन्हें आज डेडिकेटेड कोविड हॉस्पिटल से 14 दिनों बाद डिस्चार्ज किया गया। तौफ़ीक़ को 30 मई को कोरोना के प्रारंभिक लक्षण  बुखार,खांसी तथा सांस लेने में तकलीफ होने पर उनके परिवार वालो ने तत्काल कोविड एंटीजन टेस्ट कराया। जिसमें रिपोर्ट पॉजिटिव आया। परिवार जनों ने तत्काल उन्हें डेडिकेटेड कोविड हॉस्पिटल बालौदा बाजार में भर्ती किया। कोविड अस्पताल में डॉ शैलेंद्र साहू की टीम द्वारा पूरी मेहनत के साथ उनका उपचार किया गया। डॉ शैलेन्द्र ने बताया कि भर्ती होने के दिन उसका  ऑक्सीजन सेचुरेशन भर्ती के समय 65 प्रतिशत था। जो की गम्भीर श्रेणी में आता है। उसे विशेष मास्क एनआरबीएम के द्वारा आक्सीजन दी गई। इसके साथ ही डॉक्टरों की सतत निगरानी में अन्य मरीज़ो से आइसोलेशन कर उपचार की व्यवस्था किया गया ताकि अध...
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल : कोरोना संकट काल में भी राज्य सरकार की योजनाओं से छत्तीसगढ़ की अर्थव्यवस्था रही मजबूत

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल : कोरोना संकट काल में भी राज्य सरकार की योजनाओं से छत्तीसगढ़ की अर्थव्यवस्था रही मजबूत

रायपुर, राष्ट्रीय
मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कहा है कि कोरोना संकट ने पूरे देश की अर्थव्यवस्था को प्रभावित किया है, लेकिन पूरे कोरोना काल में छत्तीसगढ़ में न तो रोजगार की कमी हुई और न रोटी की। राज्य सरकार की योजनाओं से इस चुनौती पूर्ण समय में भी छत्तीसगढ़ की अर्थव्यवस्था मजबूत और गतिशील रही। प्रदेश में किसानों और वनवासियों के कल्याण के लिए प्राथमिकता से कार्य किए जा रहे हैं। राजीव गांधी किसान न्याय योजना, सुराजी गांव योजना, गोधन न्याय जैसी योजना शुरू की गई है। इन योजनाओं के माध्यम से किसानों, महिलाओं और ग्रामीणों को गांवों में ही रोजगार मिल रहा है। मुख्यमंत्री श्री बघेल आज अपने निवास कार्यालय में आयोजित वर्चुअल कार्यक्रम में रायगढ़ और जशपुर जिले में करीब 592 करोड़ रूपए की लागत के विभिन्न निर्माण कार्यों का लोकार्पण और भूमिपूजन करने के बाद कार्यक्रम को सम्बोधित कर रहे थे। इनमें रायगढ़ जिले के 308 करोड़ 31 ल...
मुख्यमंत्री ने की बड़ी घोषणा : निजी स्कूलों के बच्चों को भी महतारी दुलार योजना का मिलेगा लाभ

मुख्यमंत्री ने की बड़ी घोषणा : निजी स्कूलों के बच्चों को भी महतारी दुलार योजना का मिलेगा लाभ

