कोरिया: कोरोना वायरस से निपटने स्वास्थ्य विभाग की तैयारी, जिला अस्पताल में बनाया गया आईसोलेशन वार्ड

कोरिया | विश्वव्यापी कोरोना वायरस से घबराने एवं चिंता करने की कतई जरूरत नहीं है। इसकी पहचान एवं जांच की सुविधा राज्य स्तर पर उपलब्ध है। कलेक्टर डोमन सिंह ने आज यहां कोरोना वायरस के संबंध में राज्य सरकार के दिशा-निर्देशों से अवगत कराया। उन्होंने कोरोना वायरस के लक्षणों और संक्रमण से बचाव के उपायों की जानकारी समस्त जनता तक पहुंचाने के निर्देश दिये हैं।

उल्लेखनीय है कि कोरोना वायरस विषाणुओं का समूह है, जिससे सामान्यतः जानवरों में बीमारियां होती हैं। कभी-कभी ये मनुष्यों में संक्रमण करता है। सर्दी-खांसी, उल्टी, सिरदर्द एवं बुखार इसके लक्षण हैं। छोटे बच्चों और बुजुर्ग व्यक्तियों में एवं ऐसे व्यक्तियों में जिनमें प्रतिरक्षण की क्षमता कम होती है, उनमें ये निमोनिया, ब्रोंकाइटिस जैसी गंभीर बीमारियां उत्पन्न करता है।

यह वायरस संक्रमित व्यक्ति के खांसने या छींकने से हवा द्वारा, संक्रमित व्यक्ति के संपर्क से – जैसे छूने या हाथ मिलाने से, अथवा संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने के बाद आंख या नाक को छूने से फैलता है। इसलिए कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए एहतियात बरतना बहुत जरूरी है। वायरस से बचाव के लिए आवश्यक है कि संक्रमित व्यक्ति के निकट संपर्क में आने से बचें। बार-बार हाथों को धोकर स्वच्छ रखें। सामान्य सर्दी, खांसी एवं बुखार होने पर चिकित्सक की सलाह लें एवं जांच अवश्य कराएं।

सीएचएमओ ने बताया कि जिला चिकित्सालय में अलग से आइसोलेशन वार्ड तैयार किया जा चुका है। कोरोना वायरस से बचाव हेतु राज्य स्तर पर विभिन्न प्रयास किये जा रहे हैं। छत्तीसगढ़ राज्य में मरीज की पहचान होने पर रायपुर स्थित जवाहर लाल नेहरू मेडिकल कॉलेज एवं एम्स रायपुर में इलाज की सुविधा है। संपूर्ण इलाज यहां निःशुल्क किया जायेगा। अधिक जानकारी के लिए बैकुण्ठपुर स्थित शासकीय जिला चिकित्सालय के नंबर 07836-232993 एवं राज्य सर्विलेंस इकाई के नंबर 0771-223509, 9713373165 अथवा टोल फ्री नंबर 104 पर संपर्क कर सकते हैं।

कलेक्टर ने वायरस के संबंध में किसी तरह के अफवाहों में नहीं आने की सलाह दी है। उन्होंने बताया कि चीन सहित विभिन्न देशों को कोरोना वायरस के लिए संवेदनशील माना गया है। उन्होंने चीन, साउथ कोरिया, जापान, वियतनाम, हांगकांग, इंडोनेशिया सहित सभी संभावित देशों की यात्रा न करने की बात कही है।