Saturday, July 24संस्थापक, प्रधान संपादक, स्वामी श्री नवनीत जगतरामका जी
Shadow

रायपुर : कोरोना संकटकाल में चिकित्सकों की सेवाओं को हमेशा याद रखा जाएगा: मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल

मुख्यमंत्री श्री बघेल ने आज नेशनल-डॉक्टर्स-डे के अवसर पर सभी चिकित्सकों को बधाई और शुभकामनाएं देते हुए राज्य की जनता की ओर से कोरोना संकटकाल में उनकी निःस्वार्थ सेवाओं के लिए आभार व्यक्त किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना के इस संकटकाल में कोरोना संक्रमितों के जीवन की रक्षा के लिए आप लोगों के संघर्ष को हमेशा याद रखा जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान हम सब ने देखा कि आप लोगों ने अपनी और अपने परिजनों के कष्टों की परवाह किए बिना पीड़ित मानवता की सेवा की है।

मुख्यमंत्री श्री बघेल आज यहां उनके निवास कार्यालय में आयोजित डॉक्टर्स-डे के अवसर पर वर्चुअल कार्यक्रम को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने इस मौके पर कोविड-19 महामारी के दौरान छत्तीसगढ़ राज्य में कोरोना संक्रमितों के जीवन की रक्षा में उल्लेखनीय योगदान देने वाले राज्य के शासकीय और निजी चिकित्सालयों के 22 डॉक्टरों को सम्मानित किया। कार्यक्रम का आयोजन इंडियन मेडिकल एसोसिएशन छत्तीसगढ़ इकाई द्वारा किया गया। कार्यक्रम के शुरुआत में मुख्यमंत्री ने भारत रत्न डॉ. विधानचंद्र राय के चित्र पर श्रद्धा-सुमन अर्पित कर उनके योगदान को याद किया।

मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि छत्तीसगढ़ में चिकित्सा-अधोसंरचना को और सुदृढ़ करने के लिए तुरंत कदम उठाए जाने की जरूरत है। इसीलिए गांवों से लेकर शहरों तक सभी शासकीय अस्पतालों को हर जरूरी सुविधाओं से लैस किया जा रहा है। ग्रामीण-क्षेत्रों में चिकित्सकों की कमी को दूर करने के लिए भी कदम उठाए जा रहे हैं। अब इन क्षेत्रों में और भी अधिक संख्या में विशेषज्ञ-चिकित्सकों की नियुक्ति की जाएगी। गांवों के सरकारी-अस्पतालों में तो बेहतरीन सुविधाएं होंगी ही, हम निजी-क्षेत्र को भी गांवों में अपने अस्पताल स्थापित करने के लिए प्रोत्साहित कर रहे हैं। रायपुर में विश्वस्तरीय चिकित्सा-सुविधा विकसित करने के लिए भी निजी-क्षेत्र की क्षमताओं का उपयोग किया जाएगा। नवा-रायपुर में ऐसी ही सुविधाओं वाले निजी-क्षेत्र के अस्पताल की स्थापना के लिए 25 एकड़ जमीन आरक्षित की जा रही है।

कार्यक्रम से वर्चुअल रूप से जुड़े स्वास्थ्य मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव ने कहा कि कोरोना संकटकाल में चिकित्सकों ने मानवता की पूरी निष्ठा और लगन के साथ निस्वार्थ भाव से सेवा की है। उन्होंने कहा कि चिकित्सकों को समाज में ईश्वर तुल्य माना जाता है। चिकित्सक लोगों के जीवन की रक्षा में हमेशा योगदान देते रहेंगे। कोरोना महामारी के लोगों की जीवन की रक्षा की लड़ाई लड़ते हुए अपने प्राणों की आहुति देने वाले चिकित्सकों को कार्यक्रम के दौरान दो मिनट का मौन धारण कर विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित की गई। कार्यक्रम में यह जानकारी दी गई कि इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के हेडक्वाटर द्वारा कोविड वरियर के रूप में छत्तीसगढ़ के छह चिकित्सकों डॉ. राकेश गुप्ता, डॉ. सिद्धार्थ वर्मा, डॉ. मनदीप टुटेजा, डॉ. नवीन दुलहानी, डॉ. आर.के. खंडवाल और डॉ. शैलेन्द्र गुप्ता को सम्मानित किया गया है। हॉस्पिटल बोर्ड छत्तीसगढ़ के अध्यक्ष डॉ. राकेश गुप्ता ने डॉ. विधानचंद्र राय के व्यक्तित्व और कृर्तत्व की विस्तार से जानकारी दी।

मुख्यमंत्री निवास कार्यालय में छत्तीसगढ़ खनिज विकास निगम के अध्यक्ष श्री गिरीश देवांगन, मुख्यमंत्री के सलाहकार श्री प्रदीप शर्मा, इंडियन मेडिकल एसोसिएशन छत्तीसगढ़ के अध्यक्ष डॉ. महेश कुमार सिन्हा, हॉस्पिटल बोर्ड छत्तीसगढ़ के अध्यक्ष डॉ. राकेश गुप्ता सहित इंडियन मेडिकल एसोसिएशन की रायपुर इकाई के अध्यक्ष डॉ. विकास अग्रवाल, सचिव डॉ. आशा जैन सहित अन्य पदाधिकारी भी उपस्थित थे।

पोर्टल/समाचार पत्र विज्ञापन हेतु संपर्क : +91-9229705804
Advertise with us