सुकमा नक्सल मुठभेड़: 17 जवानों के शव मिलने के बाद सीएम भूपेश बघेल ने बुलाई आपात बैठक

रायपुर. छत्तीसगढ़ के सुकमा में नक्सलियों  ने बीते 15 महीने में हिंसा की सबसे बड़ी वारदात  को अंजाम दिया है. नक्सलियों ने सुरक्षा बल के 17 जवानों की हत्या कर दी है. जवानों के शव बरामद होने के बाद सीएम भूपेश बघेल ने आपात बैठक बुलाई है. पुलिस की रणनीति और आगे की कारवाई को लेकर बैठक में चर्चा हो रही है. छत्तीसगढ़ गृह विभाग के मुखिया सुब्रत साहू भी बैठक में मौजूद हैं. खुफिया विभाग के अधिकारियों को भी तलब किया गया है. पुलिस मुख्यालय के अधिकारियों की मौजूदगी में सीएम भूपेश बैठक ले रहे हैं. बताया जा रहा है कि बैठक में मुख्यमंत्री ने नाराजगी जताई है.

सुकमा के चिंतागुफा थाना क्षेत्र के कसालपाड़ और मिनपा के बीच बीते शनिवार को नक्सलियों और एसटीएफ व डीआरजी की संयुक्त टीम के साथ मुठभेड़ हुई थी. मुठभेड़ में 15 जवान घायल हो गए थे. जबकि 17 जवान लापता थे. लापता एसटीएफ के 12 व डीआरजी के 5 जवानों का शव रविवार को बरामद किया गया. नक्सलियों ने जवानों की हत्या के बाद उनके एके 47 व दूसरे हथियार भी लूट लिए हैं. बताया जा रहा है कि डीआरजी और एसटीएफ के जवानों को पहली बार इतना बड़ा नुकसान हुआ है. सीएम भूपेश बघेल ने इसको लेकर एक ट्वीट में लिखा है :-

यह वक्त बहुत ही नाज़ुक है

हम पर हमले दर हमले है

दुश्मन का दर्द यही तो है

हम हर हमले पर सम्भले है

वीर जवानो के शहादत को नमन।