Wednesday, July 28संस्थापक, प्रधान संपादक, स्वामी श्री नवनीत जगतरामका जी
Shadow
national-lok-adalat

राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली के द्वारा वर्ष 2021 में आयोजित होने वाले नेशनल लोक अदालत की तिथि निर्धारित की गई

राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली के द्वारा वर्ष 2021 में आयोजित होने वाले नेशनल लोक अदालत की तिथि निर्धारित की गई है वर्ष 2021 में निम्नलिखित तिथियों में नेशनल लोक अदालत आयोजित की जाएगी 10721 11 9 2021 11 12 2021 इस वर्ष की सभी पहली नेशनल लोक अदालत दिनांक 10 चार्ट 2021 को आयोजित होने वाली लोक अदालत को आपदा के कारण निरस्त कर दी गई थी माननीय राजेश श्रीवास्तव जिला एवं सत्र न्यायालय न्यायाधीश अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण दुर्ग के द्वारा नेशनल लोक अदालत के सफल

आयोजन यथा लोक अदालत में अधिक से अधिक राजीनामा योग्य प्रकरणों के निराकरण किए जाने के संबंध में दुर्ग में पदस्थ न्यायिक अधिकारियों विद्युत वितरण के अधिकारियों की बैठक ली जा रही है जिला एवं सत्र न्यायाधीश अध्यक्ष राजेश श्रीवास्तव ने व्यक्त किया की कोविड-19 के संक्रमण की अवधि में न्याय लीन प्रकरण की सुनवाई में व्यवधान उत्पन्न हुआ है चरणों के पक्षकार अपने न्यायालयीन प्रकरणों को राजीनामा के माध्यम से निराकृत करना चाहते हैं लोक अदालत में राजीनामा योग्य दंडित चरण मोटर यान अधिनियम चेक अनावरण के तथा विद्युत के मामले अत्यधिक संख्या में निराकृत किए जा सकते हैं जिसके लिए प्रत्येक न्यायिक अधिकारियों को प्रकरण के अधिवक्ताओं एवं अक्षरों से संपर्क चर्चा कर राजीनामा के अंतिम स्तर तक प्रकरण को पहुंचाया जाकर निराकृत किया जा सकता है

इसके लिए पक्षकारों की फ्री सीटिंगभी की जा रही है लोक अदालत असल में हमारे देश में विवादों के निपटारे का वैकल्पिक माध्यम है इसे बोलचाल की भाषा में लोगों की अदालत भी कहते हैं इसके गठन का आधार 1976 का 42वां संविधान संशोधन है जिसके तहत अनुच्छेद 39 में आर्थिक न्याय की अवधारणा जोड़ी गई और शासन से अपेक्षा की गई कि वह यह सुनिश्चित करेगा कि देश का कोई भी नागरिक आर्थिक या किसी अल्प अक्षमता ओं के कारण ने पाने से वंचित ना रह जाए लोक अदालत का मुख्य उद्देश्य है विवादों का आपसी सहमति से समझौता करना उक्त नेशनल लोक अदालत फिजिकल एवं वर्चुअल दोनों मोड से की जाएगी

दिनांक 10 7 2021 को आयोजित होने वाली नेशनल लोक अदालत में निम्नलिखित प्रकृति के प्रकरण सुनवाई हेतु रखे जा सकते हैं फ्री लिटिगेशन प्रकरण धारा 138 पराक्रम में लिखित अधिनियम राशि वसूली प्रकरण विद्युत जलकर से संबंधित प्रकरण पारिवारिक विवाद सिविल प्रकरण न्यायालय में लंबित प्रकरण राजीनामा योग्य प्रकरण धारा 138 पराक्रम में लिखित अधिनियम मोटर दुर्घटना दावा प्रसारण श्रम विभाग पारिवारिक विवाद तलाक को छोड़कर विद्युत प्रसारण भूमि अधिग्रहण सिविल एवं वाद नेशनल लोक अदालत में वित्तीय संस्थान बैंकिंग विद्युत विभाग नगर निगम लिटिगेशन नेशनल लोक अदालत के तिथि के 10 दिवस कार्यालय में प्रस्तुत कर सकते हैं न्याय लेखन के प्रकार अपने प्रकरण को लोक अदालत में रखे जाने के संबंध में अपने अधिवक्ता अथवा संबंधित न्यायालय से संपर्क कर सकते हैं

पोर्टल/समाचार पत्र विज्ञापन हेतु संपर्क : +91-9229705804
Advertise with us

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *