लॉकडाउन : अंतरराज्यीय बसें शुरू होगी, होम आइसोलेशन का बंधन होगा समाप्त

रायपुर। कोरोना काल में लोगों को राहत देते हुए राज्य सरकार ने पांच महीने बाद अंतरराज्यीय सीमाएं खाेल दी हैं। अब राज्य में पहले की तरह नेशनल परमिट की गाड़ियां दौड़ेंगी। कोरोना को लेकर तय गाइडलाइन का पालन करना जरूरी होगा। यात्रा के दौरान यात्रियों व ड्राइवर द्वारा धूम्रपान, पान, गुटखा, खैनी खाना और थूकना प्रतिबंधित रहेगा। ड्राइवर के केबिन में प्रवेश वर्जित होगा। बस में केबिन नहीं होने पर प्लास्टिक अथवा पर्दे से केबिन बनाकर यात्रियों से अलग रखा जाएगा। यात्रियों का रिकाॅर्ड रखना होगा।

प्रदेश में कितने मरीजों को होम आइसोलेशन दिया जाना है, यह बंधन स्वास्थ्य विभाग ने खत्म कर दिया है। अर्थात, कलेक्टर संबंधित संक्रमित के घर में पर्याप्त इंतजाम रहने पर होम आइसोलेशन की अनुमति दे सकेंगे और इसके लिए जिले में संक्रमितों की संख्या की सीमा नहीं रहेगी।

स्वास्थ्य सचिव निहारिका बारिक सिंह ने कलेक्टरों को नए दिशा-निर्देशों के अनुरूप होम आइसोलेशन की अनुमति देने कहा है। यह भी कहा गया है कि मरीज को रहने संबंधी सारे मापदंड और शर्तें पूरी करनी हो‌ंगी। स्वास्थ्य विभाग ने कुछ अरसा पहले होम आइसोलेशन के लिए हर जिले में मरीजों की संख्या निर्धारित की थी। ताजा आदेश में संख्या का यही बंधन हटाया गया है।