Friday, September 17संस्थापक, प्रधान संपादक, स्वामी श्री नवनीत जगतरामका जी
Shadow

politics

रायपुर : तीन जनसूचना अधिकारी पर समय से जानकारी ना देने पर दो लाख 78 हजार रूपए का अर्थ दण्ड अधिरोपित

रायपुर : तीन जनसूचना अधिकारी पर समय से जानकारी ना देने पर दो लाख 78 हजार रूपए का अर्थ दण्ड अधिरोपित

chhattisgarh, politics
छत्तीसगढ़ राज्य सूचना आयोग के मुख्य सूचना आयुक्त श्री एम0 के0 राउत ने बड़ी कार्रवाई करते हुए सूचना का अधिकार अधिनियम का समय पर पालन नहीं करने और समय पर आवेदक को जानकारी उपलब्ध नहीं कराने के कारण तत्कालीन जनसूचना अधिकारी (श्री अजय वस्त्रकार) ग्राम पंचायत उसलापुर को 8 प्रकरणों पर दो लाख रूपए और राज्य सूचना आयुक्त श्री ए0के0अग्रवाल ने तत्कालीन जनसूचना अधिकारी एवं तहसीलदार जगदलपुर (श्री आनंद राम नेताम) को दो प्रकरण पर 28 हजार रूपए, तत्कालीन जनसूचना अधिकारी एवं वन परिक्षेत्राधिकारी कानन पेण्डारी जू ( श्रीअजय शर्मा) को दो प्रकरण पर 50 हजार रूपए अर्थदण्ड अधिरोपित करते हुए अधिरोपित राशि तत्काल जमा कर चालान की प्रति आयोग को प्रेषित करने निर्देश दिए हैं। आवेदक श्री रमेश कुमार टण्डन ग्राम पंचायत उसलापुर ने श्री अजय वस्त्रकार तत्कालीन जनसूचना अधिकारी ग्राम पंचायत उसलापुर विकासखण्ड तखतपुर जिला बिलासपु...
शिक्षाकर्मियों की अनुकंपा नियुक्ति और कोविड के दौरान सेवा में लिए गए स्वास्थ्य कर्मियों के प्रकरणों की समीक्षा के लिए वरिष्ठ अधिकारियों की गठित होगी कमेटी : मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल

शिक्षाकर्मियों की अनुकंपा नियुक्ति और कोविड के दौरान सेवा में लिए गए स्वास्थ्य कर्मियों के प्रकरणों की समीक्षा के लिए वरिष्ठ अधिकारियों की गठित होगी कमेटी : मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल

chhattisgarh, politics
मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने शिक्षाकर्मियों के अनुकंपा नियुक्ति के प्रकरणों की समीक्षा और उनके निराकरण के लिए वरिष्ठ अधिकारियों की एक कमेटी गठित करने के निर्देश दिए है। यह कमेटी शिक्षाकर्मियों की अनुकंपा नियुक्ति के लिए निर्धारित पात्रताओं का परीक्षण कर अपनी रिपोर्ट राज्य सरकार को देगी जिस पर आवश्यक कार्यवाही की जाएगी। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने इसी तरह कोविड-19 के दौरान सेवा में लिए गए कोविड स्वास्थ्य कर्मियों की सेवा-निरंतरता और उनकी सेवा शर्तां के लिए भी वरिष्ठ अधिकारियों की एक कमेटी गठित करने के निर्देश दिए है। यह कमेटी भी इन स्वास्थ्य कर्मियों की सेवा निरंतरता और सेवा शर्तां के संबंध में अपनी रिपोर्ट राज्य सरकार को देगी जिस पर आवश्यक कार्यवाही की जाएगी।...
नंद कुमार बघेल को आगरा से रायपुर लाई पुलिस, ब्राह्मणों पर विवादित टिप्पणी करने पर कोर्ट ने 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा

नंद कुमार बघेल को आगरा से रायपुर लाई पुलिस, ब्राह्मणों पर विवादित टिप्पणी करने पर कोर्ट ने 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा

chhattisgarh, india, politics
छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के पिता नंद कुमार बघेल को पुलिस ने आगरा से गिरफ्तार कर लिया है। उन्हें मंगलवार को रायपुर डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में पेश किया गया है। कोर्ट ने उन्हें 14 दिन के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। बताया जा रहा है कि नंद कुमार बघेल ने जमानत लेने और वकील रखने से मना कर दिया है। उन पर ब्राह्मणों को लेकर विवादित बयान देने का आरोप है। रायपुर के डीडी नगर थाने में FIR दर्ज कराई गई थी मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के पिता नंद कुमार बघेल के खिलाफ रायपुर के डीडी नगर थाने में केस दर्ज किया गया है। सर्व ब्राह्मण समाज की शिकायत पर ये केस दर्ज किया गया। नंद कुमार पर सामाजिक द्वेष पैदा करने का आरोप है। उनके खिलाफ आईपीसी की धारा 505- समुदायों के बीच शत्रुता, घृणा या वैमनस्य की भावनाएं पैदा करने और धारा 153 ए के तहत सामाजिक तनाव बढ़ाने वाला बयान देने का आरोप है।...
तीजा-पोरा पर मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने समूह की महिला-बहनों को दी बड़ी सौगात

