उत्तर बस्तर कांकेर : ‘रोका-छेका’ अभियान शुरू होने से श्रीगुहान के अभिराम हुए गदगद

प्रदेश के मुखिया किसान पुत्र श्री भूपेश बघेल द्वारा ‘रोका-छेका’ अभियान शुरू करनेे से नरहरपुर विकासखण्ड के ग्राम श्रीगुहान के किसान अभिराम वट्टी गदगद होकर कहने लगे, रोका-छेका अभियान के शुरू होेने से गांव के पालतू जानवरों को गौठान में लाने की व्यवस्था की गई है। अब गांव के किसानों के खेतों का फसल नुकसान नहीं होगा। गांव के सभी किसान मवेशियों को गौठान में लाकर रख सकंेगे, जिसके कारण गौठान से अधिक मात्रा मे गोबर भी मिलेगा। उन्होंने कहा कि रोका-छेका तिहार के दिन गांव के सभी किसान अपने-अपने पालतू जानवरों को गौठान में लाने का संकल्प लिये हैं। किसान अभिराम वट्टी ने बताया कि अपने तीन एकड़ जमीन में कृषि कार्य करने के पश्चात चारो बैल को गौठान में लाकर चरवाहा को सौंप देता हूॅ। उन्होंने कहा कि गौठान में महिला स्व-सहायता समूह के सदस्यों द्वारा आधुनिक पद्धति से कृषि कर आय में वृद्धि कर रहें हैं, इसके अलावा उनके द्वारा मछली तथा मुर्गी पालन का कार्य भी हाथ में लिया गया है। जय मॉ लक्ष्मी स्व-सहायता समूहों के सदस्यों द्वारा लॉकडाउन के समय भी डेढ़ लाख रूपये का सब्जी बेचने में कोई परेशानी नहीं हुई।
उल्लेखनीय है कि कांकेर जिले के सभी 454 ग्राम पंचायतों में 19 जून को ‘रोका-छेका’ तिहार मनाया गया तथा इसी के साथ पशुओं को गौठान में एकत्रित करने का कार्य भी शुरू हो गया है। इस अभियान के माध्यम