रायपुर में जनता कर्फ्यू के दौरान पुलिस द्वारा लोगों की पिटाई के फेक पोस्ट हुए वायरल, जांच के बाद कहा फेक न्यूज न फैलाएं

रायपुर. जनता कर्फ्यू को पूरा समर्थन आम लोगों का मिल रहा है। दोपहर बीतने को है मगर लोग घरों से नहीं निकले। जो सन्नाटा शहर में सुबह के सूरज के साथ देखने को मिला वह जस का तस है। इस बीच फुर्सत पाकर कुछ लोगों ने वीडियो और फोटो सोशल मीडिया में फैला दी। इनमें लोगों को पुलिस पीटती हुई दिख रही है। एक महिला ने इसे फेसबुक पर ऐसे वीडियो सार्वजनिक कर लिखा कि घर से बाहर न निकलें, कुटाई चालू है। तीन अन्य लोगों ने भी इसे शेयर कर दिया। फौरन फेक न्यूज रोकने के लिए गठित रायपुर पुलिस की टीम ने इन पोस्ट की जांच की, सभी वीडियो पुरानी अन्य घटनाओं के और अन्य राज्यों के पाए गए। इसके बाद फेसबुक पर आधिकारिक पेज पर पुलिस ने ऐसी अफवाह न फैलाने की अपील की। रायपुर एसपी ने  भी पुष्ट जानकारी शेयर की।

आंशिक लॉकडाउन
छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में जनता कर्फ्यू का व्यापाक असर है। जो सड़कें छुट्टियों के दिन भी गुलजार रहा करती थीं, वहां सन्नाटा पसरा है। लोग घरों से बाहर नहीं निकल रहे हैं। वहीं पंडरी स्टैंड पर भी सूना पड़ा हुआ है। शहर में सिटी बसों के बाद अब ऑटो चलना भी बंद हो गए हैं। रायपुर में 31 मार्च तक आंशिक लॉकडाउन किया गया है। शहर के प्रमुख रिहायशी इलाकों में सैनिटाइजेशन का काम जारी है। संतोषी नगर इलाके में सफाई कर्मी जनता कर्फ्यू के बीच सैनिटाइजेशन का काम करते हुए नजर आए।शहर के सामाजिक और राजनीतिक संगठन एक दो दिन पहले से ही रविवार को जनता कर्फ्यू को सफल बनाने की अपील कर रहे थे।

लोग कोरोना से बचाव के लिए एक-दूसरे को मैसेज कर सावधान रहने और सरकार की बात मानने की अपील भी कर रहे हैं। ऐसे में रायपुर की एक कॉलोनी में मैसेज भेजा जा रहा है कि सुबह 7 बजे से जनता कर्फ्यू लागू हो रहा है। अशोकारत्न के गेट रात 9 बजे तक बन्द किए जाएंगे। सभी निवासियों से निवेदन है कि सहयोग करे घरों पर रहे। शाम 5 बजे अपनी बालकनी मे आकर शंख, ताली, ढोली, संगीत पांच तक मिनट करें और न्यवाद करें उनका जो दिन रात आपकी सेवा कर रहे हैं।

रायपुर पुलिस ने यह कहा 
रायपुर शहर में पहले ही धारा एक 144 लागू किया गया है। ट्रैफिक और सामान्य पुलिस के जवान पेट्रोलिंग वाहनों में लाउड स्पीकर लेकर निकले हैं। लोगों से कम से कम घर से बाहर निकलने को कह रहे हैं। लोगों को यह समझाया जा रहा है कि जरूरी चीजों की दुकानों को बंद नहीं किया गया है। ऐसे में घर में रहें, हाथ बार-बार धोएं, आंख-नाक या मुंह को न छुएं। लोगों से अपील की जा रही है, कोई व्यक्ति यदि विदेश से आया हो तो उसकी जानकारी 104 पर कॉल करके जरूर दें।

लोगों ने मानी बात 
रविवार की सुबह शहर की सड़कों पर इक्का दुक्का वाहन ही नजर आए। आम लोगों ने इस बात को समझ लिया है कि जितना कम वह भीड़-भाड़ के इलाकों में जाएंगे उतना ही वह कोरोनावायरस से सुरक्षित रहेंगे। रायपुर के लोगों का जनता कर्फ्यू को लेकर समर्थन शनिवार को ही देखने को मिल गया था। शहर के जयस्तंभ चौक, मालवीय रोड, गोल बाजार, टिकरापारा में अच्छी खासी भीड़ हुआ करती थी मगर शनिवार से ही यहां की सभी दुकानें बंद हैं। लोग भी इन इलाकों में नजर नहीं आए।

कलेक्टर ने कहा 31 तक सब बंद 
रायपुर के कलेक्टर भारतीदासन ने कहा है कि धारा 144 लागू की गई है। इसके अलावा कोरोनावायरस को ध्यान में रखकर जिला प्रशासन ने सभी बाजार, दुकानें बंद करवाई हैं। सिर्फ किराना सामान, दवाएं, दूध, पेट्रोल पंप और गैस एजेंसियां ही खुली रहेंगी। यह आदेश 31 मार्च तक को लागू  रहेगा ही। इसके बाद या पहले यदि जरूरत महसूस हुई तो नया आदेश जारी किया जाएगा। बसों को भी रोक दिया गया है।