Tuesday, November 12

politics

छत्तीसगढ़: अंतागढ़ टेप कांड – मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का ट्‌वीट, ‘षड्यंत्रकारियों को राजनेता कहना ठीक नहीं’

छत्तीसगढ़: अंतागढ़ टेप कांड – मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का ट्‌वीट, ‘षड्यंत्रकारियों को राजनेता कहना ठीक नहीं’

politics
रायपुर (एजेंसी) | छत्तीसगढ़ में सियासी माहौल बेहद गर्म है। राज्य की राजनीति के प्रमुख चेहरों पर खरीद फरोख्त के दाग लग रहे हैं। इन्हीं राजनेताओं पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने रविवार को सोशल मीडिया में एक पोस्ट साझा की। उन्होंने लिखा कि, अंतागढ़ चुनाव धांधली के बारे में हमारे आरोप सही साबित हुए, लोकतंत्र की हत्या का षडयंत्र हमारी आशंका से ज़्यादा गहरा निकला। मैं इसे राजनीति मानने से इनकार करता हूं और इन सभी षड्यंत्रकारियों को राजनेता कहना ठीक नहीं समझता। शर्मनाक!!! कानून अपना काम करेगा। कांग्रेस ने प्रेस कान्फ्रेंस कर कहा- राजनीति छोड़ें डॉ रमन प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रभारी महामंत्री गिरीश देवांगन, महामंत्री और संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस ली। इन नेताओं ने कहा कि अब रमन सिंह, राजेश मूणत, अजीत जोगी और अमित जोगी को राजनीति छोड़ देनी चाहिए। इससे वर्ष 2014 में
छत्तीसगढ़: मंत्री कवासी लखमा बोले, ‘बड़ा नेता बनना है तो कलेक्टर एसपी का कॉलर पकड़ो’ वीडियो हुआ वायरल

छत्तीसगढ़: मंत्री कवासी लखमा बोले, ‘बड़ा नेता बनना है तो कलेक्टर एसपी का कॉलर पकड़ो’ वीडियो हुआ वायरल

politics
सुकमा (एजेंसी) | छत्तीसगढ़ की सरकार में आबकारी मंत्री कवासी लखमा का एक बयान सुर्खियां बटोर रहा है। मंत्री स्कूली बच्चों को बड़ा नेता बनने के गुर सिखा रहे हैं। मंत्री ने बच्चों से कहा कि बड़ा नेता बनना है तो कलेक्टर - एसपी जैसे अधिकारियों का कॉलर पकड़ो। जब मंत्री जी अपने अंदाज में बच्चों को शिक्षा दे रहे थे तब किसी ने इसका वीडियो बना लिया जो अब  वायरल हो चला है। मंत्री लखमा, सुकमा के पवनार गांव के सरकारी स्कूल में शिक्षक दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे थे। यहीं उन्होंने ये बात बच्चों से कही। https://youtu.be/TQnkrayt3aU भाजपा विधायक का पलटवार, कहा-यही कांग्रेस का कल्चर दरअसल बच्चों के साथ बैठकर मंत्री कवासी पिछले दिनों अपने साथ हुए वाक्ये को याद कर रहे थे। उन्होंने कहा कि एक बच्चे ने मुझसे पूछा था कि आप इतने बड़े नेता कैसे बने, मुझे इसके लिए क्या करना होगा। जवाब में मंत्री ने
छत्तीसगढ़: अंतागढ़ टेप कांड- रमन बोले, ‘कांग्रेस की बदला राजनीति, दंतेवाड़ा चुनाव नजदीक है’

छत्तीसगढ़: अंतागढ़ टेप कांड- रमन बोले, ‘कांग्रेस की बदला राजनीति, दंतेवाड़ा चुनाव नजदीक है’

