Thursday, November 25संस्थापक, प्रधान संपादक, स्वामी श्री नवनीत जगतरामका जी
Shadow

chhattisgarh

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल : संत कबीर की वाणी को अपने जीवन में उतारने की जरूरत

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल : संत कबीर की वाणी को अपने जीवन में उतारने की जरूरत

chhattisgarh
मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कहा है कि संत कबीर की महिमा छत्तीसगढ़ के कण-कण में व्याप्त है। संत कबीर प्रेम, सामाजिक समरता और मानवता के कवि थे, वे एक समाज सुधारक भी थे, जिन्होंने सामाजिक कुरीतियों पर कठोरता से प्रहार किया। उनके मानने वाले हर जाति, हर धर्म के लोग हैं। उन्होंने कहा कि संत कबीर 650 साल पहले आये थे, लेकिन उनके संदेश आज भी समसामयिक हैं। उनकी वाणी को अपने जीवन में उतारने की जरूरत है। पत्रकारिता विश्वविद्यालय परिसर में बनेगा भव्य संत कबीर द्वार: मुख्यमंत्री ने किया शिलान्यास मुख्यमंत्री श्री बघेल ने आज यहां अपने निवास कार्यालय में संत कबीर जयंती पर आयोजित वर्चुअल कार्यक्रम को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने इस कार्यक्रम में कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता एवं जन संचार विश्वविद्यालय रायपुर के प्रशासनिक भवन के गेट का नामकरण संत कबीर के नाम पर किया और संत कबीर द्वार का शिलान्यास किया। ...
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल : खाद की जमाखोरी करने वालों को ब्लैकलिस्टेड करें

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल : खाद की जमाखोरी करने वालों को ब्लैकलिस्टेड करें

chhattisgarh
मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ राज्य को कोटे के अनुरूप यूरिया और डीएपी की आपूर्ति न होने तथा जमाखोरी की रोकथाम हेतु तत्काल कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। उन्होंने रासायनिक खाद की आपूर्तिकर्ता कंपनियों को राज्य को आवंटित मात्रा के अनुरूप यूरिया और डीएपी खाद की आपूर्ति सुनिश्चित करने तथा कृषि विभाग के अधिकारियों को होलसेलर और रिटेलर के स्टॉक को चेक कर जमाखोरी करने वालों को ब्लैक लिस्टेड करने को कहा है। मुख्यमंत्री ने सभी होलसेलर के पास मौजूद यूरिया और डीएपी खाद को तत्काल रिटेलरों को ट्रांसफर कराने के भी निर्देश दिए गए हैं । मुख्यमंत्री के निर्देश के परिपालन में कल 23 जून को रायपुर में सहकारी विपणन संघ के प्रबंध संचालक और अपर संचालक कृषि ने उर्वरक प्रदायक कंपनियों, होलसेलर और रिटेलर की संयुक्त बैठक ली। उन्होंने अप्रैल से जून माह तक के लिए छत्तीसगढ़ राज्य को आबंटित कोटे के अनुरूप यू...
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल : सभी गौठानों में पशुओं के लिए हरे चारे का हो प्रबंध

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल : सभी गौठानों में पशुओं के लिए हरे चारे का हो प्रबंध

chhattisgarh
मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने सुराजी गांव योजना के तहत निर्मित गौठानों में अनिवार्य रूप से चारागाह विकसित करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि गौठानों में आने वाले पशुओं को सूखे-चारे के साथ-साथ हरा चारा की भी व्यवस्था होनी चाहिए। इसके लिए उन्होंने सभी जिलों के कलेक्टरों को गौठान समितियों के माध्यम से गौठानों में चारागाह के लिए सुरक्षित भूमि में नेपियर घास सहित ज्वार, बाजरा, मक्का आदि की बुआई सुनिश्चित करवाने को कहा है। चारागाह विकास का काम गौठान समितियों के पास उपलब्ध राशि किया जा सकेगा। कृषि एवं पशुपालन विभाग द्वारा भी चारागाह विकास के कार्य में गौठान समितियों को आवश्यक मार्गदर्शन एवं मदद दी जाएगी। गौरतलब है कि सुराजी गांव योजना के तहत राज्य में 10 हजार से अधिक गौठानों के निर्माण की स्वीकृति दी गई हैै, जिसमें से 5600 से अधिक गौठान निर्मित हो चुके हैं। गौठान समितियों पशु चिकित्सा व...
मुख्यमंत्री ने वीरांगना रानी दुर्गावती के बलिदान दिवस पर उनके चित्र पर माल्यार्पण कर उन्हें नमन किया

