Sunday, September 26संस्थापक, प्रधान संपादक, स्वामी श्री नवनीत जगतरामका जी
Shadow
indravati-sichai-yojna

बीजापुर : इंद्रावती किनारें सिंचाई सम्भावनाये तलाशने कराया जाएगा सर्वे, वगुड़ियो के साथ घोटुल भी होंगे विकसित

बीजापुर। मुख्य सचिव अमिताभ जैन ने विडियो कांफ्रेसिंग के जरिये बस्तर संभाग की समीक्षा बैठक ली। जिसमें पारम्परिक एवं सांस्कृतिक, धरोहर के रूप में आस्था का केन्द्र देवगुड़ी बनाने के लिये सभी कलेक्टर को 30 अगस्त तक कार्य योजना बनाने को कहा। देवगुड़ी निर्माण में राशि की कमी होने पर विभिन्न योजनाओं से अभिसरण कर चैन लिंक फेन्सिग, सोलर पम्प, शौचालय, शेड निर्माण सहित देवगुड़ी को आकर्षक ढंग से बनाने एवं ग्रामीण बसाहट के समीप बनाने के लिए कहा। ताकि आसानी से लोग पहुंचकर धार्मिक आयोजन के साथ ही सामुदायिक उपयोग के लिए भी किया जा सकें।

देवगुड़ी की तरह घोटुल को भी विकसित किया जाना है, जिसके लिए भी कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिया गया। मुख्यमंत्री की मंशानुसार 9 अगस्त विश्व आदिवासी दिवस के उपलक्ष्य में वनअधिकार अधिनियम के अंतर्गत पात्र हितग्राहियों को वन अधिकार पत्र प्रदान किया जायेगा। जिसके लिए सभी कलेक्टरों से वन अधिकार पत्र प्राप्त करने वाले किसानों की संख्यात्मक जानकारी तत्काल उपलब्ध कराने के निर्देश दिया गया। कनिष्ठ सेवा चयन आयोग की प्रगति और आयोग के माध्यम से बस्तर क्षेत्रों में तृतीय एवं चतुर्थ वर्ग के कर्मचारियों की भर्ती की समीक्षा करते हुए मुख्य सचिव ने रिक्त पदों पर भर्ती के लिए मार्गदर्शिका बनाने के निर्देश बस्तर संभागायुक्त जीआर चुरेन्द्र को दिये।

उन्होने कहा है कि विभागों के लिए ऐसे पद पर तत्काल रूप से भर्ती आवश्यक है इन्हे प्रथम चरण में शामिल करते हुए वित्त विभाग की अनुमति के लिए प्रस्तुत किया जाना है। इन्द्रावती नदी पर सिंचाई परियोजना की समीक्षा के दौरान बीजापुर जिले के मट्टीमरका में प्रस्तावित सिंचाई परियोजना की समीक्षा किया गया। इसके साथ ही इन्द्रावती नदी के दोनों किनारे सिंचाई परियोजना की अन्य और संभावनाओं को दृष्टिगत रखते हुए सर्वे करने के निर्देश दिये।

जिसमें अधिक से अधिक किसानों को लाभान्वित किया जा सके। बैठक में विभिन्न महत्वपूर्ण एजेंडा पर समीक्षा किया गया। जिसमें विगत वर्ष बने बांस के ट्री गार्ड का शेष भुगतान जल्द करने, आवर्ती चराई, में नेपियर घास बुआई, समर्थन मूल्य पर मक्का की खरीदी, मुख्यमंत्री हाट-बाजार क्लीनिक योजना के अंतर्गत अधिक से अधिक हितग्राहियों की लाभान्वित करने टीम एवं वाहन की व्यवस्था हाट-बाजार की स्थिति, मलेरिया मुक्त बस्तर अभियान के सकारात्मक परिणाम शामिल है। इस दौरान कलेक्टर रितेश अग्रवाल ने जिले के विकास कार्यो एवं गतिविधियों से अवगत कराते हुए कहा कि बीजापुर मं 108 देवगुड़ी स्वीकृत है। जिसमें 18 पूर्ण हो चुके है। व्यक्तिगत वन अधिकार पत्र, सामुदायिक वन अधिकार पत्र एवं वन संसाधन अधिकार के प्राप्त आवेदनों के बारे में बताया।

विडियो कांफ्रेसिंग में अपर मुख्य सचिव गृह सुब्रत साहू, प्रमुख सचिव वन मनोज पिंगुआ, प्रधान मुख्य वन संरक्षक राकेश चतुर्वेदी, सचिव सामान्य प्रशासन विभाग डीडी सिंह, मिशन संचालक स्वास्थ्य डॉ. प्रियंका शुक्ला सहित वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित थे।

पोर्टल/समाचार पत्र विज्ञापन हेतु संपर्क : +91-9229705804
Advertise with us

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *