Friday, December 6

india

Read news articles about national news update, business news updates.

दिल्ली पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, ISJK के दो संदिग्ध आतंकवादी हथियारों के साथ गिरफ्तार

दिल्ली पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, ISJK के दो संदिग्ध आतंकवादी हथियारों के साथ गिरफ्तार

india
नई दिल्ली (एजेंसी) | आज दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने बड़ी कामयाबी मिली, ISJK के दो संदिग्ध आतंकवादी हथियारों के साथ गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार दोनों आतंकी जम्मू-कश्मीर के रहने वालेे हैं और इस्‍लामिक स्‍टेट ऑफ जम्‍मू-कश्‍मीर (ISJK) के सदस्य बताए जा रहे हैं। वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने शुक्रवार को बताया कि कश्मीर के रहने वाले दोनों संदिग्धों को गुरुवार देर रात लाल किले के पास जामा मस्जिद बस स्टॉप से गिरफ्तार किया गया। आतंकियों के पास से 2 बंदूक, 10 कारतूस और चार मोबाइल फोन बरामद किए गए हैं। ये उत्तर प्रदेश से हथियार लेकर कश्मीर जा रहे थे। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); The Special Cell of the Delhi Police arrested two suspected terrorists, who were allegedly linked to the terror outfit Islamic State of Jammu & Kashmir. Read @ANI story | https://t.co/b9Thaa1EPJ
‘भारत के वीर’ ट्रस्ट को 80 (जी) के तहत मंजूरी, अब आम नागरिक कर सकेंगे शहीदों के परिवारों की आर्थिक मदद

‘भारत के वीर’ ट्रस्ट को 80 (जी) के तहत मंजूरी, अब आम नागरिक कर सकेंगे शहीदों के परिवारों की आर्थिक मदद

india
नई दिल्ली (एजेंसी) | वित्त मंत्रालय ने 'भारत के वीर' ट्रस्ट स्थापित किया है। इसके जरिए आम नागरिक शहीदों के परिवारों की आर्थिक मदद कर सकेंगे। इसमें दी रकम पर आयकर नहीं देना होगा। गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट किया, 'भारत के वीर ट्रस्ट को आयकर छूट से जुड़ी धारा 80(जी) के तहत मंजूरी दी है।' Contributions to @BharatKeVeer are now exempted under 80(G) of the Income Tax Act. How to contribute and support the families of India's bravehearts? Here is the step by step process for you pic.twitter.com/pXS6dCnRd7 — Bharat Ke Veer (@BharatKeVeer) September 6, 2018 (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट करके कहा कि, 'भारत के वीर' ट्रस्ट एमएचए द्वारा शहीद सीएपीएफ कर्मियों के परिवारों को योगदान देने और सहायता प्रदान करने के लिए सभी नागरिकों को मंच प्रद
Breaking News: कोलकाता में बड़ा हादसा, फ्लाईओवर गिरा, कई लोगो के दबे होने की आशंका

Breaking News: कोलकाता में बड़ा हादसा, फ्लाईओवर गिरा, कई लोगो के दबे होने की आशंका

india
कोलकाता (एजेंसी) | दक्षिण कोलकाता के तारातल्ला इलाके में माजेरहाट में फ्लाइओवर का हिस्सा गिरने से बड़ा हादसा हुआ है। हादसे में कई वाहनों के दबे होने की आशंका है। रेस्कयू टीम एंबुलेंस मौके पर पहुंची। राहत और बचाव कार्य जारी है। सूत्रों के अनुसार, अभी तक 4 लोगो की मौत की खबर है। कई लोगों के घायल होने की खबर है। #SpotVisuals: Majerhat bridge in South Kolkata has collapsed. More details awaited. #WestBengal pic.twitter.com/FsZGeImE4o — ANI (@ANI) September 4, 2018 जिस वक्त यह ढहा उस वक्त वक्त उस हिस्से पर कई गाड़ियां थीं। ये सभी गाड़ियां मलबे में फंस गई हैं। कई लोगों के घायल होने की खबर है। मौके पर बचाव कार्य शुरू कर दिया गया है। पुल बहुत पुराना था और बारिश के वजह से इसमें दरार बढ़ती चली गई। सरकार ने हादसे के जाँच के आदेश दे दिए है।
नहीं रहे जैन मुनि तरुण सागर, संथारा प्रक्रिया से त्यागा शरीर

