Friday, December 6

politics

नान घोटाला व विधायक खरीद-फरोख्त कांड के विरोध में किया प्रदर्शन, पूर्व सीएम डा. रमन सिंह व जोगी का पुतला फुंका, जाेगी के नजदीकी रहे कांग्रेसियों ने प्रदर्शन से बनाई दूरी

नान घोटाला व विधायक खरीद-फरोख्त कांड के विरोध में किया प्रदर्शन, पूर्व सीएम डा. रमन सिंह व जोगी का पुतला फुंका, जाेगी के नजदीकी रहे कांग्रेसियों ने प्रदर्शन से बनाई दूरी

politics
रायपुर (एजेंसी) | प्रदेश कांग्रेस के निर्देश पर रविवार को जिला मुख्यालय के साथ ब्लाक लेवल पर प्रदेश में पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह एवं अजीत जोगी का पुतला दहन कार्यक्रम किया गया। सुबह 11.30 बजे स्टेशन चौक पर स्थित कांग्रेस कार्यालय से रैली निकालकर गांधी चौक पर पहुंचकर पुतला दहन किया। अंतागढ़ उपचुनाव मामले में मंतूराम पवार के शपथ पत्र में दिए बयान और नान भ्रष्टाचार मामले में शिवशंकर भट्ट के बयान में दोनों पूर्व मुख्यमंत्रियों की संलिप्तता सामने आई थी जिसके बाद कांग्रेस ने प्रदेशभर में पुतला दहन किया। दोनों के खिलाफ नारे भी लगाए। इस दौरान कांग्रेसियों ने रमन और अजीत जोगी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है। कार्यक्रम में जिला कांग्रेस कमेटी, युकां, महिला कांगेस, एनएसयूआई, ब्लाक कांग्रेस समेत अन्य प्रकोष्ठों के सदस्य और पदाधिकारी शामिल हुए। रविवार की सुबह कांग्रेस कार्यालय से पुतला लेकर
सियासी घमासान: भट्‌ट बोले- राशन घोटाला उजागर किया इसलिए नान का ठीकरा मुझपर फोड़ा; चिंतामणि से 12 घंटे पूछताछ

सियासी घमासान: भट्‌ट बोले- राशन घोटाला उजागर किया इसलिए नान का ठीकरा मुझपर फोड़ा; चिंतामणि से 12 घंटे पूछताछ

politics
रायपुर (एजेंसी) | नान घोटाले के आरोपी शिवशंकर भट्‌ट ने एसआईटी का ऑफर स्वीकार कर लिया है, यानि अब वो सरकारी गवाह बनेंगे। राजधानी में भट्‌ट ने रविवार को प्रेसक्लब में मीडिया से कहा कि पूर्व सीएम डाॅ. रमन सिंह, पूर्व खाद्यमंत्री पुन्नूलाल मोहिले आैर भाजपा नेता लीलाराम भोजवानी नान घोटाले के मास्टरमाइंड हैं। भटट् ने घोटाले को नान के बजाय राशन घोटाला बताते हुए मामले की नए सिरे से जांच की मांग की। भट्‌ट ने कहा कि उन्होंने राशन घोटाला उजागर किया इसलिए नान का ठीकरा उनपर फोड़ा गया। दूसरी ओर शिवशंकर भट्‌ट के शपथ-पत्र के आधार पर नान के लेखाधिकारी चिंतामणि चंद्राकर को हिरासत में लेकर 12 घंटे पूछताछ की गई। ईओडब्ल्यू की टीम ने दुर्ग पुलिस के साथ सुबह करीब 6 बजे उनके घर दबिश दी। चिंतामणि की ओर से घर का दरवाजा नहीं खोला जा रहा था। फिर पुलिस ने आय से अधिक संपत्ति के एक लंबित मामले में राजनांदगांव चलने की
नान घोटाला के मुख्य आरोपी भट्‌ट बना सरकारी गवाह, प्रेस कॉन्फ्रेंस में बड़ा खुलासा डॉ रमन को बताया मास्टर माइंड

