रायपुर : सरगुजा ने स्वच्छता और नवाचार से छत्तीसगढ़ को गौरवान्वित किया है: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने आज अपने निवास कार्यालय वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सरगुजा जिले को 154 करोड़ 63 लाख रूपए के विकास एवं निर्माण कार्याें की सौगात दी। मुख्यमंत्री ने कहा है कि सरगुजा ने स्वच्छता एवं नवाचार के क्षेत्र में सराहनीय कार्य किया है। सरगुजावासियों ने अपने उल्लेखनीय कार्याें से छत्तीसगढ़ को गौरवान्वित किया है। स्वच्छता के क्षेत्र में सरगुजा जिले के कार्याें की सराहना करते हुए इसके लिए सरगुजा प्रशासन, नगर निगम तथा पार्षदों और सरगुजावासियों को बधाई और शुभकामनाएं दी। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर सरगुजा जिले में 2 पुल एवं 4 ग्रामीण सड़कों के निर्माण की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर उत्कृष्ट कार्य के लिए बैंक सखी को भी प्रमाण पत्र प्रदान कर सम्मानित किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता सरगुजा जिले के प्रभारी मंत्री एवं नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिव कुमार डहरिया ने की। कार्यक्रम में पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री टी.एस. सिंह देव, स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम, खाद्य मंत्री श्री अमरजीत भगत भी ऑनलाइन शामिल हुए।
मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने सरगुजा जिले के विकास की रफ्तार को तेज करने का संकल्प दोहराते हुए कहा कि शिक्षा, स्वास्थ्य, स्वच्छता और रोजगार को बढ़ावा देने के लिए प्रदेश सरकार प्रयासरत है। उन्होंने सरगुजा जिला प्रशासन एवं नगर निगम प्रशासन की प्राथमिकता वाली योजनाओं के क्रियान्वयन में और तेजी लाने की बात कही। उन्होंने कहा मैनपाट में कालीन बुनाई की शुरूआत कर स्थानीय लोगों को रोजगार मुहैया कराने के प्रयासों की सराहना की। मुख्यमंत्री ने कहा कि यहां कालीन का व्यावसायिक उत्पादन हो और यहां की कालीन देश-विदेश में बिके, इसके लिए प्रयास किया जाना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ देश का ऐसा पहला राज्य है जहां बिजली से संबंधित 90 प्रतिशत से अधिक सुविधाओं का लाभ उपभोक्ता घर बैठे मोर बिजली एप के माध्यम से उठा सकता है। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर खाद्य मंत्री श्री अमरजीत भगत तथा लुण्ड्रा विधायक डॉ. प्रीतम राम के आग्रह पर मुख्यमंत्री की घोषणा मैनपाट विकसखण्ड में सुपलगा में मछली नदी पर पुल निर्माण,  पेंट से पीडिया तक सड़क, करदना से कदनई मार्ग में घुनघुट्टा नदी में पुल निर्माण, लुण्ड्रा विकसखण्ड के धौरपुर-डूमरडीह रोड़ का चौड़ीकरण, रघुनाथपुर -धौरपुर सड़क मरम्मत कार्य, करौली से पडौली तक सड़क मरम्मत कराए जाने की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर अंत्यावसायी वित्त विकास निगम के अंतर्गत हितग्राही महेन्द्र तिर्की को मिनी ट्रक तथा कैलाश राम को ट्रेक्टर की चाबी भेंट करते हुए उन्हें बधाई और शुभकामनाएं दी।

कार्यक्रम को प्रभारी मंत्री डॉ. शिव कुमार डहरिया एवं स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने संबोधित करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की अगुवाई में छत्तीसगढ़ राज्य तेजी से विकास की ओर अग्रसर है। समाज के प्रत्येक वर्ग की भलाई के लिए सरकार काम कर रही है। गोधन न्याय योजना, राजीव गांधी किसान न्याया योजना और सुराजी गांव योजना के माध्यम से गांव और ग्रामीणों की स्थिति बेहतर हो रही है। ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार के नए अवसर सृजित हुए हैं। खाद्य मंत्री श्री अमरजीत भगत ने कहा कि विपरीत परिस्थितियों और कोरोना संकट काल में भी मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने अपनी नीतियों और कार्यक्रमों से छत्तीसगढ़ की अर्थव्यवस्था को गति दी है। छत्तीसगढ़ के किसानों को आगे बढ़ाने का काम किया है। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार के काम-काज को सर्वत्र सराहा जा रहा है। उन्होंने राज्य सरकार द्वारा नागरिकों को स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराने के लिए संचालित शहरी स्वास्थ्य स्लम योजना, मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लिनिक योजना तथा छत्तीसगढ़ में कुपोषण मुक्ति के लिए संचालित मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान की सराहना की और कहा कि छत्तीसगढ़ में बीते एक सालों में कुपोषण के दर में 13 प्रतिशत की कमी आई है। यह राज्य के लिए गौरव की बात है।
कार्यक्रम में छत्तीसगढ़ राज्य वन औषधि पादप विकास बोर्ड के अध्यक्ष श्री बालकृष्ण पाठक, श्रम कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष श्री शफी अहमद, बीस सूत्रीय कार्यक्रम कार्यान्वयन समिति के उपाध्यक्ष श्री अजय अग्रवाल, छत्तीसगढ़ खाद्य आयोग के अध्यक्ष श्री गुरूप्रीत सिंह बाबरा, महापौर डॉ. अजय तिर्की, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती मधु सिंह एवं उपाध्यक्ष श्री राकेश गुप्ता सहित अन्य जनप्रतिनिधि एवं गणमान्य नागरिक उपस्थित थेे।