गरियाबंद: 28 बंधक श्रमिकों एवं 05 बच्चों को जिला प्रशासन द्वारा छुड़ाया गया, कलेक्टर द्वारा संयुक्त टीम का गठन कर की गई कार्यवाही

गरियाबंद | जिले से पलायन किये गए 28 श्रमिक और 5 बच्चों को जिला प्रशासन द्वारा छुड़ाकर सकुशल वापस लाया गया है। तेलंगाना राज्य के जिला पेद्दापल्ली एवं तमिलनाडु के जिला-सेलम मे काम करने गए मजदूरों को बंधक बनाकर काम कराया जा रहा था। उनके सुरक्षित वापसी के लिए कलेक्टर श्याम धावड़े द्वारा श्रम विभाग, पुलिस विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग, जिला बाल संरक्षण इकाई तथा पंचायत सचिव की संयुक्त जिला स्तरीय टीम का गठन किया गया था।

गठित टीम 01 जनवरी को रवाना हुई। संयुक्त टीम द्वारा ईट भठ्ठा पेद्दापल्ली मे रेस्क्यू किया गया जहां से 21 मजदूर काम करते पाये गए उनके साथ 05 बच्चे भी थे। ये श्रमिक जिला गरियाबंद के ग्राम डुमरबाहरा एवं दांतबाय के रहने वाले थे। जिन्हे 03 जनवरी 2020 को सायं 07ः00 बजे टीम द्वारा विमुक्त कराया गया।

जिला बाल सरक्षण अधिकारी ने बताया कि गठित टीम तमिलनाडु के जिला सेलम के लिये 04 जनवरी 2020 को बंधक श्रमिकों को विमुक्त करवाने हेतु रवाना हुई। यह टीम 05 जनवरी को सेलम मे कार्यस्थल पर पहुचकर 07 बंधक श्रमिकों को विमुक्त कराया। 8 जनवरी  को 07 बंधक श्रमिकों को छुड़ाकर उनके गृह ग्राम फिंगेश्वर विकासखंड अंतर्गत ग्राम जेंजरा में सकुशल वापस लाया गया। जिला सेलम तमिलनाडु मे बंधक 07 श्रमिकों मे से उनके परिश्रम के एवज मे 06 श्रमिकों को प्रति श्रमिक 21 हजार  रूपये एवं 01 श्रमिक को 16 हजार रूपये नियोक्ता से विमुक्त श्रमिकों को दिलवाया गया है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*