नान घोटाला के मुख्य आरोपी भट्‌ट बना सरकारी गवाह, प्रेस कॉन्फ्रेंस में बड़ा खुलासा डॉ रमन को बताया मास्टर माइंड

politics
रायपुर (एजेंसी) | नागरिक आपूर्त निगम (नान) घोटोले आरोपी और तत्कालीन मैनेजर शिव शंकर भट्‌ट ने राजधानी में रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की। भट्‌ट ने मीडिया से कहा कि वो इस मामले में सरकारी गवाह बनेंगे। उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह को इस घोटाले का मास्टर माइंट बताया और  भाजपा नेता लीला राम भोजवानी व पूर्व मंत्री पुन्नू लाल मोहले पर भी इस मामाले में भ्रष्ट्राचार के आरोप लगाए। भट्ट का दावा है कि इस मामले में जानबूझकर उन्हें जेल में रखा गया ताकि सच सामने न आए। इस खुलासे के बाद भट्‌ट ने अपनी जान को खतरा बताया। दुर्ग से नान के अफसर रहे चिंतामणि लिए गए हिरासत में पिछले विधानसभा चुनाव के बाद बनी नई कांग्रेस की सरकार ने नान घोटाले की जांच दोबारा शुरू कर वाई। इसके तहत नान के तत्कालीन लेखा अधिकारी चिंतामणि चंद्राकर को पूछताछ के लिए दुर्ग से रायपुर लाया गया है। नान की जांच में सामने आई चर्चित
राशन कार्ड घोटाला: नान घोटाले के मुख्य आराेपी ने कहा- पूर्व सीएम रमन के दबाव में बनाए 21 लाख फर्जी राशनकार्ड

राशन कार्ड घोटाला: नान घोटाले के मुख्य आराेपी ने कहा- पूर्व सीएम रमन के दबाव में बनाए 21 लाख फर्जी राशनकार्ड

politics
रायपुर (एजेंसी) | प्रदेश के बहुचर्चित नान घोटाले मामले में नया मोड़ आया है। मुख्य आरोपी तत्कालीन मैनेजर शिव शंकर भट्‌ट ने कोर्ट में धारा 164 के तहत शपथ पत्र दिया है। शपथपत्र में भट्ट ने कहा कि 2013 में 21 लाख फर्जी राशन कार्ड तत्कालीन सीएम और खाद्यमंत्री के दबाव में बनाए गए। इससे सरकार को हर साल करीब 3 हजार करोड़ का नुकसान हुआ। भट्ट ने कहा है कि पूर्व मुख्यमंत्री डाॅ. रमन सिंह ने अफसरों को 236 करोड़ की क्षतिपूर्ति की गारंटी बिना कैबिनेट के अनुमोदन स्वीकृत कर दी। बकौल भट्ट - पूर्व सीएम ने खुद के प्रभाव का इस्तेमाल करते हुए यह रकम जारी करने का आदेश दिया था। मैंने आपत्ति की तो उन्होंने कह दिया था कि इससे पार्टी को बड़ा फंड मिलेगा। विधानसभा और उसके बाद पंचायत चुनाव के लिए बड़ा खर्च होना है। चाहें तो आप लोगों को पैसे मिलेंगे और अगर काम नहीं किया तो इसके परिणाम भुगतने होंगे। लगभग चार साल जेल मे
सियासी घमासान: रमन सिंह बोले- अपराधी के कहने पर उनके खिलाफ केस हुआ, सीएम बघेल का पलटवार, कहा- चिंदबरम पर हुआ था, तब सो रहे थे

सियासी घमासान: रमन सिंह बोले- अपराधी के कहने पर उनके खिलाफ केस हुआ, सीएम बघेल का पलटवार, कहा- चिंदबरम पर हुआ था, तब सो रहे थे

politics
रायपुर (एजेंसी) | मुख्यमंत्री भूपेश बघेल शनिवार को दो दिवसीय दिल्ली दौरे से रायपुर लौटे। यहां एयरपोर्ट पर उन्होंने मीडिया से कहा कि रमन सिंह कह रहे हैं नान घोटाले में एक अपराधी के बयान पर केस दर्ज हुआ है, लेकिन जब ऐसा पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम के खिलाफ हुआ था तब क्या वे सो रहे थे। आज चिदंबरम जेल में हैं, बेल भी नहीं मिली। रमन सिंह को आज अचानक यह ज्ञान कहां से हो गया। बघेल ने कहा कि रमन सिंह चाउर वाले बाबा कहलाते थे, अब यह सिद्ध हो गया वो क्या हैं। 21 लाख फर्जी राशनकार्ड बने हैं, 36 हजार करोड़ का घोटाला है। इस मामले में कानून अपना काम करेगा। बघेल ने कहा कि नान घोटाले के आरोपी शिवशंकर भट्ट को शुरू से रमन सिंह का संरक्षण था। वे उनके नजदीकी रहे। इनके बीच जो मिलीभगत है, वह उजागर हो गई है। बदलापुर की राजनीति के आरोपों पर बघेल ने तल्खी दिखाते हुए कहा कि जो भी जांच और कार्रवाई हो रही हैं व
छत्तीसगढ़: अंतागढ़ टेप कांड- मंतूराम के वकील ने छोड़ा साथ, मामले की अगली सुनवाई अब 16 सितंबर को