politics
रायपुर (एजेंसी) | पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह ने मंतूराम के बयान पर सफाई देते हुए कहा कि पूरे मामले से मेरा कोई लेना-देना नहीं है। वर्ष 2014 के बाद पहली बार इस घटना में राजनीतिक षडयंत्र के तहत मेरा नाम उछाला गया है। चूंकि दंतेवाड़ा चुनाव नजदीक है। इसलिए कांग्रेस ने सोची-समझी रणनीति के तहत मंतूराम पर दबाव बनाकर ये बयान दिलवाया है। पूरे घटनाक्रम से प्रतीत होता है कि पूर्ण रूप से कांग्रेस की बदलापुर की राजनीति है। https://youtu.be/CfaQ4F4xqDs उन्होंने कहा कि बयान को पढ़ने से स्पष्ट होता है कि मंतूराम ने ये बयान स्वेच्छा से नहीं, बल्कि राजनीतिक दबाव-वश दिया है। मैं बताना चाहूंगा कि मंतूराम द्वारा पूर्व में विभिन्न न्यायालयों में शपथपत्र पर बयान दिया गया कि उन्होंने स्वेच्छा से अपना नामांकन वापस लिया था। इसमें पैसों का किसी तरह से लेन-देन नहीं हुआ है। इस संबंध में न्यायालय में अपना पक्ष रखूंगा
छत्तीसगढ़: अंतागढ़ टेप कांड – रमन, मूणत, अजीत और अमित जोगी के बीच 7.5 करोड़ में डील हुई थी : मंतूराम

छत्तीसगढ़: अंतागढ़ टेप कांड – रमन, मूणत, अजीत और अमित जोगी के बीच 7.5 करोड़ में डील हुई थी : मंतूराम

politics
रायपुुर (एजेंसी) | अंतागढ़ उपचुनाव-2014 के पूर्व कांग्रेस प्रत्याशी मंतूराम पवार ने कोर्ट में धारा 164 के तहत बयान दर्ज कराया है। इसमें पवार ने कहा है कि पूर्व सीएम रमन सिंह, पूर्व मंत्री राजेश मूणत, पूर्व सीएम अजीत और अमित जोगी के बीच 7.5 करोड़ रुपए में चुनाव को लेकर डील हुई थी। ये जानकारी उसे कांकेर के नेता अमीन मेमन और फिरोज सिद्दीकी ने दी थी। पवार के इस बयान के बाद राजनीतिक बवाल खड़ा हो गया है। राज्य में सत्ता परिवर्तन के बाद पंडरी थाने में अंतागढ़ उपचुनाव को लेकर पूर्व महापौर व कांग्रेस नेता किरणमयी नायक ने केस दर्ज कराया था। उसी की जांच एसआईटी कर रही है। इसी केस की सुनवाई के दौरान शनिवार को मंतूराम का बयान हुआ। न्यायिक मजिस्ट्रेट नीरज श्रीवास्तव की कोर्ट में पवार ने बयान में कहा कि मुझे चुनाव मैदान से हटने के लिए जान से मारने की धमकी मिली थी। यहां तक की कांकेर के एसपी ने फोन पर सीधे
हाई वोल्टेज पोलिटिकल ड्रामा: वन मंत्री सिंघार की कड़वी चाय पिलाने के जवाब में दिग्विजय ने कहा- मुझे डायबिटीज नहीं

हाई वोल्टेज पोलिटिकल ड्रामा: वन मंत्री सिंघार की कड़वी चाय पिलाने के जवाब में दिग्विजय ने कहा- मुझे डायबिटीज नहीं

politics
भोपाल (एजेंसी) | मध्य प्रदेश के वन मंत्री उमंग सिंघार के आरोप लगाने के 5 दिन बाद सामने आए पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कहा कि कांग्रेस के नेता अनुशासन में रहें। भाजपा को कोई मौका न दें। सिंघार की कड़वी चाय पिलाने के जवाब में दिग्विजय ने सिर्फ इतना ही कहा कि मुझे डायबिटीज नहीं है। मैं मीठी चाय पीता हूं। इस बयान से माना जा रहा है कि वह सिंघार से मिलने नहीं जाएंगे। दरअसल, उमंग सिंघार ने जिस दिन दिग्विजय पर ब्लैकमेलर, ट्रांसफर-पोस्टिंग करवाने और रेत खनन जैसे गंभीर आरोप लगाए थे, उस दिन उन्होंने कहा था कि दिग्विजय सिंह मिलने आएंगे तो वह उन्हें कड़वी चाय पिलाएंगे। भोपाल में मीडिया से बातचीत में सिंह ने मंत्री उमंग सिंघार पर कार्रवाई के जवाब में कहा कि अब इस मामले में मुख्यमंत्री और प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ जी और राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया जी निर्णय लेंगे। क्या आप सिंघार के आरोपों से आहत हैं?
हाईवोल्टेज पॉलिटिकल ड्रामा: अब सिंधिया समर्थक दो मंत्रियों का दिग्विजय पर हमला, सिलावट पर भी पैसे लेने के आरोप

हाईवोल्टेज पॉलिटिकल ड्रामा: अब सिंधिया समर्थक दो मंत्रियों का दिग्विजय पर हमला, सिलावट पर भी पैसे लेने के आरोप

politics
भोपाल (एजेंसी) | वन मंत्री उमंग सिंघार का मामला अभी ठंडा भी नहीं पड़ा था कि पॉलिटिकल ड्रामे में नए किरदार के रूप में कांग्रेस सरकार के परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत और श्रम मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया सामने आ गए। सिंधिया समर्थक इन दोनों मंत्रियों ने पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह पर सीधा हमला बोला। राजपूत ने कहा कि मध्यप्रदेश विधानसभा का चुनाव कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया के नेतृत्व में लड़ा गया था। अब किसी और को सरकार में हस्तक्षेप करने का अधिकार नहीं है। इसी सुर में सुर मिलाते हुए श्रम मंत्री सिसोदिया बोले कि अगर किसी को सरकार में हस्तक्षेप करने का अधिकार है तो वह ज्योतिरादित्य सिंधिया को है। साफ है कि उमंग सिंघार के आरोपों को दो मंत्रियों ने भी आगे बढ़ा दिया है। इस मामले में फिलहाल दिग्विजय सिंह की ओर से कोई कमेंट सामने नहीं आया है।  इधर, अंबाह से विधायक कमलेश जाटव और गोहद स
छत्तीसगढ़: जोगी की जाति पर जांच समिति की रिपोर्ट पर हाईकोर्ट का स्टे, अजीत जोगी विधायक रहेंगे

छत्तीसगढ़: जोगी की जाति पर जांच समिति की रिपोर्ट पर हाईकोर्ट का स्टे, अजीत जोगी विधायक रहेंगे

politics
बिलासपुर (एजेंसी) | हाईकोर्ट ने पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी की जाति के मामले में उच्च स्तरीय जाति छानबीन समिति की रिपोर्ट पर यथास्थिति बरकरार रखने के निर्देश दिए हैं। जोगी की विधायकी फिलहाल बरकरार रहेगी। हालांकि एफआईआर की प्रक्रिया पर किसी तरह की रोक नहीं लगाई गई है। जोगी ने 23 अगस्त को उच्च स्तरीय जाति छानबीन समिति की रिपोर्ट और इस आधार पर उनके खिलाफ 29 अगस्त को बिलासपुर के सिविल लाइन थाने में दर्ज एफआईआर को चुनौती दी है। साथ ही दो आवेदन प्रस्तुत कर समिति की रिपोर्ट और एफआईआर पर अंतरिम रूप से रोक लगाने की मांग की है। बिलासपुर के संतकुमार ने की थी शिकायत पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी की जाति को लेकर विवाद का सिलसिला 27 जनवरी 2001 में बिलासपुर में रहने वाले संतकुमार नेताम की राष्ट्रीय अनुसूचित जाति, जनजाति आयोग से शिकायत के साथ शुरू हुआ था। आयोग ने 16 अक्टूबर 2001 में जोगी को आदिवासी नहीं
छत्तीसगढ़: बीजेपी के लिए परेशानी का सबब बनी अमित जोगी की गिरफ्तार, पार्टी के बड़े चेहरों ने किया मामले से किनारा

छत्तीसगढ़: बीजेपी के लिए परेशानी का सबब बनी अमित जोगी की गिरफ्तार, पार्टी के बड़े चेहरों ने किया मामले से किनारा

politics
  बिलासपुर (एजेंसी) | नागरिकता (Citizenship) मामले में फंसे छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के पूर्व सीएम अजीत जोगी (Ajit Jogi) के बेटे और जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी (Amit Jogi) को जेल भेज दिया गया है। मंगलावर को बिलासपुर (Bilaspur) की लोवर कोर्ट ने उनकी जमानत याचिका खारिज 14 दिनों की न्यायिक रिमांड में जेल भेज दिया गया है। अमित जोगी की गिरफ्तारी के बाद छत्तीसगढ़ की राजनीति में खलबली मच गई है। अमित जोगी की गिरफ्तारी भले ही बीजेपी की प्रत्याशी रही समीरा पैकरा की शिकायत पर हुई है। लेकिन प्रदेश बीजेपी (BJP) संगठन का इस मामले में रूख क्या है, ये अब तक साफ नहीं हो पाया है। वहीं पार्टी के सारे बड़े चेहरों ने इस मामले से किनारा कर लिया है। क्यों चुप है बीजेपी? अपनी ही पार्टी की पूर्व प्रत्याशी की शिकायत पर अमित जोगी पर हुई कार्रवाई के बाद बीजेपी पार्टी के बड़े नेता अब भ
छत्तीसगढ़: पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के पुत्र और जोगी कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी गिरफ्तार

छत्तीसगढ़: पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के पुत्र और जोगी कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी गिरफ्तार

politics, छत्तीसगढ़
बिलासपुर (एजेंसी) | फर्जी जाति प्रमाणपत्र मामले में छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के पुत्र अमित जोगी की मुश्किलें बढ़ने लगी हैं। अमित जोगी को पुलिस ने मंगलवार सुबह गिरफ्तार कर लिया। उनकी गिरफ्तारी मरवाही सदन से की गई है। छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष जोगी पर नागरिकता को लेकर गलत जानकारी देने का आरोप है। पुलिस जोगी को गैरोला लेकर आएगी, यहां पर उन्हें कोर्ट में पेश किया जाएगा। एक दिन पहले ही गिरफ्तारी की मांग को लेकर आदिवासियों ने किया था प्रदर्शन दरअसल, बिलासपुर जिला पंचायत उपाध्यक्ष समीरा पैकरा सहित मरवाही के आदिवासियों ने सोमवार को अमित जोगी की गिरफ्तारी की मांग को लेकर एसपी ऑफिस के बाहर प्रदर्शन किया था। हालांकि प्रदर्शन पर कटाक्ष करते हुए अमित जोगी ने कहा था कि बहन सुश्री समीरा पैकरा और उनके महाधिवक्ता व वकील सतीश चन्द वर्मा को इतनी सी बात समझ में क्यों नहीं आती कि अग
छत्तीसगढ़: दंतेवाड़ा उपचुनाव भाजपा उम्मीदवार ओजस्वी मंडावी ने दाखिल किया नामांकन पत्र

छत्तीसगढ़: दंतेवाड़ा उपचुनाव भाजपा उम्मीदवार ओजस्वी मंडावी ने दाखिल किया नामांकन पत्र

politics
दंतेवाड़ा (एजेंसी) | बस्तर के दंतेवाड़ा में होने वाले उपचुनाव के लिए भाजपा प्रत्याशी ओजस्वी मंडावी ने सोमवार को नामांकन दाखिल किया। ओजस्वी मंडावी दिवंगत विधायक भीमा मंडावी की पत्नी हैं। नामांकन फार्म जमा करने के लिए कलेक्ट्रेट पहुंची ओजस्वी के साथ चैतराम अटामी,कमला विनय नाग, मुन्ना मरकाम, नंदलाल मुड़ामी के साथ तमाम भाजपा कार्यकर्ता मौजूद रहे। भाजपा और कांग्रेस उम्मीदवारों के बीच सीधा मुकाबला पूर्व विधायक भीमा मंडावी की नक्सली हमले में हत्या के बाद दंतेवाड़ा सीट खाली हुई थी। ओजस्वी मंडावी के पर्चा भरने के साथ ही कांग्रेस उम्मीदवार देवती कर्मा, सीपीआई से भीमसेन मंडावी, बसपा से केशव नेताम के अलावा निर्दलीय उम्मीदवार कल्लू भवानी और सुंदरू कुंजाम ने भी फार्म खरीदे हैं। हालांकि इस सीट से सीधा मुकाबला कांग्रेस की देवती कर्मा और भाजपा की ओजस्वी मंडावी के बीच है। विधायक भीम मंडावी की नक्सली हमले में