तीजा-पोरा पर मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने समूह की महिला-बहनों को दी बड़ी सौगात

chhattisgarh, politics
मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने आज अपने निवास में आयोजित तीजा-पोरा त्यौहार के कार्यक्रम के अवसर पर समूह की महिला-बहनों को दी बड़ी सौगात दी है। मुख्यमंत्री ने सभी महिला समूहों के कालातीत ऋणों को माफ़ करने की घोषणा की है ताकि वे पुनः ऋण लेकर नवीन आर्थिक गतिविधियाँ आरम्भ कर सकें। मुख्यमंत्री ने इसके साथ ही महिला समूहों को प्रति वर्ष दिए जाने वाले ऋण के बजट में भी 5 गुना वृद्धि की घोषणा की है। मुख्यमंत्री ने किसानों और मजदूरों के बाद अब महिलाओं के लिए न्याय की पहल करते हुए घोषणा पत्र का अपना एक और वादा पूरा कर दिया है। राज्यसभा सांसद श्रीमती फूलोदेवी नेताम ने इस अवसर पर कहा कि छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में नई सरकार के  आने के बाद महिला समूहों की आर्थिक गतिविधियों में अभूतपूर्व वृद्धि हुई है, जिससे लाखों महिलाओं की आय वृद्धि से आर्थिक स्वावलम्बन का मार्ग प्रशस्त हुआ है...
सरकार में कोई भी कानून से ऊपर नहीं फिर चाहे वो मेरे 86 साल के पिता ही क्यों न हो : मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल

सरकार में कोई भी कानून से ऊपर नहीं फिर चाहे वो मेरे 86 साल के पिता ही क्यों न हो : मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल

chhattisgarh, politics
मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कहा है कि विगत दिनों उनके पिता श्री नंदकुमार बघेल द्वारा एक वर्ग विशेष के विरूद्ध की गई टिप्पणी उनके संज्ञान में आयी है। उनकी इस टिप्पणी से समाज के एक वर्ग की भावनाओं और सामाजिक सद्भाव को ठेस लगी है उनके इस बयान से उन्हें भी दुःख हुआ है। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कहा कि मुझे सोशल मीडिया एवं अन्य माध्यमों से यह ज्ञात हुआ है कि ये बात कही जा रही है कि श्री नंदकुमार बघेल पर इसलिये कार्यवाही नहीं होगी क्योंकि वे मुख्यमंत्री के पिता हैं। श्री भूपेश बघेल ने यह स्पष्ट कहा है कि उनकी सरकार सभी को एक ही दृष्टि से देखती है। उनके पिता श्री नंदकुमार बघेल से उनके वैचारिक मतभेद शुरू से हैं ये बात सभी को पता है। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कहा है कि हमारे राजनीतिक विचार एवं मान्यतायें भी बिल्कुल अलग अलग हैं। एक पुत्र के रूप में मैं उनका सम्मान करता हूँ लेकिन एक मुख्यमंत्र...
बलौदाबाजार : राज्य सरकार के कर्मचारियों के हड़ताल पर जाने से अघोषित अवकाश, नहीं खुले कई कार्यालयों के ताले

बलौदाबाजार : राज्य सरकार के कर्मचारियों के हड़ताल पर जाने से अघोषित अवकाश, नहीं खुले कई कार्यालयों के ताले

chhattisgarh, politics
बलौदाबाजार, जिला मुख्यालय सहित समूचे छत्तीसगढ़ राज्य में आज कर्मचारी फेडरेशन संघ के तत्वावधान में सामूहिक रूप से अवकाश लेकर सभी अधिकारी कर्मचारी अपनी मांगों को लेकर एक दिवसीय धरना प्रदर्शन हड़ताल पर चले गए। जिस से पूरी तरह सरकारी कामकाज ठप हो गया। लोग दफ्तरों के चक्कर लगाते नजर आए। किंतु काम होने के बजाय उन्हें सिर्फ आफिसों में तालाबंदी नजर आई। ज्ञात हो कि केंद्र सरकार ने अपने कर्मचारियों को मंहगाई भत्ता 28% दे दिया है। जब कि राज्य के कर्मचारियों को सिर्फ 12% महंगाई भत्ता मिल रहा है। इस असमानता को दूर करने कर्मचारी संगठन एकजुट हो गए हैं। उन्होंने पहले भी कई बार राज्य सरकार से महंगाई भत्ता बढ़ाने की मांग की है, किंतु सरकार कर्मचारियों की सुनने को तैयार नहीं है। लगातार उनकी मांगों की अनदेखी कर रही है। जिसके कारण मजबूर होकर कर्मचारियों को यह कदम उठाना पड़ा। एक ओर राज्य सरकार अपने आप को केंद्र...
गरियाबंद : शराब नशे की हालत में पाए जाने पर शिक्षक निलंबित

गरियाबंद : शराब नशे की हालत में पाए जाने पर शिक्षक निलंबित

chhattisgarh, politics
शराब के नशे की हालत में विद्यालय में उपस्थित होकर शासकीय कार्याें में व्यावधान करते पाए जाने पर संभागीय संयुक्त संचालक शिक्षा रायपुर द्वारा गरियाबंद जिले के शासकीय पूर्व माध्यमिक शाला ढोड़रा विकासखण्ड मैनपुर के दो शिक्षक एल.बी. श्री शशि शेखर पाण्डेय और श्री खिर सिंह नेताम को पदीय उत्तरदायित्वों के निर्वहन में अनुशासनहीनता के कारण निलंबित कर दिया है। निलंबित अवधि में दोनों शिक्षकों का मुख्यालय विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी कार्यालय मैनपुर निर्धारित किया गया है।...