Tuesday, November 30संस्थापक, प्रधान संपादक, स्वामी श्री नवनीत जगतरामका जी
Shadow

बलौदाबाजार : 16 वर्षो से न्याय की तलाश मे भटक रहा केशराम यादव एवं परिवार.. उच्च न्यायालय के आदेश के बाद तहसील न्यायालय नही दिला रहा हक

बलौदाबाजार, अपने ही हक की जमीन को पाने तहसील से लेकर न्यायालय तक चक्कर लगाकर थक चुका ग्राम चोरहाडीह का केशराम यादव एवं उनका परिवार मजबुर होकर 2 अक्टुबर से पलारी के गायत्री मंदिर के सामने अनिश्चित कालीन धरने पर बैठ न्याय की लगायेगा गुहार।
बलौदाबाजार राजस्व विभाग के कारनामे हमेशा से चर्चित रहे है एैसा ही मामला पलारी तहसील कार्यालय का है जहां कि केशराम यादव एवं उनका परिवार अपने पूर्वजो की हक की जमीन को पाने के लिए विगत 16 वर्षो से पटवारी तहसीलदार एसडीएम कलैक्टर तक चक्कर लगा चुका है पर अब तक उसे उसके हक की जमीन नही मिल पा रही है जबकि उच्च न्यायालय ने भी उसके पक्ष मे निर्णय दे चुका है इसके बावजुद तहसीलदार द्वारा उसके हक की जमीन नही दिलाया जा रहा है जिससे व्यथित होकर यह परिवारआगामी 2 अक्टुबर से पलारी के गायत्री मंदिर के पास अनिश्चितकालीन धरने पर बैठ रहा है ।
इस सबध मे केशराम यादव एवं राकेश यादव ने बताया कि उनके पूर्वज सोमनाथ पिता बोधन यादव की जमीन खसरा 1140, 0.567 , 886, 0012 ग्राम पलारी मे स्थित है जिसे उनके परिवार के भागवत एवं विमल यादव द्वारा बगैर बटवारे के हठधर्मिता पूर्वक बेचा जा रहा है जो कि उचित नही है । आगे बताया कि सन 1985 मे सोमनाथ पिता बोधन की जमीन को उनके तीन बेटे परदेशी यादव, समारू यादव, जगौती यादव के नाम नामांतरण पंजी मे पंजीकृत किया गया था जिसे आगे चलकर परदेशी यादव ने छलपूर्वक पटवारी एवं तहसीलदार से मिलकर अपने नाम करके अपने पोते भागवत, विमल पिता सुखीराम यादव को बेच दिया । जबकि तहसील पटवारी द्वारा 9.12.2009 को समारू पिता सोमनाथ वगैरह के नाम से ़किसान किताब दिया गया था । जिसे बाद मे आरोपी द्वारा कटवा दिया गया । जिसके विरूद्ध माननीय न्यायालय बलौदाबाजार मे प्रकरण चला जिसमे समारू यादव के पक्ष मे फैसला आया जिसके बाद आरोपी द्वारा उच्च न्यायालय मे अपील दायर किया गया जहां पर पुनश्च निचली अदालय के निर्णय को यथावत रखते हुए परदेशी यादव की अपील को खारिज कर दिया।उसके बाद सुखरू यादव ने सन 2020 मे उच्च न्यायालय मे पुन अपील किया गया जिसे भी माननीय न्यायालय द्वारा फिर से खारिज कर दिया गया । जिसके बाद तहसील न्यायालय मे बटवारे के लिए आवेदन दिया इसी बीच भागवत व विमल यादव पिता सुखीराम यादव द्वारा फर्जी तरीके से जमीन को बेचने का कार्य किया जा रहा है जिसके विरूद्ध तहसीलदार को आवेदन देकर इसमे रोक लगाने का आवेदन दिया गया। इसी बीच आरोपीगणो द्वारा जमीन को फर्जी तरीके से अपना बताते हुए 1. डायमंड साहू पिता सुखउ तेली, 2 टेकराम पिता किशुन तेली , 3 लोकनाथ पिता भोजराम , 4 भगेलु पिता कृपालु , 5 पुरनलाल पिता किशनलाल , 6 सोमकुमार पिता संतोष तेली, को बेच दिया । उच्च न्यायालय के आदेश के बावजुद तहसील न्यायालय द्वारा आरोपी को संरक्षण देते हुए उनके नामो को विलोपित नही किया जा रहा है वरन जमीन की बिक्री का नकल दिया जा रहा है जो कि उचित नही है वही इस पर रोक लगाये जाने एवं बटवारा करने के आवेदन को नही माना जा रहा है वरन धुमाया जा रहा है जिसको लेकर एसडीएम व कलेक्टर तक आवेदन दिया जा चुका है फिर भी सुनवाई नही हो रही है एवं पुरखो की जमीन को आरोपीगणो द्वारा अभी भी बिक्री करने का कार्य जमीन दलालो के साथ मिलकर किया जा रहा है । जिससे व्यथित होकर हमलोग अपने परिवार सहित दो अक्टुबर गांधी जी के जन्मदिवस के दिन से अनिश्चिित कालीन धरना पर बैठ रहे है । जिसके बाद की सम्पूर्ण जवाबदारी शासन प्रशासन की होगी । इस बाबत माननीय एसडीएम व थानेदार को भी सुचना दी गयी है । अंत मे यही उम्मीद है प्रदेश के मुख्यमंत्री शासन प्रशासन हमारी बातो को संज्ञान मे ले एवं हमे न्याय दिलावे।

पोर्टल/समाचार पत्र विज्ञापन हेतु संपर्क : +91-9229705804
Advertise with us

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *