नारायणपुर : 86 वर्षीय दादी पुनई बाई ने मजबूत इरादों से जीती कोरोना से जंग

राज्य शासन द्वारा की गयी व्यवस्थाओं और स्वास्थ्य अमले के काम को सराहा नारायणपुर 29 सितम्बर 2020 नारायणपुर जिले के ग्राम खड़ीबहार की बुजुर्ग महिला श्रीमती पुनई बाई ध्रुव जो 86 वर्ष की है उन्होंने अपने मजबूत इरादों से बीते माह कोरोना से जंग जीती है। बुजुर्ग महिला ने अपनी हिम्मत और बुलंद हौसले से कोरोना से जंग जीतकर समाज को संदेश दिया है कि कोरोना से डरे नहीं, अपना आत्मविश्वास बनाए रखें। हिम्मत और मजबूती के साथ कोरोना का सामना करें, जीत अवश्य मिलेगी। बातचीत करने पर दादी ने स्थानीय बोली में बताया कि उन्होंने 86 साल के जीवन काल में पहली बार ऐसी भयानक बीमारी देखी है, जिसकी कोई दवाई नहीं है। दवाई अगर है, तो व्यक्ति के पास ही है। इसके बचाव के लिए लोगों को मास्क का उपयोग, सोशल डिस्टेंसिंग, साबुन या सेनेटाइजर से हाथों को साफ रखना और इम्युनीटि बढ़ाने के लिए आयुर्वेदिक काढ़ा का सेवन जरूरी है। इन सभी उपायों की जानकारी उन्हें कोविड केयर सेंटर से चिकित्सकों एवं मेडिकल स्टाफ द्वारा बतायी गयी। श्रीमति पुनई बाई ध्रुव जब कोविड-19 हॉस्पिटल से स्वस्थ होकर बाहर निकली तब उनका हौसला देखने लायक था। उन्होंने उत्साह के साथ अपने दोनों हाथों से मौजूद व्यक्तियों का अभिवादन किया। उन्होंने हॉस्पिटल में डाक्टर तथा पैरामेडिकल स्टाफ एवं नर्सेज द्वारा की गई देखभाल की भी तारीफ की। उन्होंने राज्य शासन की द्वारा कोरोना के मरीजों के लिए अस्पताल में की गयी व्यवस्थाओं की भी सराहना की। बातचीत में बताया कि हॉस्पिटल में उनके सहित सभी मरीजों का पूरा ख्याल रखा गया। चाय-नाश्ता, खाना, दवाईयां सभी समय-समय पर मिलती थी। स्टाफ का व्यवहार भी बेहद अपनत्व से भरा था, स्टाफ पूरे समय उनको दादी कहकर बुलाता रहा और मेरे मन में भी उन सबके लिए अपने बेटे, बेटियों, पोते, पोतियो जैसा अपनापन है। जिला प्रशासन नारायणपुर ने उनके और उनके परिवार का पूरा सहयोग किया, जिससे उन्हें कोविड केयर सेंटर में किसी प्रकार की समस्या नही हुई। बता देें कि नारायणपुर जिले मेें अब तक कुल 1260 कोरोना पॉजिटिव मरीजों की पहचान की गयी है। जिनमें से 1004 लोग स्वस्थ होकर अपने घरों को लौट आये हैं। 256 मरीजों का ईलाज वर्तमान में कोविड केयर सेंटर में किया जा रहा है।