Saturday, November 27संस्थापक, प्रधान संपादक, स्वामी श्री नवनीत जगतरामका जी
Shadow

chhattisgarh

लखीमपुर खीरी में मारे गए किसानों और पत्रकार के परिजनों को 50-50 लाख रुपए देगी छग सरकार

लखीमपुर खीरी में मारे गए किसानों और पत्रकार के परिजनों को 50-50 लाख रुपए देगी छग सरकार

chhattisgarh, india
उत्तर प्रदेश में चार किसानों और एक पत्रकार की जीप से कुचल कर की गई हत्या के दर्द पर छत्तीसगढ़ भी मरहम लगाएगा। छत्तीसगढ़ सरकार इन पांच मृतकों के परिवार को 50 - 50 लाख रुपए का मुआवजा देगी। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बुधवार को लखनऊ हवाई अड्‌डे पर इसकी घोषणा की। कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ दोपहर बाद लखनऊ पहुंचे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को स्थानीय प्रशासन ने एक बार फिर रोक लिया था। पुलिस अधिकारी राहुल गांधी और दोनों मुख्यमंत्रियों को पुलिस की गाड़ी से लखीमपुर ले जाना चाहते थे। इसकी वजह से विवाद की स्थिति बनी। राहुल गांधी ने पुलिस की गाड़ी से जाने से इनकार कर दिया। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, अगर प्रशासन हमें जाने की अनुमति दे रहा है तो हम सिर्फ अपनी गाड़ियों में जाएंगे, किसी कैद में नहीं। उसके बाद सभी लोग हवाई अड्‌डे के भीतर ही धरना देकर बैठ गए। बाद में सरकार झुकी। कांग...
लखीमपुर मामला : राहुल गांधी के साथ सीतापुर पहुंचने वाले हैं मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, कांग्रेस नेतृत्व के हठयोग के आगे झुकी योगी सरकार

लखीमपुर मामला : राहुल गांधी के साथ सीतापुर पहुंचने वाले हैं मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, कांग्रेस नेतृत्व के हठयोग के आगे झुकी योगी सरकार

chhattisgarh, india
छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और कांग्रेस नेतृत्व के हठयोग के सामने आखिरकार उत्तर प्रदेश की योगी सरकार झुक गई है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और पंजाब के CM चरणजीत सिंह चन्नी वाले प्रतिनिधि मंडल को लखीमपुर खीरी जाने की अनुमति मिल गई है। राहुल गांधी का काफिला थोड़ी देर में सीतापुर पहुंचने वाले है। सरकार ने तीन दिनों की हिरासत के बाद प्रियंका गांधी को रिहा कर दिया है। सीतापुर में राहुल गांधी को लेकर राहुल गांधी का काफिला लखीमपुर की ओर जाएंगे। हवाई अड्‌डे जाने से पहले राहुल गांधी ने मीडिया से बात की। उन्होंने कहा, वे एक छोटे प्रतिनिधिमंडल के साथ लखीमपुर खीरी जाना चाहते हैं। उनका कहना था, वहां से अभी तक सही तथ्य निकलकर नहीं आ पाए हैं, जिनका सामने आना जरूरी है। उनकी योजना हिंसा में मारे गए किसानों के परिजनों से मुलाकात करने की है। उनके साथ पार्टी के...
कवर्धा में हुए हिंसक तनाव को देखते हुए 3 जिलों में इंटरनेट बंध, कइयों की हुई गिरफतारी

कवर्धा में हुए हिंसक तनाव को देखते हुए 3 जिलों में इंटरनेट बंध, कइयों की हुई गिरफतारी

chhattisgarh, india
छत्तीसगढ़ के कवर्धा जिले में अभी भी स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है। मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए प्रशासन ने कवर्धा में देर रात करीब 12 बजे इंटरनेट सेवाएं बंद कर दीं। इसके बाद पड़ोसी जिलों बेमेतरा और राजनांदगांव में भी इंटरनेट बंद करा दिया गया है। आशंका है कि भड़काऊ पोस्ट की शेयरिंग को देखते हुए निर्णय लिया गया है। वहीं पुलिस टीमें वीडियो और फोटो के आधार पर दंगाइयों की पहचान करने में जुटी हैं। अब तक 70 लोगों की पहचान की जा चुकी है। इसमें से 59 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। उपद्रव फैलाने, हिंसा भड़काने और तोड़फोड़ को लेकर तीन अलग-अलग FIR दर्ज की गई हैं। अफसरों का कहना है कि हिंसा सुनियोजित थी। इसके लिए अलग-अलग जिलों से लोगों को बुलाया गया था। तीन दिन पहले झंडा लगाने को लेकर शुरू हुए विवाद ने हिंसा का रूप ले लिया था। इसकी शुरुआत मंगलवार को विश्व हिंदू परिषद (VHP) की ओर से बुलाए गए बंद और रैली स...
डोंगरगढ़ नवरात्री यात्रा : श्रद्धालुओं के लिए वैक्सीन सर्टिफिकेट होगा अनिवार्य, दूसरे शहर के लोग नहीं कर सकेंगे बम्लेश्वरी की पदयात्रा

डोंगरगढ़ नवरात्री यात्रा : श्रद्धालुओं के लिए वैक्सीन सर्टिफिकेट होगा अनिवार्य, दूसरे शहर के लोग नहीं कर सकेंगे बम्लेश्वरी की पदयात्रा

chhattisgarh, india
छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले के रतनपुर स्थित मां महामाया के दर्शन इस बार हो सकेंगे। मंदिर कमेटी ने इस संबंध में फैसला लिया है, लेकिन इसके लिए कड़ाई से कोविड नियमों का पालन करना होगा। खासकर मंदिर दर्शन करने वाले लोगों को वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट दिखाना अनिवार्य होगा। वहीं राजनांदगांव जिले के डोंगरगढ़ स्थित मां बम्लेश्वरी के दर्शन के लिए दूसरे शहर के लोग पैदल यात्रा नहीं कर सकेंगे। मां महामाया मंदिर दर्शन के लिए मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष आशीष सिंह ठाकुर और मैनेजिंग ट्रस्टी सुनील सोनथलिया ने आदेश जारी किया है। इस आदेश में कहा गया है कि दर्शन के लिए वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट दिखाना अनिवार्य होगा। यदि किसी भक्त के पास सर्टिफिकेट नहीं है तो वे कोरोना की RTPCR निगेटिव रिपोर्ट भी दिखा सकते हैं। श्रद्धालु मंदिर में माला, प्रसाद आदि निर्धारित स्थान में जमा कर काउंटर से प्रसाद प्राप्त कर सकेंगे। नवरात्र में सुबह...
रायपुर : ई-कोर्ट के बेहतर प्रसार एवं क्रियान्वयन के लिए छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट को मिला सिल्वर अवार्ड

रायपुर : ई-कोर्ट के बेहतर प्रसार एवं क्रियान्वयन के लिए छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट को मिला सिल्वर अवार्ड

chhattisgarh, india
ई-कोर्ट प्रोजेक्ट के बेहतर प्रसार एवं क्रियान्वयन के लिए नेशनल इंफरमेशन सेंटर (एनआईसी) के डायरेक्टर जनरल की ओर से छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट को सिल्वर अवार्ड प्रदान किया गया है। भारत सरकार राष्ट्रीय सूचना एवं विज्ञान केन्द्र द्वारा ई-कोर्ट, ई-हॉस्पिटल, ई-ऑफिस, सर्विस प्लस आदि सात प्रोजेक्ट पर अवार्ड दिए गए है। जिसमें छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट में संचालित ई-कोर्ट प्रोजेक्ट को यह अवार्ड प्रदान किया गया है। अवार्ड समारोह 1 अक्टूबर को वर्चुअली आयेाजित किया था। छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट की इस उपलब्धि में कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश श्री प्रशांत कुमार मिश्रा का सतत् मार्गदर्शन एवं प्रोत्साहन रहा। हाईकोर्ट कम्प्यूटराईजेशन कमेटी के चेयरमेन जस्टिस मुनीन्द्र मोहन श्रीवास्तव, रजिस्टार जनरल, रजिस्टार कम्प्यूटराईजेशन एवं हाईकोर्ट के सभी तकनीकी अधिकारी कर्मचारी का भी उल्लेखनीय सहयोग रहा। छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट में एनआईसी के प्रभ...
रायपुर : ई-श्रम पोर्टल में असंगठित श्रमिकों का होगा पंजीयन

रायपुर : ई-श्रम पोर्टल में असंगठित श्रमिकों का होगा पंजीयन

chhattisgarh, Education & Jobs
मुख्य सचिव श्री अमिताभ जैन की अध्यक्षता में असंगठित श्रमिकों के पंजीयन के निगरानी हेतु गठित राज्य स्तरीय सतर्कता समिति की पहली बैठक वीडियो कॉन्फ्रेंंिसंग के माध्यम से आज यहां मंत्रालय महानदी भवन में सम्पन्न हुई। मुख्य सचिव श्री जैन ने निर्देश दिए कि असंगठित श्रमिकों का पंजीयन अक्टूबर माह तक पूरे कर लिए जाए और इसकी जानकारी भारत सरकार को प्रेषित की जाए। असंगठित श्रमिकों के पंजीयन के लिए पंचायत विभाग, स्वास्थ्य विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग, शिक्षा विभाग एवं अन्य विभागों से समन्वय स्थापित कर पंजीयन के कार्य को समय पर पूरा करने कहा गया है। श्री जैन ने कहा है कि शासकीय विभागों में कार्यरत असंगठित श्रमिकों का पंजीयन भी किए जाएंगे। उन्होंने श्रमिकों संघों, संगठन, फेडरेशन, सामाजिक संस्थाओं के सदस्यों को असंगठित श्रमिकों को इस हेतु प्रेरित करने कहा है। उन्होंने व्यापक प्रचार प्रसार के माध्यम ...
मुख्यमंत्री ने 3 घंटे तक लखनऊ एयरपोर्ट पर धरना दिया, बाहर निकलने की इजाजत नहीं मिली, वापस दिल्ली गए

मुख्यमंत्री ने 3 घंटे तक लखनऊ एयरपोर्ट पर धरना दिया, बाहर निकलने की इजाजत नहीं मिली, वापस दिल्ली गए

chhattisgarh, india
उत्तर प्रदेश की सरकार ने छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को लखनऊ हवाईअड्‌डे से वापस लौटा दिया है। मुख्यमंत्री वापस दिल्ली जा रहे हैं, जहां अगली रणनीति तय होगी। भूपेश बघेल 2 बजे के करीब लखनऊ हवाई अड्‌डे पहुंचे थे। वहां से बाहर निकलने की इजाजत नहीं मिली तो फर्श पर ही धरने पर बैठ गए। वहीं से उन्होंने जूम एप के जरिए पत्रकारों से चर्चा भी की। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, वे जब हवाई अड्‌डे से निकल रहे थे तो पुलिस ने उन्हें रोक लिया। कहा गया धारा-144 लगी है, इसलिए वे हवाई अड्‌डे से बाहर नहीं निकल सकते। मैंने उनसे पूछा कि धारा-144 तो लखीमपुर में लगी है, लखनऊ में प्रदेश कांग्रेस के दफ्तर जाने से कैसे रोका जा सकता है। अधिकारियों ने कहा- लखनऊ में भी धारा-144 लगी है। मैंने पूछा कि जब यहां धारा-144 लगी है तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कार्यक्रम कैसे हो गया। उसके बाद अधिकारियों के पास कोई जवाब ...
रायपुर : देश के पर्यटन नक्शे में नयी संभावनाओं के साथ उभरकर सामने आएंगे सरगुजा संभाग के सीतामढ़ी-हरचौका और रामगढ़

रायपुर : देश के पर्यटन नक्शे में नयी संभावनाओं के साथ उभरकर सामने आएंगे सरगुजा संभाग के सीतामढ़ी-हरचौका और रामगढ़

chhattisgarh, india
छत्तीसगढ़ शासन की महत्वाकांक्षी परियोजना राम वन गमन पर्यटन परिपथ विकास के तहत पहले चरण में जिन 9 स्थलों का चयन कर उन्हें पर्यटन तीर्थ के र...
विशेष लेख : कौशल्या के राम से है छत्तीसगढ़ का गहरा नाता : आज भी लोग भांजे में देखते हैं प्रभु राम की छवि

विशेष लेख : कौशल्या के राम से है छत्तीसगढ़ का गहरा नाता : आज भी लोग भांजे में देखते हैं प्रभु राम की छवि

chhattisgarh, india
छत्तीसगढ़ की अस्मिता के प्रतीक माता कौशल्या के पुत्र भगवान श्री राम का भांजा के स्वरूप में गहरा नाता हैै। इसका जीता-जागता उदाहरण है, छत्तीसगढ़ में सभी जाति समुदाय के लोग बहन के पुत्र को भगवान के प्रतिरूप अर्थात भांजा मानकर उनका चरण पखारते हैं। मोक्ष की प्राप्ति के लिए प्रभु श्रीराम से कामना करते हैं। यह और भी  प्रबल तब होता है, जब गांव-शहर-कस्बा कहीं भी हो कोई भी जाति अथवा समुदाय के हो मांमा-भांजा के बीच के रिश्ते को पूरी आत्मीयता के साथ निभाया जाता है। मांमा के साथ किसी भांजे का यह रिश्ता कई बार माता-पिता के लिए पुत्र से भी ज्यादा घनिष्ठ स्वरूप में दिखाई पड़ता है। त्रेतायुग में जब छत्तीसगढ़ का प्राचीन नाम कोसल व दण्डकारण्य के नाम से विख्यात था, तब कोसल नरेश भानुमंत थे। वाल्मिकी रामायण के अनुसार अयोध्यापति युवराज दशरथ के राज्याभिषेक के अवसर पर कोसल नरेश भानुमंत को भी अयोध्या आमंत्रित किया ग...
गरियाबंद : वीएलई छबिलाल खुद को जोखिम में डालकर नदी पार कर पहुंचते हैं आयुष्मान और श्रम कार्ड बनाने

गरियाबंद : वीएलई छबिलाल खुद को जोखिम में डालकर नदी पार कर पहुंचते हैं आयुष्मान और श्रम कार्ड बनाने

chhattisgarh, india
शासन की योजनाओं का लाभ पहुंचाने का ऐसा जुनून है कि अपने गांव से लगभग 25 किलोमीटर दूर उफनती नदी नाले और पगडंडियों को पार करके लोक सेवा केंद्र के ग्रामीण उद्यमी छविलाल विश्वकर्मा लोगों का आयुष्मान कार्ड और ई श्रम कार्ड बना रहे हैं। छबिलाल विश्वकर्मा वैसे तो अपने ग्राम फुलकर्रा, विकाशखण्ड गरियाबंद में ग्रामीण च्वाइस सेंटर चलाते हैं लेकिन आसपास के लोगों की मांग पर उनके गांव जाकर यह सुविधा देते हैं अभी हाल ही में अपने गांव से 25 किलोमीटर दूर ग्राम डूमरबाहरा जाकर उन्होंने शासन की योजनाओं का लाभ दिलाने लोगों के आयुष्मान कार्ड और ई श्रमिक कार्ड बनाएं हैं। शासन की निर्धारित दर पर ही वे यह सुविधा देते हैं। वह अपने साथ लैपटॉप, प्रिंटर, कैमरा और जरूरी अन्य डिवाइस साथ लेकर चलते हैं और विशेष कैंप लगाकर लोगों को यह सुविधा स्थानीय स्तर पर ही मुहैया कराते हैं। दरअसल में शासन द्वारा वर्तमान में आयुष्मान ...