मुख्यमंत्री ने वीरांगना रानी दुर्गावती के बलिदान दिवस पर उनके चित्र पर माल्यार्पण कर उन्हें नमन किया

chhattisgarh
मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने वीरांगना रानी दुर्गावती के बलिदान दिवस पर आज यहां अपने निवास कार्यालय में उनके चित्र पर माल्यार्पण कर नमन किया। इस अवसर पर गृह मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू, कृषि मंत्री श्री रविंद्र चौबे, राज्य खनिज विकास निगम के अध्यक्ष श्री गिरीश देवांगन उपस्थित थे। श्री बघेेल ने इस अवसर पर अपने सन्देश में कहा है कि रानी दुर्गावती भारत की उन वीरांगनाओं में से एक हैं, जिन्होंने अपने शौर्य और साहस से वीरता की एक नई इबारत लिखी। उन्होंने अपने पति की मृत्यु के बाद न सिर्फ गोंडवाना साम्राज्य को सम्हाला बल्कि अपनी कुशलता से उसे सम्पन्न भी बनाया। रानी दुर्गावती ने मातृभूमि एवं आत्मसम्मान की रक्षा के लिए अपने प्राण तक न्यौछावर कर दिए। उनका साहस और बलिदान हमेशा देशवासियों को प्रेरित करता रहेगा।...
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल : तन और मन दोनो स्वस्थ्य होने से हम किसी भी विपरीत परिस्थति का कर सकते हैं सामना

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल : तन और मन दोनो स्वस्थ्य होने से हम किसी भी विपरीत परिस्थति का कर सकते हैं सामना

chhattisgarh
मुख्यमंत्री श्री बघेल ने अपने संदेश में कहा है कि योग हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण है। नियमित रूप से योग करने वाले हमेशा निरोगी रहते है और कोरोना काल में यह स्पष्ट हो गया है कि केवल धन -संपदा ही महत्वपूर्ण नही है, बल्कि स्वस्थ्य तन और स्वस्थ्य मन दोनो की आवश्यकता होती है। इसलिए तंदुरूस्त रहने के लिए नियमित योग बहुत जरूरी है। योग हमारी प्राचीन परंपरा है। हमारे ऋषि-मुनियों ने इसके महत्व बहुत पहले से ही जान लिया था इसलिए योग नियमित करते थे। बीच मे हम सब भौतिक भाग-दौड़ में इसे भूल गए थे। लेकिन कोरोना काल ने हम सब को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक किया और ऐसे समय में यदि हम सब नियमित रूप से योग करें तो तन भी स्वस्थ्य रहेगा और मन भी स्वस्थ्य रहेगा। आपके जीवन में सकारात्मकता आएगी। इसलिए योग नियमित करें, इसका लाभ उठाएं। पूरे परिवार सहित पूरे छत्तीसगढ़ के लोग इसे अपनाएं। श्री बघेल ने कहा कि तन और मन दोनो ...
’मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से कहा- पर्यटकों को अपनी संस्कृति से परिचित कराते हुए गर्व होता है’

’मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से कहा- पर्यटकों को अपनी संस्कृति से परिचित कराते हुए गर्व होता है’

chhattisgarh
बस्तर में पर्यटन के जरिये स्थानीय लोगों को न सिर्फ रोजगार मिल रहा है, बल्कि वे पर्यावरण को बचाए रखने की मुहिम में भी शामिल हो रहे हैं। ऐसे ही कामों से जुड़े बस्तर के नौजवानों ने आज मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल से कहा कि पर्यटकों के अपने खान-पान, रीति-रिवाज और कला-परंपराओं से परिचित कराते हुए उन्हें गर्व होता है। बस्तर, सुकमा और बीजापुर जिलों में विकास कार्यों के लोकार्पण और भूमिपूजन कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री ने इन नौजवानों से बातचीत की। तिरखा बस्तर पर्यटन समूह में काम कर रही खीरमणि कश्यप ने बताया कि उनका समूह बस्तर में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए कार्यरत है। समूह के सदस्य पर्यटकों को कैंपिंग के दौरान स्थानीय एवं पारंपरिक खाद्य और पेय जैसे चापड़ा चटनी, बासता, बोड़ा, मड़िया और पेज पिलाते हैं। पर्यटक इन पारंपरिक खाद्यों को बहुत पसंद करते हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री से कहा कि आदिवासी-संस्क...
‘योग करबो-स्वस्थ रहिबो’ : अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर छत्तीसगढ़ में 10 लाख से अधिक लोगों ने किया योगाभ्यास

‘योग करबो-स्वस्थ रहिबो’ : अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर छत्तीसगढ़ में 10 लाख से अधिक लोगों ने किया योगाभ्यास

chhattisgarh
सातवें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर छत्तीसगढ़ में योग के प्रति जबरदस्त उत्साह देखा गया। राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके, मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल, मंत्रीगण, विधायकगण, जनप्रतिनिधियों, गणमान्य नागरिकों के साथ ही विभिन्न विभागों के अधिकारी-कर्मचारी सहित बड़ी संख्या में जनसामान्य द्वारा विभिन्न स्थलों पर कोविङ-19 के संक्रमण की रोकथाम हेतु जारी दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए योगाभ्यास किया गया। इस अवसर पर समाज कल्याण विभाग और योग आयोग द्वारा आयोजित वर्चुअल योग मैराथन में ‘योग करबो-स्वस्थ्य रहिबो‘ सूत्र वाक्य के साथ 10 लाख 41 हजार 595 लोगों ने इसमें शामिल होकर एक रिकार्ड कायम किया। इसके साथ ही योग दिवस के अवसर पर समाज कल्याण मंत्री श्रीमती अनिला भेंड़िया, राज्य सभा सांसद श्रीमती छाया वर्मा, छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष डॉ. किरणमयी नायक और संचालक समाज कल्याण श्री पी. दयानंद ने योग गुरू श्...
मुख्यमंत्री  ने 2.34 करोड़ के अत्याधुनिक फायर स्टेशन और एसडीआरएफ हब का किया लोकार्पण

मुख्यमंत्री ने 2.34 करोड़ के अत्याधुनिक फायर स्टेशन और एसडीआरएफ हब का किया लोकार्पण

chhattisgarh
मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने आज अपने रायपुर निवास कार्यालय में आयोजित वर्चुअल कार्यक्रम में संभागीय मुख्यालय जगदलपुर में एक करोड़ 33 लाख 95 हजार रूपए की लागत से निर्मित आधुनिक फायर स्टेशन और एक करोड़ रूपए की लागत से निर्मित एसडीआरएफ हब (स्टोर एवं बैरक) का लोकार्पण किया गया। इस अवसर पर गृह मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू भी उपस्थित थे। इस अत्याधुनिक फायर स्टेशन तथा एसडीआरएफ के निर्माण से बस्तर संभाग में आपदा संबंधी बचाव कार्यों को गति मिलने के साथ ही आपदा प्रबंधन क्षमता में वृद्धि होगी। उल्लेखनीय है कि कोविड 19 के दौरान भी रिकॉर्ड समय में निर्माण कार्य पूर्ण किया गया। इस निर्माण कार्य के लिए समय-समय पर निदेशक तथा अतिरिक्त महानिदेशक नगर सेना अग्निशमन एवं एसडीआरएफ का मार्गदर्शन मिलता रहा। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने जिला सेनानी एवं जिला अग्निशमन अधिकारी श्री संतोष मार्बल की पूरी टीम को बधाई दी है।...