कोरोना वायरस से निपटने के लिए सुरक्षा के साथ साथ मास्क सिलने में जुटे RPF जवान

कल्याण की आरपीएफ इकाई की मास्क बनाने की ये पहल उन कर्मचारियों के लिए हैं जो लोगों की सुरक्षा के लिए दिन रात काम कर रहे हैं. इनके बनाए मास्क मदद रेलवे स्टेशन, यार्ड, वर्कशॉप और उत्पादन इकाइयों में ड्यूटी में लगे कर्मचारियों तक पहुंच रहे हैं.

मुम्बई: COVID19 के मद्देनजर लॉकडाउन अवधि के दौरान, रेलवे कर्मचारी आवश्यक वस्तुओं के परिवहन में चौबीसों घंटे काम कर रहे हैं. मध्य रेल पर परिसंपत्तियों की सुरक्षा का काम रेलवे सुरक्षा बल करता है. सुरक्षा के अलावा, वे अन्य गतिविधियां कर रहे हैं जो संगठन के मानवीय पक्ष को दिखाता है

 

कल्याण की आरपीएफ इकाई की आरपीएफ कर्मियों की एक टीम द्वारा लगभग 2000 मास्क तैयार किये जा रहे हैं, जो न केवल ड्यूटी पर तैनात आरपीएफ कर्मियों के लिए बल्कि रेलवे स्टेशन, यार्ड, वर्कशॉप और उत्पादन इकाइयों में ड्यूटी करने में लगे कर्मचारियों एवं जरूरतमंदों को स्वच्छ मास्क की दैनिक आपूर्ति सुनिश्चित करती है

आरपीएफ मुंबई ने अपनी पहल पर मुंबई मंडल के 13 स्थानों पर 200 से अधिक जरूरतमंदों और निराश्रितों को भोजन प्रदान किया है

RPF कर्मी एहतियात के तौर पर COVID19 के संभावित मामलों की पहचान करने के लिए रेलवे आपातकालीन कर्मचारियों की थर्मल स्क्रीनिंग में लगे हुए हैं. वे पूरी सतर्कता के साथ मुंबई मंडल के 30 स्थानों पर 247 रेक और 65 लोकोमोटिव इंजनों के लिए गार्ड भी खड़े हैं

रेलवे स्टेशन जो परिचालन और वाणिज्यिक कार्यों के लिए बंद हैं और जिन स्टेशनों को मालगाड़ियों को चलाने के लिए खुला रखा गया है, वे भी आरपीएफ कर्मचारियों द्वारा संरक्षित हैं.नियंत्रण कक्ष के कर्मचारियों को परिवहन करने के लिए, आरपीएफ ने रेलवे के अस्पतालों की सुरक्षा के साथ-साथ प्रभावी कार्य के लिए लगभग 17 वाहनों की व्यवस्था की है