Monday, October 18संस्थापक, प्रधान संपादक, स्वामी श्री नवनीत जगतरामका जी
Shadow

कोण्डागांव : जिले में एक दिन में 17281 लोगों को लगाया गया कोरोना का टीका

21 सितम्बर 2021 मंगलवार को कलेक्ट्रेट में कलेक्टर पुष्पेन्द्र कुमार मीणा की अध्यक्षता में आयोजित समय-सीमा बैठक में जिले में टीकाकरण के संबंध में विस्तृत समीक्षा की गई। इस दौरान कलेक्टर ने स्वास्थ्य विभाग एवं राजस्व विभाग के अधिकारियों को 20 सितम्बर को एक दिन में सर्वाधिक 17281 लोगों का टीकाकरण कराये जाने पर बधाई देते हुए कहा कि जिले में टीकाकरण के कार्य को गंभीरता से लेते हुए तीव्र गति से आगे बढ़ाते हुए प्रतिदिन 25 हजार लोगों के टीकाकरण का लक्ष्य हासिल करना है। इसके लिये सभी विभागों को मिलकर कार्य करना होगा। ज्ञात हो कि अब तक 45 से अधिक आयु वर्ग में प्रथम डोज के टीकाकरण का कार्य 152 गांवों में शत् प्रतिशत कर लिया गया है, जबकि 271 ग्रामों में यह 80 प्रतिशत से अधिक पूर्ण कर ली गई है। वहीं 18-44 आयु वर्ग में 14 ग्रामों में शत् प्रतिशत युवाओं को टीके की प्रथम डोज लगाई जा चुकी है।

*कोण्डागांव एवं माकड़ी विकासखण्ड में टीकाकरण कार्य की सराहना की*
इस दौरान कलेक्टर ने टीकाकरण के लिये किये जा रहे प्रयासों की समीक्षा करते हुए सप्ताह के दौरान कोण्डागांव एवं माकड़ी विकासखण्डों द्वारा टीकाकरण के लिये किये गये कार्यों की सराहना करते हुए अन्य विकासखण्डों को भी टीकाकरण में तेजी लाने के निर्देश दिये। ज्ञात हो कि 20 सितम्बर को जिले की 230 टीमों के माध्यम से कोण्डागांव में 4878, माकड़ी में 4206, बड़ेराजपुर में 3099, फरसगांव में 3088, केशकाल में 2010 लोगों को कोरोना से बचाव का टीका लगाया गया था। जबकि टीकाकरण देर शाम तक चलने के कारण इसकी ऑनलाईन प्रविष्टि में केवल 11333 लोगों को टीकाकरण ही दर्ज हो पाया था। जिसपर कलेक्टर द्वारा नाराजगी जाहिर करते हुए ऐसे क्षेत्र जहां नेटवर्क की उपलब्धता है, वहां पंचायतों के माध्यम से ऑनस्पॉट ऑनलाईन एंट्री करने को कहा।

*शिक्षक, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं मितानिनों के योगदान को बताया महत्वपूर्ण*
इस दौरान कलेक्टर ने विकासखण्डों हेतु प्रतिदिन पांच हजार लोगों के टीकाकरण का लक्ष्य बनाकर इसके अनुसार रणनीति तैयार करने को कहा। इसके लिये उन्होंने सीएमएचओ डॉ0 टीआर कुंवर को प्रतिदिन अधिकतम संभव टीकाकरण टीमों को बनाकर अधिक से अधिक ग्रामों के टीकाकरण हेतु निर्देशित किया। ज्ञात हो कि वर्तमान में कुल 230 दलों में से कोण्डागांव में 72, फरसगांव में 53, माकड़ी में 40, केशकाल में 34 एवं बड़ेराजपुर में 31 दल प्रतिदिन टीकाकरण का कार्य कर रहे हैं। इन दलों की संख्या को उन्होंने 400 करने को कहा है। इसके अतिरिक्त टीकाकरण के प्रति लोगों में बढ़ते उत्साह को देखते हुए जागरूकता प्रसार के लिये गांव की आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, मितानिनों एवं शिक्षकों की महत्वपूर्ण भूमिका की सराहना करते हुए कलेक्टर ने सभी विकासखण्डों में नई रणनीति के तहत् कार्य करने के लिए कहा जिसमें शिक्षकों, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, मितानिनों एवं अन्य मैदानी कार्यकर्ताओं को प्रतिदिन घर-घर जाकर लोगों को टीकाकरण केन्द्र तक लाने की जिम्मेदारी दी जावेगी। इसके लिये कोण्डागांव एवं माकड़ी की भांति बीईओ एवं बीआरसी की भूमिका को भी महत्वपूर्ण बनाते हुए राजस्व विभाग के अधिकारियों को टीकाकरण कार्यक्रम के निरीक्षण हेतु निर्देशित किया गया है।
स्कूलों के खुलने से शिक्षकों की दिन के समय व्यस्तता को देखते हुए उन्हें प्रतिदिन सुबह एवं शाम के समय आस-पास के वार्डों में जाकर टीकाकरण का प्रचार करने एवं महिला बाल विकास के अधिकारियों को प्रतिदिन कम से कम पांच टीकाकरण केन्द्रों का दौरा कर निरीक्षण करने को कहा। इसके लिये टीकाकरण सेशन लगाने हेतु एसडीएम प्रतिदिन रोस्टर तैयार कर कर्मचारियों की ड्यूटी लगायेंगे। इन टीमों में राशन दुकानों के संचालकों को भी शामिल किया जायेगा। उल्लेखनीय है कि पूर्व में लोगों के द्वारा टीकाकरण का विरोध किया जा रहा था। परंतु लगातार चलाये गये जागरूकता अभियान के बाद युवा बड़ी संख्या में टीकाकरण हेतु बाहर आ रहे हैं। अब तक 45 से अधिक आयु वर्ग में 90.82 प्रतिशत को प्रथम एवं 30.94 प्रतिशत को टीके की द्वितीय डोज लगाई जा चुकी है। वहीं 18-44 आयु वर्ग में अब तक 45.54 प्रतिशत युवाओं को प्रथम एवं 10.59 प्रतिशत युवाओं को टीके की द्वितीय डोज लगाई जा चुकी है।

पोर्टल/समाचार पत्र विज्ञापन हेतु संपर्क : +91-9229705804
Advertise with us

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *