न्यूजीलैंड से वनडे सीरीज हारने पर कप्तान कोहली बोले- हमारी गेंदबाजी और फील्डिंग खराब थी, हम जीतने लायक नहीं थे

खेल डेस्क | न्यूजीलैंड ने मंगलवार को तीसरे और आखिरी वनडे में भारत को 5 विकेट से हराकर तीन मैचों की सीरीज क्लीन स्वीप कर ली। इस हार पर भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कहा, ‘‘यह मैच इतने भी बुरे नहीं थे, जितना स्कोरलाइन (0-3) बता रही। मुश्किल हालात में जिस तरह हमारे बल्लेबाज खेले, वह सकारात्मक है। लेकिन जिस ढंग से हमने फील्डिंग और गेंदबाजी की वह मैच जीतने के लिए काफी नहीं थी। हम इस सीरीज में बिल्कुल भी जीतने के हकदार नहीं थे।’’

उन्होंने आगे कहा,‘‘असल में हम इतना बुरा भी नहीं खेले, लेकिन मौकों को भुना नहीं पाए। हमारी टीम में जो नए खिलाड़ी आए हैं। यह उनके लिए अच्छा अनुभव रहा। वे टीम में अभी अपनी जगह तलाश रहे हैं।’’ विराट ने कीवी टीम की तारीफ करते हुए कहा, ‘‘वे हमसे ज्यादा जुनून के साथ खेले। वे इस सीरीज को 3-0 से जीतने के पूरे हकदार थे।

हम न्यूजीलैंड में टेस्ट सीरीज जीत सकते हैं : विराट कोहली

इस मौके पर भारतीय कप्तान ने टीम ने अगले लक्ष्य की याद दिला दी। उन्होंने कहा कि हम अब टेस्ट सीरीज के बारे में सोच रहे हैं। हमारे पास संतुलित टीम है। मुझे लगता है कि हम यहां टेस्ट सीरीज जीत सकते हैं। लेकिन इसके लिए हमें मैदान पर सकारात्मक सोच के साथ उतरना होगा।’’ भारत को न्य़ूजीलैंड के खिलाफ दो मैचों की टेस्ट सीरीज खेलनी है। पहला मुकाबला 21 फरवरी को वेलिंग्टन में खेला जाएगा।

न्यूजीलैंड के रॉस टेलर मैन ऑफ द सीरीज 

इससे पहले तीसरे वनडे में टॉस हारकर भारतीय टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 7 विकेट पर 296 बनाए। इसके जवाब में न्यूजीलैंड ने 5 विकेट पर 47.1 ओवर पहले 300 रन बनाकर मैच जीत लिया। कोहली की कप्तानी में पहली बार भारत का क्लीन स्वीप हुआ। हेनरी निकोल्स को मैन ऑफ द मैच और रॉस टेलर को मैन ऑफ द सीरीज चुना गया। टेलर ने 3 मैच में 194 रन बनाए।

कोहली की कप्तानी में पहली बार भारत का क्लीन स्वीप

भारत चौथी बार वनडे में 3 या इससे ज्यादा मैच की द्विपक्षीय सीरीज में क्लीन स्वीप हुआ है। पिछली बार 1988-89 में वेस्टइंडीज के खिलाफ 5-0 और 1983-84 में वेस्टइंडीज के खिलाफ 5-0 से हारा था। 2006-07 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 5 वनडे की सीरीज में 4-0 से हारा था, लेकिन उसमें एक मैच बारिश के कारण रद्द हो गया था।