दंतेवाड़ा : बस्तर से गणतंत्र कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने बस्तर को मलेरिया, कुपोषण और एनीमिया से मुक्ति का संकल्प दोहराया

bastar-se-gantanrat-2020

दंतेवाड़ा। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कहा है कि राज्य सरकार बस्तर के लोगों का समग्र विकास करने के लिये कटिबद्ध है और इस दिशा में हरसंभव कोशिश जारी रहेगी। उन्होंने बस्तर को मलेरिया से मुक्त करने सहित कुपोषण और एनीमिया को समूल समाप्त करने का संकल्प दोहराया। वे आज जिला मुख्यालय दंतेवाड़ा में एक निजी समाचार चैनल द्वारा आयोजित बस्तर से गणतंत्र की बात कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। कार्यक्रम में उन्होंने गढ़बो नवा छत्तीसगढ़ की दिशा में चलाए जा रहे अभियानों और योजनाओं के विषय में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने नक्सल उन्मूलन के लिए सकारात्मक पहल की बात कही।

मुख्यमंत्री श्री बघेल ने दन्तेवाड़ा जिले में संचालित मेहरार चो मान योजना की तारीफ करते हुए कहा कि इससे महिलाओं तथा किशोरियों में स्वच्छता और साफ-सफाई के प्रति न केवल जागरूकता आ रही है बल्कि इस पहल से स्थानीय स्तर पर रोजगार भी मिल रहा है। उन्होंने कार्यक्रम में सुपोषण अभियान संचालित करने वाली महिला समूहों तथा आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं, मितानिनों से चर्चा की और इस अभियान में उनकी सक्रिय भागीदारी को अमूल्य योगदान बताया। मुख्यमंत्री ने कहा कि बस्तर अंचल के ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों की सुविधा के लिए चलाई जा रही हाट बाजार क्लीनिक योजना से अंदरूनी ईलाकों में रहने वाले लोंगो को अब स्वास्थ्य जांच तथा उपचार की बेहतर सुविधा मिल रही है। मुख्यमंत्री ने जैविक खेती करने वाले किसानों के उत्पादों का अवलोकन किया और किसानों को आमदनी का जरिया बढ़ाने के लिए इस दिशा में लगातार प्रयास करने की समझाईश दी। इस दौरान साग-सब्जी की खेती तथा फलोद्यान के जरिए आमदनी बढ़ाने वाले किसानों से रूबरू हुए और उनके प्रयासों की सराहना की। कार्यक्रम में उद्योग मंत्री श्री कवासी लखमा, विधायक दन्तेवाड़ा श्रीमती देवती कर्मा और क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों सहित गणमान्य नागरिक मौजूद थे।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*