रायपुर : कोरोना वायरस नियंत्रण और रोकथाम के लिए मुख्य सचिव ने ली बैठक : टेली कंसल्टेशन हब, होम आइसोलेशन सेंटर का किया मुआयना

रायपुर। प्रदेश के मुख्य सचिव श्री आर पी मंडल ने आज यहां न्यू सर्किट हाउस में स्टेट कमांड एंड कंट्रोल सेंटर में रायपुर जिले में कोविड़-19  के नियंत्रण एवं रोकथाम के लिए किए जा रहे कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने इसके उपरांत कलेक्टर , वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, नेशनल हेल्थ मिशन और स्वास्थ्य  विभाग के अधिकारियों, नगर निगम के आयुक्त ,जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी के साथ मेडिकल कालेज हॉस्पिटल रायपुर के टेली कंसल्टेशन हब,जिला पंचायत  कार्यालय में बनाए गए होम आइसोलेशन सेंटर, न्यू सर्किट हाउस में बनाए गए कांटेक्ट ट्रेसिंग सेंटर,आयुर्वेदिक कॉलेज और इंडोर स्टेडियम के कोविड सेंटर का मुआयना किया।

बैठक के दौरान श्री मंडल ने कोविड-19 के त्वरित पहचान और निदान के लिए ज्यादा से ज्यादा टेस्ट  करने पर जोर दिया, जिससे मरीजों का इलाज शीघ्र शुरू हो सके और उनका इलाज बेहतर रूप से हो सके। उन्होंने भविष्य को दृष्टिगत रखते हुए कोविड के प्रभावी नियंत्रण के लिए अभी से चिकित्सा सुविधाओं को बढ़ाने पर जोर दिया तथा आयुर्वेदिक कॉलेज के परिसर में बनाए गए कोविड- अस्पताल को अपग्रेड करते हुए गंभीर रूप से प्रभावित कोविड मरीजों  के इलाज के लिए ऑक्सीजन की सुविधा भी उपलब्ध कराने को कहा। श्री मंडल ने इस् बात की प्रशंसा कि रायपुर जिले में कोरोना टेस्ट का कार्य एक हजार से बढ़ाकर 14 हजार किया गया है।

बैठक और अवलोकन के अवसर  पर कलेक्टर डॉ एस भारतीदासन, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्री अजय यादव,  स्वास्थ्य विभाग के संचालक श्री नीरज बंसोड,नेशनल हेल्थ मिशन की एमडी शडां प्रियंका शुक्ला ,नगर निगम आयुक्त श्री सौरभ कुमार ,जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी डाॅ  गौरव कुमार सिंह , अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी श्री विनीत नंदनवार भी उपस्थित थे।

श्री मंडल ने कोविड के गंभीर मरीजों से सीधे बातचीत की 

श्री मंडल ने इसके उपरांत मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल ,रायपुर में बनाए गए स्टेट टेलीकंसल्टेशन हब में मेडिकल कॉलेज के  डीन डॉ विष्णु दत्त , सुपरिटेंडेंट डॉक्टर विनीत जैन तथा चिकित्सकों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बस्तर, मुंगेली और बिलासपुर के अस्पतालों में भर्ती मरीजों से सीधे बातचीत की और उसका कुशलक्षेम जाना।

इस कक्ष में  चिकित्सक न केवल चिकित्सकों को समय-समय पर नवीन जानकारी और मार्गदर्शन देते हैं बल्कि मरीजों के साथ सीधा संपर्क कर उनकी समस्याओं का समाधान भी करते हैं। श्री मंडल ने आईं सी यू में  तथा वार्ड मेंअपना इलाज करा रहे गंभीर मरीजों से बातचीत के दौरान  उनको शुभकामनाएं भी दी और कहा कि वे जल्द ही स्वस्थ होकर अपने घर वापस लौटेंगे ।

मरीजों ने बताया कि उन्हें ना केवल अच्छी चिकित्सा सुविधाएं मिल रही है बल्कि सही मार्गदर्शन और दवाइयां भी मिल रही है। श्री मंडल ने टेली कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से दूरदराज क्षेत्रों में लगातार मेडिकल की सेवाएं देने वाले समर्पित चिकित्सकों को बधाई दी और उनकी सराहना की। मुख्य सचिव ने बलोदा बाजार के चिकित्सक डा शैलेन्द्र द्वारा किए जा रहे समर्पित कार्य की प्रशंसा की।

24 घंटे कार्य कर रहे हैं कोविड ट्रेसिंग सेंटर और  होम आइसोलेशन सेंटर 

सर्किट हाउस में कोविड ट्रेसिंग  कंट्रोल रूम में एडिशनल कलेक्टर श्रीमती पद्मिनी भोई ने बताया कि यह सेंटर 24 घंटे तीन शिफ्ट में कार्य कर रहा है और कोविड के नए मरीजों की पहचान करने के साथ-साथ उनसे संपर्क करने का भी कार्य कर रहा है।

जिला पंचायत के होम आइसोलेशन सेंटर में अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी और नोडल अधिकारी श्री विनीत नंदनवार ने बताया कि  कोविड मरीजों के लिए  मोबाइल ऐप बनाया गया है जिसके माध्यम से होम आइसोलेशन की अनुमति ली जा सकती है। यहां कंट्रोल रूम  के  फोन नंबर से कोई भी व्यक्ति चिकित्सकीय मार्गदर्शन ले सकता है। यह सेंटर 24 घंटे 3 शिफ्ट में कार्यरत है।

मुख्य सचिव ने मरीजों के भोजन का जायजा लिया 

श्री मंडल ने इसके बाद आयुर्वेदिक कॉलेज और इन्डोर स्टेडियम पहुंचकर यहां की स्थिति का अवलोकन किया तथा मरीजों को दिए जाने वाले भोजन का कलेक्टर के साथ जायजा भी लिया। श्री मंडल ने  अवलोकन के दौरान मरीजों की सेवा कर रहे चिकित्सकों तथा अन्य सेवाएं दे रहे लोगों की तारीफ की और कहा कि वे  मानव और जनसेवा का प्रशंसनीय कार्य कर रहे हैं।