छत्तीसगढ़: अंतागढ़ टेप कांड- मंतूराम के वकील ने छोड़ा साथ, मामले की अगली सुनवाई अब 16 सितंबर को

politics
रायपुर (एजेंसी) | अंतागढ़ टेपकांड मामले में अब तक मंतूराम का पक्ष कोर्ट में रखने वाले वकील ने उनका साथ छोड़ दिया है। मंतूराम ने बताया कि अब तक इस मामले में डॉ रमन के दामाद पुनीत और मेरा केस एक ही वकील देख रहे थे। अब नए वकील मेरा पक्ष रखेंगे। गुरूवार को मामले की सुनवाई होनी थी। लेकिन अमित जोगी की तबीयत खराब होने की वजह से इसकी तारीख आगे बढ़ा दी गई। सुनवाई की तरीख 16 सितंबर तय की गई है। मेरी चल अचल संपत्तियों की हो जांच-मंतू प्रकरण से जुड़े मंतूराम ने कहा है कि मेरी स्वयं और परिवालों के नाम चल-अचल संपत्तियों की जांच कराई जाए। इसके लिए मैं सरकार और न्यायालय से जल्द ही मांग करूंगा। इसके अलावा इस प्रकरण जुड़े अन्य लोगों व उनके परिजनों के संपत्तियों की जांच करवाई जानी चाहिए। वॉयस सैंपल को लेकर मंतूराम ने कहा कि अगली सुनवाई के वक्त वो वॉयस सैंपल देंगे। साल 2014 में  कांकेर जिले के अंतागढ़ के तत्काली
छत्तीसगढ़: कांग्रेस विधायक के बिगड़े बोले- गड़बड़ी करने वाले अफसरों को जूता मारना पड़े तो मारो

छत्तीसगढ़: कांग्रेस विधायक के बिगड़े बोले- गड़बड़ी करने वाले अफसरों को जूता मारना पड़े तो मारो

politics
बलरामपुर (एजेंसी) | छत्तीसगढ़ में आबकारी मंत्री कवासी लखमा के बाद अब बलरामपुर के रामानुजगंज सीट से विधायक बृहस्पति सिंह ने अधिकारियों को लेकर विवादित बयान दिया। एक सरकारी कार्यक्रम के दौरान विधायक सिंह ने कहा कि जो अधिकारी गड़बड़ी करते हैं, उन्हें जूता मारना पड़े तो मारो। कार्यक्रम में खाद्य मंत्री अमरजीत सिंह भगत भी मौजूद थे। किसानों को धोखा दे उसे किसी कीमत पर बर्दाश्त मत करो नवीनीकृत राशन कार्ड वितरण कार्यक्रम के दौरान क्षेत्रीय विधायक बृहस्पति सिंह बुधवार को जनता को संबोधित कर रहे थे। विधायक सिंह ने किसानों के हक में बात करते हुए अधिकारियों को निशाना बनाया। उन्होंने कहा, कई किसानों ने लोन नहीं लिया है, लेकिन बैंक अधिकारियों ने धोखे से हस्ताक्षर करवा लिया है। अब नोटिस भेज रहे हैं। ये बहुत गंभीर बात है। मैने मुख्यमंत्री साहब से बात की है, कलेक्टर से बात की है। https://www.youtube.com/watc
छत्तीसगढ़: अमृतसर हादसे के बाद बैन डब्ल्यूआरएस मैदान पर इस बार भी दशहरा उत्सव, रेलवे की अनुमति

