ईरान में यूक्रेन बोइंग 737 विमान ईरानी मिसाइल हमले से क्रैश हुआ, ईरान ने मानी गलती.

पढ़े : अमेरिका ईरान तनाव के बीच बोइंग 737 विमान टेक ऑफ के तुरंत बाद क्रैश में सभी 176 यात्रियों की दुखद मौत – 08/01/2020

तेहरान : ईरान में तेहरान स्थित इमाम खोमेनी एयरपोर्ट पर बुधवार सुबह बोइंग-737 विमान उड़ान भरने के 3 मिनट बाद ही क्रैश हो गया। ईरान के आपातकालीन सेवाओं के एक अफसर ने सरकारी मीडिया से दावा किया कि विमान में सवार सभी 176 लोगों की मौत हो गई। इसमें 167 यात्री और 9 क्रू मेंबर्स थे। यूक्रेन के विदेश मंत्री ने बताया कि हादसे के वक्त विमान में ईरान के 82, कनाडा के 63, स्वीडन के 10, ब्रिटेन के 3, अफगानिस्तान के 4 और जर्मनी के 3 नागरिक थे। ईरान की फार्स न्यूज एजेंसी के मुताबिक, यूक्रेन एयरलाइंस का विमान तेहरान से यूक्रेन के कीव जा रहा था।

हादसे की वजह तकनीकी खराबी बताई जा रही है। यूक्रेन के ईरान स्थित दूतावास ने भी कहा था कि बोइंग विमान इंजन फेल होने की वजह से क्रैश हुआ। इसके पीछे आतंकी हाथ नहीं था। हालांकि, कुछ देर बाद ही दूतावास ने नया बयान जारी किया और उससे हादसे की वजह के पीछे इंजन फेल का दावा हटा लिया। कहा गया कि हादसे के पीछे पिछला बयान आधिकारिक नहीं था। जब प्रधानमंत्री ओलेस्की होनचारुक से घटना की वजह के बारे में पूछा गया, तो उन्होंने कहा कि इस बारे में पूरी जानकारी आने से पहले कोई कयास लगाना ठीक नहीं।

यूक्रेन एयरलाइंस ने कहा कि वह अभी हादसे के कारण जानने की हरसंभव कोशिश में जुटी है। जांच में बोइंग, यूक्रेनी और ईरानी अधिकारियों की टीम जुटी है। यह यूक्रेन एयरलाइंस का पहला बड़ा हादसा है।  ‘फ्लाइट रडार 24’ वेबसाइट ने एयरपोर्ट के डेटा के आधार पर बताया कि यूक्रेन के बोइंग 737-800 विमान को स्थानीय समयानुसार सुबह 5:15 पर उड़ान भरनी थी। हालांकि, इसे 6:12 पर रवाना किया गया। उड़ान भरने के कुछ ही देर बाद ही फ्लाइट ने डेटा भेजना बंद कर दिया। एयरलाइन ने इस मामले में अब तक बयान जारी नहीं किया है।

ईरान की इस्ना न्यूज एजेंसी की तरफ से पोस्ट किए गए वीडियो में विमान के अंधेरे में क्रैश होने के बाद धमाका होते देखा जा सकता है। इस्ना ने घटनास्थल की फोटोज भी जारी कीं। इनमें विमान के मलबे को जमीन पर बिखरा देखा जा सकता है।

हादसे की जांच के लिए यूक्रेन विशेषज्ञों की टीम ईरान भेजेगा

यूक्रेन के प्रधानमंत्री ओलेक्सी हॉन्चरुक ने बुधवार को कहा कि हम सर्च ऑपरेशन और घटना की जांच के लिए विशेषज्ञों की टीम ईरान भेजेंगे। जांच टीम घटना के कारणों का पता लगाएगी।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*