Saturday, July 24संस्थापक, प्रधान संपादक, स्वामी श्री नवनीत जगतरामका जी
Shadow
kondagaon-collector-meets-tribals

कोण्डागांव : धुर नक्सल प्रभावित ग्राम बेचा में पहली बार पहुंचे आईजी, कलेक्टर एवं एसपी, आईजी एवं कलेक्टरों ने ग्रामीणों से बात कर जानी उनकी समस्याएं

कोण्डागांव. रविवार को जिले के सुदूर नक्सल प्रभावित ग्राम में ‘कम्यूनिटी पुलिसिंग‘ के कार्यक्रम में शामिल होने के लिए बस्तर आईजी बस्तर पी सुंदरराज, कलेक्टर कोण्डागांव पुष्पेन्द्र कुमार मीणा, कलेक्टर बस्तर रजत बंसल, एसपी कोण्डागांव सिद्धार्थ तिवारी, एसपी बस्तर दीपक झा, एसपी नारायणपुर मोहित गर्ग सहित कोण्डागांव जिले के सम्पूर्ण जिला स्तरीय प्रशासनिक अधिकारी बेचा पहुंचे थे।

यह आजादी के पश्चात् पहला मौका था जब बस्तर संभाग के आईजी एवं कोण्डागांव के कलेक्टर सहित इतनी बड़ी संख्या में प्रशासनिक अधिकारी धुर नक्सल प्रभावित ईलाके में लोगों से मिलने पहुंचे थे। इस दौरान बेचा में कोण्डागांव के विभागों द्वारा जनसमस्या निवारण के लिए शिविर का आयोजन किया था। जहां कलेक्टर के समक्ष ग्रामीणों ने अपनी समस्याओं को रखा। जिसमें ग्रामीणों द्वारा नवीन हैण्डपम्प उत्खनन, प्राथमिक शाला निर्माण, नवीन आंगनबाड़ी केन्द्र निर्माण, मोबाईल टाॅवर, उप स्वास्थ्य केन्द्र हेतु भवन, पीडीएस केन्द्र की मांग की गई।

इस दौरान आईजी श्री सुंदरराज ने कहा कि लोगों की समस्याओं को दूर करने एवं आपसी सामंजस्य से इस क्षेत्र के विकास के लिए इस प्रकार के शिविरों का आयोजन होना आवश्यक है। लोगों को उनके विकास के लिए संसाधन उपलब्ध कराकर ही इस क्षेत्र में खुशहाली लाई जा सकती है। इसके लिए जिला प्रशासन के साथ मिलकर पुलिस प्रशासन भी लगातार प्रयास कर रहा है।

इस अवसर पर कलेक्टर श्री मीणा ने ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा कि जिला प्रशासन क्षेत्र के सर्वांगिण विकास के लिए प्रतिबद्ध है। क्षेत्र में किसी भी प्रकार की समस्या होने पर ग्रामीणजन जिला प्रशासन को अवगत करा सकते हैं। उनकी समस्याओं का तुरंत निदान किया जाएगा। क्षेत्र की शांति एवं विकास के लिए लोगों का प्रशासन से समन्वय कर लोगों को शासन की योजनाओं के प्रति जागरूक किया जाना आवश्यक है। इस प्रकार के शिविर पुनः किये जाते रहेंगे, जिससे ग्रामीण अधिक से अधिक शासन की योजनाओं का लाभ ले सकें।

इस कार्यक्रम में सम्मिलित होने के लिए सभी अधिकारी बेचा पहुंचाने वाले कच्चे पगडण्डियों वाले रास्तों से होकर पैदल बेचा पहुंचे थे। जहां ‘कम्यूनिटी पुलिसिंग‘ के तहत् ग्राम के बच्चों को क्रिकेट हेतु बैट-बाॅल-स्टॅम्प, वाॅलीबाल एवं अन्य खेल सामग्रियों के साथ काॅपी, पुस्तक, पेन दिया गया, वहीं ग्रामीणों को साड़ी, लूंगी भी प्रदान की गई।

इसके अतिरिक्त ग्रामीणों को रोपण हेतु पौधे भी प्रदान किये गये। इस अवसर पर सभी ग्रामीणों को भोजन भी कराया गया। इसके पश्चात् कलेक्टर एवं आईजी ने ग्राम का भ्रमण कर गांव में सुविधाओं का अवलोकन किया।

इस दौरान कलेक्टर मीणा ने ग्रामीणों की मांग पर ग्राम के तीनों पारों में नवीन हैण्डपम्प एक सप्ताह में खोदने, नवीन आंगनबाड़ी भवन, पीडीएस भवन, प्राथमिक शाला, उप स्वास्थ्य केन्द्र हेतु स्थल निरीक्षण दो दिनों में पूर्ण कर जल्द कार्य कराने को अधिकारियों को निर्देश दिए। इसके साथ ही बेचा में देवगुड़ी निर्माण के लिए 01 लाख रूपये स्वीकृत किये गये। जिसमें से 50 हजार रूपये तत्काल चेक द्वारा दिए गए। इसके अतिरिक्त अधूरे पड़े पंचायत भवन को पूर्ण करने, कीलम बेचा कड़ेनार के सभी गलियों में सीसी रोड़ निर्माण, कीलम में सोलर लाईटें लगाने तथा पूर्व में लगी लाईटों की मरम्मत, कड़ेनार आश्रम जो पूर्व में नयागांव में संचालित था उसे पुनः कड़ेनार में संचालित करने के निर्देश दिए।

गांव में बारह मासी बिजली की उपलब्धता एवं बेचा के खालेपारा में नवीन ट्रांसफार्मर की स्थापना के लिए विद्युत विभाग को निर्देश दिए। कीलम कड़ेनार बेचा एवं आस-पास के अन्य संवेदनशील ग्रामों में शिविर लगाकर आधारकार्ड एवं बैंक अकाउंट बना कर इसके माध्यम से लोगों को वृद्धावस्था पेंशन, राशन कार्ड, खूबचंद बघेल स्वास्थ्य बीमा योजना, पीडीएस राशन आदि का लाभ उपलब्ध कराने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिए।
इस दौरान ग्राम पहुंचे जिले के अधिकारियों का ग्रामीणों द्वारा सभी का खुले दिल से स्वागत किया गया। ज्ञात हो कि चार जिलों के संगम बिंदु पर बसा यह ग्राम लम्बे समय से माओवाद का दंश झेल रहा है। यहां शासकीय योजनाओं एवं विकास कार्यों के पहुंचने के साथ कैम्प स्थापना एवं पुलिस प्रशासन के प्रयासों से लगातार प्रगति हो रही है। जिससे लोग माओवाद से दूर हटकर विकास की मुख्य धारा में शामिल हो रहे हैं।

पोर्टल/समाचार पत्र विज्ञापन हेतु संपर्क : +91-9229705804
Advertise with us

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *