Sunday, September 26संस्थापक, प्रधान संपादक, स्वामी श्री नवनीत जगतरामका जी
Shadow

रायपर : स्वास्थ्य सेवाओं के विस्तार पर दें विशेष ध्यान: गुरू रूद्रकुमार

लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी एवं ग्रामोद्योग मंत्री गुरू रूद्रकुमार ने आज अपने प्रभार वाले जिले कांकेर की जिला खनिज संस्थान न्यास निधि शासी परिषद की वर्चुअल बैठक ली। मंत्री गुरू रूद्रकुमार ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की मंशा के अनुरूप राज्य में कोविड-19 के संभावित तीसरे चरण के मद्देनजर स्वास्थ्य सेवाओं के विस्तार पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है।

उन्होंने जिले में बच्चों के ईलाज के लिए आवश्यक संसाधन सहित चिकित्सा विशेषज्ञों एवं अधीनस्थ अमलों की नियुक्ति किए जाने और आपातकालीन स्थिति से निपटने के लिए सभी तैयारी रखने के निर्देश दिए। तृतीय फेस के आने के पहले ही ईलाज की सभी तैयारी कर लिया जावे तथा बच्चों के ईलाज के लिए सभी स्वास्थ्य सुविधाओं को और अधिक विस्तारित किया जाए।

इस अवसर पर कलेक्टर श्री चन्दन कुमार ने कोरोना नियंत्रण के लिए जिले में किये जा रहे उपायों की जानकारी देते हुए बताया कि कोविड-19 नियंत्रण हेतु जिले में 165 टेस्टिंग टीम गठित की गई हैै। जिला मुख्यालय कांकेर में दो डेडीकेटेड कोविड हॉस्पिटल और सभी विकासखण्डों में कोविड केयर सेंटर स्थापित किया गया है, जहां पर ऑक्सीजन बेड, एचडीओ बेड, आईसीयू सहित सामान्य बेड की व्यवस्था की गई है। वर्तमान में अधिकांश बेड खाली हैं। पहले की तुलना में कोरोना के प्रकरणों में लगातार कमी आई है।

उन्होंने टीकारकण के संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि जिले में 18 से 44 वर्ष आयु वर्ग के लोगों का टीकाकरण कार्य में तेजी आयी है। अब तक 16 हजार 84 व्यक्तियों का टीकाकरण किया जा चुका है तथा 45 वर्ष एवं उससे अधिक आयु वर्ग के 93 प्रतिशत व्यक्तियों द्वारा प्रथम डोज तथा 14 प्रतिशत लोगों के द्वारा दूसरे डोज का टीका लगवाया जा चुका है।

वर्चुअल बैठक के दौरान विधानसभा उपाध्यक्ष श्री मनोज मण्डावी, सांसद श्री मोहन मण्डावी, संसदीय सचिव एवं कांकेर विधानसभा क्षेत्र के विधायक श्री शिशुपाल शोरी, अंतागढ़ विधानसभा क्षेत्र के विधायक श्री अनूप नाग और जिला पंचायत अध्यक्ष श्री हेमंत ध्रुव ने जिले में विकास कार्यों और कोविड-19 नियंत्रण के लिए अपने-अपने सुझाव दिए और जिला प्रशासन कांकेर द्वारा कोरोना नियंत्रण के लिए किये जा रहे प्रयासों की सराहना की।

उनके द्वारा खनिज संस्थान न्यास निधि के दिशा-निर्देशों के अनुरूप उच्च प्राथमिकता के क्षेत्र स्वास्थ्य, शिक्षा एवं सुपोषण आदि पर अधिक से अधिक निधि की राशि को व्यय किये जाने का प्रस्ताव दिया गया। जिस पर मंत्री गुरू रूद्रकुमार ने डीएमएफ फंड की राशि से जिले के स्थानीय विधायकों को अन्य आवश्यक विकास कार्यों के लिए 50-50 लाख रूपए देने की घोषणा की।

इस वर्चुअल बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ. संजय कन्नौजे, अपर कलेक्टर एस.पी. वैद्य, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.जे.एल. उईके तथा आदिवासी विकास विभाग के उपायुक्त माखनसिंह धु्रव भी उपस्थित थे।

पोर्टल/समाचार पत्र विज्ञापन हेतु संपर्क : +91-9229705804
Advertise with us