नहीं रहे जैन मुनि तरुण सागर, संथारा प्रक्रिया से त्यागा शरीर

india
दिल्ली (एजेंसी) | क्रांतिकारी और कड़वे प्रवचनों के लिए पहचाने जाने वाले जैन मुनि तरुण सागर जी महाराज नहीं रहे। शनिवार को उनका परलोकगमन हो गया। वे पीलिया से पीड़ित थे और संथारा कर रहे थे। संथारा जैन धर्म की वह परंपरा होती है, जिसके तहत संत जीवन समाप्ति को लक्ष्य मानकर अन्न-जल त्याग देते हैं। गुरु पुष्पदंत सागर से आज्ञा मिलने के बाद तरुण सागर ने शरीर का त्याग किया। उन्होंने 13 की उम्र में संन्यास लिया था। 20 की उम्र में मुनि की दीक्षा ली। मध्यप्रदेश, हरियाणा और दिल्ली विधानसभा में भी प्रवचन दिए। मुनिश्री को बचपन में माता-पिता मुन्ना कहकर बुलाते थे। एक रोज किसी दुकान पर जलेबी खाते हुए उन्होंने पुष्पदंत सागर के प्रवचन की आवाज सुनी। इतना प्रभावित हुए कि उनसे मिलने गए। यहीं से मुनिश्री बनने का सफर शुरू हुआ। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); नहीं रहे जैन मुनि तरुण सागर, सं
अटल बिहारी वाजपेयी का अंतिम संस्कार कल यमुना तट पर, 7 दिन का राष्ट्रीय शोक घोषित

अटल बिहारी वाजपेयी का अंतिम संस्कार कल यमुना तट पर, 7 दिन का राष्ट्रीय शोक घोषित

india
दिल्ली | पूर्व प्रधानमंत्री भारतरत्न श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी का 93 वर्ष की आयु में निधन हो गया। अटलजी  के निधन पर सात दिन का राष्ट्रीय शोक घोषित किया गया है। 16 से 22 अगस्त तक राष्ट्रीय शोक की घोषणा की गई है। इस दौरान देश का राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा झुका रहेगा। खबरों के मुताबिक अटल बिहारी वाजपेयी का अंतिम संस्कार राजघाट के पीछे राष्ट्रीय स्मृति में होगा। सूत्रों के मुताबिक अटल बिहारी वाजपेयी का अंतिम संस्कार कल यमुना नदी के तट पर किया जाएगा। अटल बिहारी वाजपेयी का पार्थिव शरीर कल बीजेपी दफ्तर पर राजनेताओं और अन्य लोगों के लिए अंतिम दर्शन के लिए रखा जाएगा। कल दोपहर 1 बजे बीजेपी दफ्तर से अंतिम यात्रा निकाली जाएगी। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); आज शाम 7:30 बजे अटल बिहारी वाजपेयी का पार्थिव शरीर घर ले जाया जाएगा। उनके निवास स्थान पर अटलजी का पार्थिव शरीर लोगों के दर
श्री “अटल” बिहारी वाजेपयी जी की 5 “अटल” फैसले, जिसने भारत की तकदीर बदल दी

श्री “अटल” बिहारी वाजेपयी जी की 5 “अटल” फैसले, जिसने भारत की तकदीर बदल दी

india
पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने 93 साल की उम्र में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में आखिरी सांस ली। तीन बार देश के प्रधानमंत्री रहे अटल बिहारी वाजपेयी वो ही शख्स हैं, जिसने दुनिया के नक्शे पर भारत को चमकाया. उन्होंने प्रधानमंत्री रहते कुछ ऐसे फैसले लिए, जिनसे भारतीय अर्थव्यवस्था की दिशा बदल गई। 1. स्वर्णिम चतुर्भुज और ग्राम सड़क योजना (Goldern Quadrilateral & Pradhanmantri Gramin Sadak Yojna) अटल बिहारी वाजपेयी की सबसे बड़ी उपलब्धियों में उनकी महत्वाकांक्षी सड़क परियोजनाओं को देखा जाता है, जिसे उन्होंने लॉन्च किया था. इनमें स्वर्णिम चतुर्भुज और प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना शामिल हैं. स्वर्णिम चतुर्भुज योजना ने चेन्नई, कोलकाता, दिल्ली और मुंबई को हाईवे नेटवर्क से कनेक्ट किया. वहीं, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के जरिए गांवों को पक्की सड़कों के जरिए शहरों से जोड़
श्री “अटल” बिहारी वाजेपयी जी व्यक्तित्व की 5 अटल गाथाये

श्री “अटल” बिहारी वाजेपयी जी व्यक्तित्व की 5 अटल गाथाये

india
दिल्ली | लंबी बीमारी के बाद पूर्व प्रधान मंत्री भारतरत्न श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी का निधन हो गया।  राजधानी दिल्ली स्थित एम्स अस्पताल में उन्होंने अंतिम सांस ली। गुर्दा नली में संक्रमण, छाती में जकड़न, मूत्रनली में संक्रमण की शिकायत के बाद अटल बिहारी वाजपेयी को बीते 11 जून को एम्स में भर्ती कराया गया था। भारत के राजनैतिक इतिहास में अटल बिहारी वाजपेयी का संपूर्ण व्यक्तित्व शिखर पुरुष के रूप में दर्ज है।  उनकी पहचान एक कुशल राजनीतिज्ञ, प्रशासक, भाषाविद, कवि, पत्रकार व लेखक के रूप में होती है. वाजपेयी राजनीति को दलगत और स्वार्थ की वैचारिकता से अलग हटकर ना सिर्फ अपनाया बल्कि उसको असल जीवन में जिया। वे एक कालजयी अपने नाम के अनुरूप ही अटल व अजातशत्रु थे। उनके अटल व्यक्तित्व की 5 अटल गाथाये: 1. मध्यप्रदेश में जन्मे लेकिन उन्हें उत्तरप्रदेश से राजनैतिक लगाव था  अटल बिहारी वाजपेयी का जन्म मध्य
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री रमन सिंह ने अटल जी के निधन पर ट्वीट कर जताया शोक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री रमन सिंह ने अटल जी के निधन पर ट्वीट कर जताया शोक

india
दिल्ली | देश के पूर्व प्रधानमंत्री भारतरत्न श्री अटल बिहारी वाजपेयी का 93 साल की उम्र में निधन हो गया है। उन्होंने दिल्ली के AIIMS हॉस्पिटल में आज शाम 5 बजकर 5 मिनट में अंतिम सास ली। पूर्व पीएम को 9 हफ्ते पहले 11 जून को एम्स में भर्ती कराया गया था। वाजपाई जी 16 मई, 1996 से 31 मई, 1996 तथा 1998 – 99 और 13 अक्तूबर, 1990 से मई, 2004 तक तीन बार भारत के प्रधानमंत्री रहे। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया, अटल जी आज हमारे बीच में नहीं रहे, लेकिन उनकी प्रेरणा, उनका मार्गदर्शन, हर भारतीय को, हर भाजपा कार्यकर्ता को हमेशा मिलता रहेगा। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे और उनके हर स्नेही को ये दुःख सहन करने की शक्ति दे। ओम शांति ! अटल जी आज हमारे बीच में नहीं रहे, लेकिन उनकी प्रेरणा, उनका मार्गदर्शन, हर भारतीय को, हर भाजपा कार्यकर्ता को हमेशा मिलता रहेगा। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रद
ब्रेकिंग न्यूज़: पूर्व प्रधानमंत्री भारतरत्न श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी का 93वर्ष की आयु में निधन

ब्रेकिंग न्यूज़: पूर्व प्रधानमंत्री भारतरत्न श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी का 93वर्ष की आयु में निधन

india
दिल्ली | देश के पूर्व प्रधानमंत्री भारतरत्न श्री अटल बिहारी वाजपेयी का 93 साल की उम्र में निधन हो गया है। उन्होंने दिल्ली के AIIMS हॉस्पिटल में आज शाम 5 बजकर 5 मिनट में अंतिम सास ली। पूर्व पीएम को 9 हफ्ते पहले 11 जून को एम्स में भर्ती कराया गया था। वाजपाई जी 16 मई, 1996 से 31 मई, 1996 तथा 1998 – 99 और 13 अक्तूबर, 1990 से मई, 2004 तक तीन बार भारत के प्रधानमंत्री रहे। गोंडवाना एक्सप्रेस परिवार उन्हें अश्रुपूरित श्रद्धांजलि देता है। https://twitter.com/GondwanaExp/status/1030067448387518465/photo/1   (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});
72 वां स्वतंत्रता दिवस 2018: गूगल ने ‘ भारतीय ट्रक आर्ट’ डूडल के साथ स्वतंत्रता दिवस मनाया

72 वां स्वतंत्रता दिवस 2018: गूगल ने ‘ भारतीय ट्रक आर्ट’ डूडल के साथ स्वतंत्रता दिवस मनाया

india
दिल्ली | हमारा देश भारत आज अपना 72 वें स्वतंत्रता दिवस मना रहा है, वही गूगल ने भी इसे एक डूडल के साथ मनाया। गूगल ने भारतीय ट्रकों पर देखी गई कला से प्रेरित एक डूडल बनाया है। इस 15 अगस्त, भारत अपने 72 वें स्वतंत्रता दिवस मना रहा है। सभी भारतीयों के लिए स्वतंत्रता दिवस उन लोगों को याद रखने का एक दिन है जो अंग्रेजों से लड़े और देश को एक विदेशी शासक से मुक्त करने के लिए अपना जीवन का बलिदान कर दिया। आज स्वतंत्रता दिवस पर राष्ट्रीय अवकाश है और पूरे देश में बहुत उत्साह के साथ मनाया जा रहा है। डूडल पर, गूगल ने कहा, "आज का डूडल भारतीय ट्रक कला से प्रेरित है, जिसमे रंगीन पौधे और जंगली जानवरो की प्रतिकृति है। जो इस चार मिलियन वर्ग किलोमीटर के देश में एक लंबी परंपरा है जहां सड़क पर सफर करने वाले ट्रकर्स अपने परिवारों से लंबे महीने के दौरान अपने आप को खुश रखने के लिए हंसमुख लोककला बनाते है  " (ad