छत्तीसगढ़: अमृतसर हादसे के बाद बैन डब्ल्यूआरएस मैदान पर इस बार भी दशहरा उत्सव, रेलवे की अनुमति

politics
रायपुर (एजेंसी) | दशहरा उत्सव के दौरान अमृतसर में पिछले साल हुए दर्दनाक हादसे के बाद रेलवे ने डब्लूअारएस मैदान पर दशहरा उत्सव के लिए लगाया गया प्रतिबंध सशर्त वापस ले लिया था। अमृतसर में पटरी पर बैठकर रावणदहन देख रहे लोगों को ट्रेन काटती हुई निकल गई थी। हादसे में 50 मौतों के बाद रेलवे पूरे देश में ऐसे मैदान और स्थलों पर उत्सव प्रतिबंधित किए थे, जिनमें भीड़ लगती है और ट्रेनें भी गुजरती हैं। उसी कड़ी में रायपुर रेलवे ने भी डब्लूआरएस में दशहरा उत्सव पर कड़े प्रतिबंध लगाते हुए तत्कालीन दशहरा उत्सव समिति से भी सहमति ले ली थी। लेकिन इस बार समिति के नए पदाधिकारियों ने रेलवे से 8 अक्टूबर को इसी मैदान पर दशहरा उत्सव की सशर्त अनुमति दे दी है। राजधानी में डब्ल्यूआरएस का दशहरा मशहूर है। प्रदेश के कई शहरों से लोग डब्ल्यूआरएस मैदान में रावण दहन देखने आते रहे हैं। पिछले साल अमृतसर हादसे के बाद रेलवे न
छत्तीसगढ़: मंतूराम को भाजपा ने निकाला, बड़े नेताओं पर लगाए थे चुनावी खरीद फरोख्त के आरोप

छत्तीसगढ़: मंतूराम को भाजपा ने निकाला, बड़े नेताओं पर लगाए थे चुनावी खरीद फरोख्त के आरोप

politics
रायपुर (एजेंसी) | छत्तीसगढ़ की राजनीति में उठा पटक जारी है। अब भारतीय जनता पार्टी के नेता और अंतागढ़ टेप कांड से जुड़े नेता मंतूराम पवार को पार्टी ने निकाल दिया है। इस कार्रवाई को गलत ठहराते हुए मंतू ने कहा कि यह निष्कासन सही नहीं। मैं इसके खिलाफ कोर्ट जाउंगा। टेपकांड से संबंधित सुनवाई में मंतू ने हाल ही में कोर्ट में दिए अपने बयान में कहा था कि अंतागढ़ उपचुनाव 2014 में डॉ रमन, अजीत जोगी, अमित जोगी और राजेश मूणत के बीच 7.5 करोड़ की डील हुई थी। तब मंतू कांग्रेस से अंतागढ़ के प्रत्याशी थे। नाम वापस लेने के कुछ समय बाद भाजपा में शामिल हुए थे। कांग्रेस के संपर्क में नहीं मंतू कांग्रेस पार्टी के संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा-  मंतूराम पवार हमारे संपर्क में नहीं है । अभी मंतूराम पवार का कांग्रेस प्रवेश के लिए कोई आवेदन कांग्रेस को नहीं मिला है। कांग्रेस प्रवेश के आवेदनों पर गुण
छत्तीसगढ़: दूसरों के किए में फीता काटते थे प्रधानमंत्री मोदी, पहली बार चंद्रयान-2 लॉन्च करने गए और वो फेल हो गया : भगत

छत्तीसगढ़: दूसरों के किए में फीता काटते थे प्रधानमंत्री मोदी, पहली बार चंद्रयान-2 लॉन्च करने गए और वो फेल हो गया : भगत

politics
कोरिया (एजेंसी) | छत्तीसगढ़ के खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री अमरजीत भगत ने चंद्रयान-2 की लॉन्चिंग और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर विवादित बयान दे दिया। कोरिया के अपने एक दिवसीय दौरे के दौरान सोमवार शाम खाद्य मंत्री भगत ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी दूसरों के किए का फीता काटते हैं। पहली बार चंद्रयान-2 लॉन्च करने गए और वो फेल हो गया। केंद्र सरकार के 100 दिन पूरे होने के सवाल पर राज्य के कैबिनेट मंत्री भगत अपनी प्रतिक्रिया दे रहे थे। कोरिया में राशनकार्ड वितरण कार्यक्रम के बाद मीडिया से बात करने के दौरान जब मंत्री भगत से पूछा गया कि वे केंद्र सरकार के 100 दिन के कार्यकाल को लेकर क्या सोचते हैं। इस पर मंत्री भगत ने कहा कि अभी तक तो मोदी जी केवल दूसरे के किए में फीता काटते थे, उद्घाटन करते थे, वाह-वाही लूटते थे।  पहली बार चंद्रयान-2 लॉन्च करने गए और वो भी फेल हो गया। उनके इस बयान पर काफी चर्चा