Thursday, August 5संस्थापक, प्रधान संपादक, स्वामी श्री नवनीत जगतरामका जी
Shadow
baloda-bazaar-thagi-case

बलौदाबाजार : नौकरी लगाने के नाम पर करोड़ों रुपए की ठगी कर 1 वर्ष से फरार आरोपी अशोक पांडे उर्फ महेंद्र तिवारी गिरफ्तार 

बलौदाबाजार व अन्य जिले कोंडागांव, कांकेर ,नारायणपुर, बस्तर व मध्यप्रदेश के कुछ जिलों में किया था ठगी, आईएएस अधिकारी बनकर करता था लोगों के साथ नौकरी लगाने के नाम पर ठगी करने वाला आरोपी अशोक पांडेय उर्फ महेंद्र तिवारी मुख्यता कोतमा मध्य प्रदेश का रहने वाला है । प्रकरण में पूर्व में 5 आरोपीयों को गिरफ्तार किया जा चुका है, उक्त प्रकरण में ठगी के पैसे से खरीदे गए कार, ट्रेक्टर ,बाइक को जप्त किया गया है साथ ही अचल संपत्ति जप्त की कार्यवाही। जिले में धोखाधड़ी के मामले व चिटफंड के मामलों में तत्काल कार्यवाही करने व आरोपियों की गिरफ्तारी करने के संबंध में श्रीमान पुलिस अधीक्षक श्री आई .के. ऐलेसेला के निर्देशन में व अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक निवेदिता पाल व अनुविभागीय पुलिस अधिकारी सुभाष दास के मार्गदर्शन थाना प्रभारी महेश ध्रुव के नेतृत्व में थाना सिटी कोतवाली के अपराध क्र 484/2020, 485/2020, 486/2020, 487/20 धारा 420, 419,34 भादवि के आरोपी को रिमाण्ड पेश कर जेल भेजा गया।

नाम आरोपी – महेन्द्र तिवारी उर्फ अशोक पाण्डेय पिता शेषमणि तिवारी उम्र 31 वर्ष निवासी ग्राम उडतान करमन टोला थाना कोतमा जिला अनुपपुर मध्यप्रदेश।

सिटी कोतवाली बलौदाबाजार में चर्चित नौकरी लगाने के नाम पर धोखाधड़ी में आरोपी महेंद्र तिवारी उर्फ अशोक पाण्डेय गिरफ्तार। बलौदाबाजार जिला व छत्तीसगढ के अन्य जिलों में बनाया लोगो को ठगी का शिकार ।

मामला इस प्रकार है कि प्रार्थीया टिकेश्वरी साहू, राकेश कुमार वर्मा, जानकी बंजारे एवं प्रभा मिरी ने दिनांक 28.07.2020 के लिखित शिकायत आवेदन पर आंगनबाड़ी विभाग में सुपरवाईजर के पद पर नियुक्ति तथा संपूर्ण पोषक आहार का टेंडर दिलाने हेतु बलौदाबाजार महिला बाल विकास परियोजना की तत्कालीन पर्यवेक्षक मेवा चोपड़ा एवं महेंद्र तिवारी उर्फ अशोक पाण्डेय व उनके साथीगण ने अलग अलग लोगो से लोगो का विश्वास जीतकर धोखधड़ी कर करीबन 4से 5 करोड़ रूपये लिये थे। किन्तु किसी का न तो सुपरवाईजर का पद मिला और न ही किसी प्रकार का टेंडर। सभी लोग जब अपने पैसे को वापस मांगने लगे तो मेवा चोपड़ा द्वारा कुछ दिनों बाद एक फर्जी लिस्ट जारी करते हुए दिखाकर लोगो को गुमराह करती रही। जब लोगो को पता चला कि यह लिस्ट फर्जी तरीके से बनाया गया है किसी प्रकार का नौकरी व टेंडर नहीं मिला है तब आरोपिया मेवा चोपड़ा फरार हो गयी और आरोपी महेंद्र तिवारी भी अपने साथियों के साथ फरार था ।

प्रकरण में शुरुआती विवेचना में महेंद्र तिवारी के 4 साथियों को गिरफ्तार कर उनके खाते को जप्त किया गया है साथ ही मेवा चोपड़ा की भी गिरफ्तारी कर उनके भी खातों को जप्त किया गया था। आरोपी महेंद्र तिवारी जिसे हबीबगंज पुलिस के द्वारा धोखधड़ी के मामले में पकड़ा गया था जिसकी सूचना मिलने पर प्रोडक्शन वारंट जारी कर आरोपी को पुलिस रिमांड लिया गया था। आरोपी ने पूछताछ में आरोपिया मेवा चोपड़ा के साथ मिलकर आईएएस अधिकारी अपने आप को बताते हुए नौकरी लगाने के नाम पर डील करता था साथ ही मेवा चोपड़ा से जुड़े जो लोग कस्टमर लाकर देते थे आरोपी अपने आप को अशोक पांडे बताकर लोगों से बातचीत किया करता करता था तथा नौकरी के लगाने के नाम पर 3 से 4 लाख में डील करता था। आरोपी महेंद्र महेंद्र तिवारी एफ.आई .आर के बाद से फरार था जो लगातार मध्य प्रदेश , रीवा, सतना , अनुपपुर ,भोपाल अन्य जगह पर छुप कर रहा था।

आरोपी के द्वारा ठगी के पैसे से खरीदे गए wr-v कार, एक ट्रैक्टर, एक बाइक, एक स्कार्पियो ,एक बोलेरो, को जप्त किया गया है। साथ ही अचल संपत्ति की जानकारी लेकर कार्यवाही की जा रही है। बलौदाबाजार में अपराध क्र 484/2020, 485/2020, 486/2020, 487/2020 धारा 420, 419 ,34 भादवि के तहत मामलों में कार्रवाई की गई है। आरोपी महेंद्र तिवारी को विधिवत गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश कर ज्यूडिशियल रिमांड लिया गया है।

उपरोक्त कार्यवाही में निरीक्षक महेश ध्रुव , उपनिरीक्षक बी.के. सोम, प्रआर मोह.अरसद खान, दुर्गेश सिंह, संघर्ष तिवारी, कुलमनी बारीक, आरक्षक विवेकानंद सिंह, मुकेश तिवारी, राजेन्द्र साहू व थाना सिटी कोतवाली स्टाफ शामिल रहे।

पोर्टल/समाचार पत्र विज्ञापन हेतु संपर्क : +91-9229705804
Advertise with us

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *