गणेश चतुर्थी कल से, चार फ़ीट से तक की मूर्ति स्थापना की अनुमति, पंडालों में सोशल डिस्टैन्सिंग के निर्देश

ganesh-murti

रायपुर। शनिवार को गणेश चतुर्थी के साथ 10 दिनी उत्सव का श्रीगणेश हो जाएगा। कोरोना ग्रहण के इस दौर में लोगों ने पिछले 4 माह में पड़े त्योहारों को जिस तरह सावधानियों के साये में गुजारा, गणेशोत्सव भी उसी ऐहतियात के साथ मनाना होगा। इसे लेकर जिला प्रशासन ने स्पष्ट गाइडलाइन भी जारी कर दी है जिसमें मूर्ति स्थापना के लिए 26 नियम तय किए गए हैं। पंडालों में बप्पा की विराजना के लिए समितियों को इन शर्तों का पालन करना अनिवार्य होगा।

प्रशासन ने प्रतिमाओं की अधिकतम ऊंचाई 4 फीट तय की है। मूर्तिकारों का अनुमान है कि शहर में करीब 20 हजार से ज्यादा मिट्टी की छोटी प्रतिमाएं बनाई जा चुकी हैं, जिनकी स्थापना 22 अगस्त को घर-पंडालों में की जाएगी। दूसरी ओर सामाजिक संगठन भी ऑनलाइन प्रशिक्षण के जरिए लोगों को घर बैठे मिट्टी की मूरत बनाना सीखा रहे हैं। संगठनों का कहना है कि गणेश पक्ष ऐसा पर्व है जिसका उत्सव लोग अपने ही घर में मना सकते हैं। वह भी 1 या 2 नहीं, बल्कि पूरे 10 दिन तक बच्चों को अपनी संस्कृति से जोड़ने के उद्देश्य से समितियां बच्चों को मिट्‌टी के गणेश बनाने का प्रशिक्षण दे रहीं हैं।

शनिवार को गणेशजी की स्थापना इन चार मुहूर्तों में की जा सकेगी…

  • सुबह 7.34 बजे तक सिंह लग्न में।
  • सुबह 11.56 से 2.11 तक वृश्चिक लग्न
  • शाम 6.05 से 7.39 तक कुंभ लग्न में।
  • रात 10.53 से 12.52 तक वृषभ लग्न।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*