कोरोना काल में बैंड वालो का कारोबार ठप, व्यवसायियों ने प्रदर्शन किया, मुख्यमंत्री से समस्या का समाधान करने कहा

band-baja-protest-24-aug-2020

रायपुर. कोरोना संकट के बीच छत्तीसगढ़ में बेरोजगारी और आर्थिक तंगी से जूझ रहे बैंड-बाजा और टेंट व्यवसायी सोमवार को फिर सड़कों पर उतर आए। अब कवर्धा और बिलासपुर में व्यवसायियों ने प्रदर्शन किया। हाथों में बैनर और तख्ती लेकर कलेक्ट्रेट पहुंचे व्यवसायियों ने मुख्यमंत्री के नाम कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा।

कवर्धा में सभी साउंड सिस्टम, बैंड, टेंट, लाइट डेकोरेशन, फोटोग्राफर, कैटरिंग व्यवसायी एकत्र हो गए और उन्होंने अपने समानों के साथ कलेक्ट्रेट तक पैदल मार्च किया। हाथों में काम के लिए नारे लिखे तख्तियां और बैनर लिए इन व्यवसायी का कहना था कि हमेशा हर कार्यक्रम में खुशियां और रौनक बढ़ाने वाले अब खुद ही दुखी हैं।

बिलासपुर में भी बैंड व्यवसायियों ने अपने सामान के साथ पैदल मार्च निकालकर प्रदर्शन किया। हाथों में ‘कोई तो सुने हमारी पुकार, हम हो गए हैं बेरोजगार’ और ‘हम परिवार कैसे चलाएंगे, बिना पैसे भूखों मर जाएंगे’ नारे लिखीं तख्तियां लेकर कलेक्ट्रेट पहुंचे। वहां उन्होंने ज्ञापन सौंपा। साथ ही उग्र आंदोलन और मुख्यमंत्री निवास का घेराव करने की चेतावनी दी।

20 अगस्त को राजनांदगांव में नाराज व्यवसायियों पैदल मार्च किया था। साथ ही समाधान नहीं होने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी दी थी। अपनी मांगों को लेकर व्यवसायियों ने मुख्यमंत्री के नाम एक ज्ञापन भी प्रभारी अधिकारी को सौंपा था। उनकी समस्याओं के निराकरण के लिए दो दिन का समय मांगा गया है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*