छत्तीसगढ़ न्यूज़
मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने आज एक बड़ी घोषणा करते हुए कहा है कि कोरोना महामारी से अपने माता-पिता या अभिभावक को खो चुके बच्चे जो निजी स्कूल में पढ़ रहे उनकी पढ़ाई का खर्च भी छत्तीसगढ़ सरकार उठाएगी। ऐसे बच्चों को राज्य सरकार द्वारा प्रारंभ की गई महतारी दुलार योजना का लाभ मिलेगा। प्राइवेट स्कूलों में पिछले एक साल से पढ़ रहे ऐसे बच्चे उसी निजी स्कूल में या स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल में अपनी इच्छानुसार पढ़ सकेंगे। राज्य सरकार द्वारा उनके स्कूल की फीस का वहन किया जाएगा। गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा कोरोना महामारी से मृत व्यक्तियों अथवा पालको  के ऐसे बच्चे जो शासकीय स्कूलों में अध्ययनरत थे उन्हें निशुल्क शिक्षा और मासिक छात्रवृत्ति देने के लिए महतारी दुलार योजना प्रारंभ की गई है। मुख्यमंत्री की इस घोषणा के बाद अब शासकीय स्कूलों के साथ-साथ प्राइवेट स्कूलों में पढ़ रहे ऐसे बच्चे जिन...
रायपुर : किसानों के विकास के लिए मील का पत्थर है ’राजीव गांधी किसान न्याय योजना : मुख्यमंत्री श्री बघेल

रायपुर : किसानों के विकास के लिए मील का पत्थर है ’राजीव गांधी किसान न्याय योजना : मुख्यमंत्री श्री बघेल

रायपुर
मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने आकाशवाणी से  प्रत्येक माह प्रसारित होने वाली ’लोकवाणी’ की 18वीं कड़ी में बातचीत की शुरूआत जय जोहार के अभिवादन के साथ करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ किसानों का, खेती-किसानी का राज्य है। हमारा मानना है कि किसान खुशहाल होगा, तभी प्रदेश खुशहाल होगा। विकास की इसी दूरगामी सोच के साथ हमने छत्तीसगढ़ में 21 मई 2020 को ’राजीव गांधी किसान न्याय योजना’ की शुरूआत की है। यह योजना हमारी सरकार की कृषक हितैषी सोच को साफ-साफ दर्शाती है। इससे छत्तीसगढ़ में किसानों की आय बढ़ेगी और वे आर्थिक रूप से सक्षम बनेंगे।उन्होंने कहा कि यह योजना छत्तीसगढ़ के किसानों के विकास के लिए मील का पत्थर साबित होगी। राजीव गांधी किसान न्याय योजना-2020 में साल भर के भीतर 18.45 लाख किसानों को चार किस्तों में 5 हजार 628 करोड़ रूपए की पूरी राशि का भुगतान मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कहा कि हमने छत्तीसगढ़ में 21 ...
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल : फ्री वैक्सीनेशन की घोषणा देरी से लिया गया निर्णय, वैक्सीन की निरंतर आपूर्ति ही सबसे बड़ी चुनौती

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल : फ्री वैक्सीनेशन की घोषणा देरी से लिया गया निर्णय, वैक्सीन की निरंतर आपूर्ति ही सबसे बड़ी चुनौती

छत्तीसगढ़ न्यूज़, रायपुर
छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कहा है कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की फ्री वैक्सीनेशन की घोषणा देरी से लिया गया निर्णय है। उन्होंने कहा कि वैक्सीन की निरंतर आपूर्ति केन्द्र सरकार कैसे करेगी, यही सबसे बड़ी चुनौती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने छत्तीसगढ़ विधानसभा में बजट सत्र में ही यह घोषणा कर दी थी कि छत्तीसगढ़ में हम हर व्यक्ति का फ्री वैक्सीनेशन करेंगे। केन्द्र सरकार ने स्वास्थ्य कार्यकर्ता, फ्रंटलाईन वर्कर और 45 वर्ष के अधिक आयु के लिए तो फ्री वैक्सीनेशन की व्यवस्था की लेकिन जब 18 से 44 आयु वर्ग की बात आयी तो उन्होंने यह राज्यों के ऊपर छोड़ दिया, तब भी सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने प्रधानमंत्री से फ्री वैक्सीनेशन की मांग की थी, लेकिन उन्होंने सुना नहीं। बाद में राज्यों ने अपने खजाने से वैक्सीनेशन की व्यवस्था की। मुख्यमंत्री ने कहा कि मुख्य समस्या वैक्सीन की पूर्ति...