कोरबा : दलदल में फंसे हाथी को नहीं निकाल पाया वन अमला, 38 घंटे से संघर्ष के बाद हाथी के बच्चे ने तोड़ा दम

korba-elephant

कोरबा : छत्तीसगढ़ के कटघोरा वन परिक्षेत्र के दलदल में फंसे हाथी के मादा बच्चे की मौत हो गई है। इससे पहले से ही हाथी के बच्चे में कोई हलचल दिखाई नहीं दे रही है। वन विभाग का भी अमला उसे 38 घंटे बाद भी निकाल पाने में नाकाम साबित हुआ है। देर रात से ही हाथी की मौत को लेकर जानकारी सामने आने लगी थी, लेकिन वन विभाग इसे लेकर अभी भी पुष्टि नहीं कर रहा है। दिखावे के लिए डॉक्टरों की टीम को मौके पर बुलाने की बात कही गई।

अपने दल से बिछड़ कर दलदल में फंसा हाथी का मादा बच्चा

दरअसल, कटघोरा में कुल्हरिया गांव के पास हाथी का 12 वर्षीय बच्चा अपने दल से बिछड़ गया था। इसके बाद वह बुधवार को बांगो डूबान के दलदल में फंस गया। अगले दिन गुरुवार सुबह ग्रामीणों ने देखा तो इसकी सूचना वन विभाग को दी। वन विभाग की टीम ने हाथी के बच्चे को निकालने का प्रयास किया, लेकिन नाकाम रही। वहीं देर शाम से हाथी की हालत नाजुक हो गई, क्योंकि वह कुछ खा भी नहीं पा रहा था। इसके बाद हाथी के थककर बेहोश होने की भी बात कही गई।

पांच दिन पहले भी एक हाथी की गिरने से हो गई थी मौत

केंदई वन परीक्षेत्र के ग्राम कुल्हरिया के मोहल्ला बनखेता पारा में करी 50 हाथियों के झुंड ने डेरा डाल रखा है। इस झुंड से भी पांच दिन पूर्व एक हाथी की सलाई पहाड़ से गिरकर मौत हो गई थी। इसके बाद अब हाथी का यह बच्चा दलदल में फंसा हुआ है। वन विभाग की टीम की कोशिशों के बीच हाथियों का झुंड भी आ गया था। जिसके चलते वनकर्मियों को वहां से भागना पड़ा। हालांकि बाद में हाथियों का लगा कि वनकर्मी बच्चे को बचाने में लगे हैं तो वे वहां से हट गए थे।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*