Thursday, July 29संस्थापक, प्रधान संपादक, स्वामी श्री नवनीत जगतरामका जी
Shadow
kondagaon-news-22-june-2021-1

कोण्डागांव : वर्चुअल कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने ‘नरवा‘ कार्यक्रम के सफल हितग्राही ‘जोहार नेताम‘ का बढ़ाया हौसला* *‘बिहान‘ की सदस्याओं को भी दी शुभकामनाएं*

कोण्डागांव. आज सम्पन्न वर्चुअल लोकार्पण एवं भूमिपूजन कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल द्वारा विभिन्न शासकीय योजनाओं के लाभांवित हितग्राहियों से आत्मीयतापूर्वक संवाद किया गया। सर्वप्रथम उन्होंने बड़ेराजपुर निवासी कृषक जोहार लाल नेताम से रूबरू किया। कृषक जोहार लाल ने मुख्यमंत्री को बताया कि उसे खेत के समीप बुधारास नाला में बोल्डर और चेक डेम का निर्माण किया गया है। जिससे पानी के जल स्तर में निरंतर वृद्धि हुई है।

नरवा योजना के तहत् चेक डेम निर्माण के पहले नाले का पानी मात्र तीन से चार महीना रहता था और इससे उसके मक्के की फसल बुरी तरह प्रभावित होती थी और उसे मात्र 15 से 20 हजार का ही आमदनी हो रही थी, परन्तु चेक डेम निर्माण उपरान्त अब वह 07 एकड़ में मक्का व गेंहू की फसल ले रहा है। जिससे उसे इस वर्ष 80 से 90 हजार रूपये का लाभ हुआ और यह सब नरवा योजना की बदौलत है। इसके साथ ही गांव के 40-50 किसान भी अच्छी फसल ले रहे हैं। इस पर मुख्यमंत्री ने कृषक जोहार नेताम को हौसला बढ़ाते हुए उसकी सराहना की।

कार्यक्रम में बिहान की स्व-सहायता समूह की महिलाओं ने गोठान के तहत् अपनी गतिविधियों की जानकारी देते हुए कहा कि 32 सदस्यीय समूह द्वारा कुक्कूट पालन के तहत् अण्डा उत्पादन किया जा रहा है और दो महीने में ही 03 हजार अण्डा उत्पादन उनके द्वारा किया गया और इन अण्डों को स्थानीय स्तर पर खपत भी किया गया। इसके अलावा आंगनबाड़ी केन्द्रों में भी अण्डों को वितरित किया जाता है। इस पर मुख्यमंत्री द्वारा उन्हें विशेष रूप से शुभकामनाएं दी गई।

राजीव गांधी न्याय योजना के तहत् लाभांवित हितग्राही अशोक राय ने मुख्यमंत्री को बताया कि इस योजना के माध्यम से उसे इस वर्ष 03 लाख 682 रूपये की आमदनी हुई। दुग्ध पालक होने की वजह से उसके पास 14 गाये हैं और संग्रहित गोबर के माध्यम से पहले मात्र 20-25 हजार ही प्राप्त होता था लेकिन न्याय योजना के माध्यम से उसकी पूरी जीवन शैली बदल गई।
ज्ञात हो कि कोण्डागांव जिले में नरवा विकास योजना के तहत 45 नालों का चिन्हांकन किया गया है। इन नालों में 2152 कार्यों के माध्यम से

सिंचाई के उन्नत संसाधन उपलब्ध कराया गया है। जिससे सिंचाई के रकबे में 215 हेक्टेयर एवं पैदावार में 6330 क्विंटल की वृद्धि हुई है। नरवा योजना लागू होने के बाद जमीन के जल स्तर में 2500 मि.मी. भू-जल में औसतन वृद्धि हुई है। नरवा योजना के अंतर्गत भू-जल स्तर में हुई वृद्धि की प्रशंसा करते हुए कहा कि पूरे देश में भू-जल स्तर में वृद्धि के लिये कोण्डागांव के नरवा योजना एक मिशाल है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री द्वारा कोपाबेड़ा तलाब के संरक्षण एवं सौंदर्यीकरण की भी घोषणा की गई।

मुख्यमंत्री श्री बघेल ने जिले के निवासियों से 21 जून को होने वाले वर्चुअल योग मैराथन में शामिल होने के लिए लोगों से अपील की साथ ही उन्होंने जिले के नंगत पिला कार्यक्रम से बच्चों में कुपोषण की दर कम होने पर हर्ष व्यक्त करते हुए इस कार्यक्रम की सराहना की तथा सुपोषण अभियान के साथ कुकाड़गारकापाल की स्व-सहायता समूह की महिलाओं को अण्डा उत्पादन के क्षेत्र में जोड़कर उड़ान महिला कृषक प्रोड्यूसर कम्पनी लिमिटेड द्वारा रोजगार दिलाने के प्रयासों की प्रशंसा की एवं महिलाओं के बच्चों के सुपोषण में महत्वपूर्ण योगदान के तहत् जिले में कोदो कुटकी एवं रागी की खिचड़ी बच्चों को खिलाने एवं अण्डा वितरण के कार्य की भी प्रशंसा की।

पोर्टल/समाचार पत्र विज्ञापन हेतु संपर्क : +91-9229705804
Advertise with us

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *