रायपुर : वन्य प्राणियों का शिकार के मामले में पांच आरोपियों को जेल, बंदूक सहित दो बाईक भी जब्त

बिलासपुर वनमंडल के वन परिक्षेत्र बिटकुला के अंतर्गत दो वन्यप्राणियों सियार (जेकाल) के अवैध शिकार के मामले में गिरफ्तार पांच आरोपियों मगती, राजू, संदीप, महताब तथा मनीष शिकारी को जेल भेज दिया गया है। सियार का शिकार करते मौके पर पकड़ाए उक्त पांचों आरोपियों के पास से दो नग बाईक सहित एक नग भरमार बंदूक भी जब्त की गई है। जेल भेजे गए सभी आरोपी सीपत के पास स्थित ग्राम मटियारी के रहने वाले है।

अपर प्रधान मुख्य वनसंरक्षक (वन्यप्राणी) श्री अरूण पाण्डेय ने बताया कि गत दिवस 17 सितंबर की रात्रि वनमंडलाधिकारी बिलासपुर श्री कुमार निशांत को मुखबिर से को सूचना मिली कि वन परिक्षेत्र बिटकुला के अंतगर्त वन्यप्राणी के शिकार होने की आशंका है। सूचना के तुरंत बाद वनमंडलाधिकारी श्री निशांत के मार्गदर्शन में सोंठी वन परिक्षेत्र के सहायक वनपरिक्षेत्राधिकारी श्री नमित तिवारी नेतृत्व में वन विभाग के कर्मियों की टीम द्वारा तत्काल मौके पर घेराबंदी कर पांच आरोपियों को दो वन्यप्राणी सियार का शिकार करते पकड़ा गया। इन आरोपियों के पास से एक नग भरमार बंदूक, बारूद, छर्रा और 2 नग बाईक भी जब्त किए गए। इनके विरुद्ध वन्यप्राणी संरक्षण अधिनियम के तहत वन अपराध प्रकरण पंजीबद्ध कर जेल भेजने की कार्रवाई की गई। यह उल्लेखनीय है कि वन मंत्री श्री मोहम्मद अकबर के निर्देशानुसार राज्य में वन विभाग द्वारा वन्यप्राणियों के अवैध शिकार की रोकथाम सहित वनों की सुरक्षा के लिए अभियान लगातार चलाया जा रहा है। वन विभाग द्वारा वन अपराधियों के विरूद्ध राज्य में लगातार हो रही कार्रवाई से भय व्याप्त है।