जिला प्रशासन के निर्देशों की उड़ रही धज्जियां

इस्पात टाइम्स/रायगढ़। शहर व आसपास संचालित विवाह घरों में जिला प्रशासन के निर्देशों की खुलेआम धज्जियां उड़ रही है। शादी-ब्याह के इस सीजन में इस स्थानों पर देर रात डीजे चलने व शोर-शराबे से परीक्षा की तैयारी में जुटे बार्ड परीक्षार्थियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। गौरतलब है कि फरवरी में 10वीं व 12वीं की बोर्ड परीक्षा शुरू हो रही है। परीक्षा के मददेनजर बोर्ड परीक्षार्थी तैयारी में जुटे हुए हैं। इसे ध्यान में रखते हुए दो दिन पहले कलेक्टर रायगढ़ द्वारा विवाह घरों में देर रात बजने वाले डीजे व शोर-शराबे पर अंकुश लगाने के निर्देश जारी किये गए थे। इसमें कलेक्टर की ओर से स्पष्ट रूप से अनुविभागीय अधिकारियों को कार्रवाई करने के लिए कहा गया है। रात 10 बजे के बाद सड़कों व विवाह घरों में तेज आवाज में चलने वाले डीजे व लाउड स्पीकर पर हर हाल में रोक लगाने के निर्देशों का पालन होते दिखाई नहीं दे रहा है। जिला प्रशासन के सख्त आदेश के बावजूद पिछले दो दिनों से शहर में यह आसानी से देखा जा रहा है। इससे बोर्ड परीक्षा की तैयारियों में जुटे बोर्ड परीक्षार्थियों को परेशानी हो रही है। विद्यार्थियों व उनके अभिभावकों का कहना है कि तेज आवाज में डीजे व स्पीकर आदि चलाए जाने से पढ़ाई में व्यवधान उत्पन्न हो रहा है। चौक-चौराहों व गली-मोहल्लों में लोगों द्वारा शादी-व्याह के सीजन में हो रही मनमानी पर रोक लगना बहुत जरूरी है। इसके साथ ही विवाह घर संचालकों को नोटिस देकर कार्रवाई किये जाने की आवश्यकता हो रही है। jile
जाम कर रहे सड़क
शादी-व्याह के सीजन में लोग सड़कों को जाम करने में भी पीछे नहीं हट रहे हैं। शहर के विभिन्न मार्गो पर इन दिनों बारातियों को बैंड की धुन के साथ थिरकते हुए सड़क जाम करते देखा जा सकता है। बुधवार को दोपहर सुभाष चौक, सदर बाजार व गांधी चौक तथा शाम को बोइरदादर मार्ग पर यह नजारा देखने को मिला। इस तरह का नजारा शहर के मुख्य मार्गो पर पिछले करीब सप्ताह भर से देखा जा रहा है। हैरत की बात तो यह है कि यह सब देखते हुए भी ट्रैफिक पुलिस की ओर से किसी तरह की कार्रवाई नहीं की जा रही है। इस विभागीय उदासीनता के कारण लोगों के हौसले बढ़ते जा रहे है।
40 विवाह घरों को नोटिस
जिले में पहली बार पुलिस ने सुप्रीम कोर्ट के दिशा निर्देश के बाद कोलाहल अधिनियम की धारा 3, 4 के तहत कार्रवाई शुरू करते हुए जिला मुख्यालय के 40 विवाह घरों के संचालकों को नोटिस जारी करते हुए यह चेतावनी दी है कि रात्रि 10 बजे के बाद डीजे साउड के साथ-साथ तेज आवाज में संगीत न बजायें अन्यथा उनके सामान को न केवल जब्त कर लिया जाएगा बल्कि अधिनियम के तहत मामला भी दर्ज किया जाएगा। इस संबंध में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक यूबीएस चौहान ने बताया कि लंबे समय से यह शिकायत मिल रही थी शादी ब्याह के साथ-साथ अन्य अवसरों पर शहर के विवाह घरों में देर रात तक तेज आवाज में गीत व संगीत बजने की शिकायतें आ रही थी साथ ही साथ कोलाहल अधिनियम की अनदेखी भी की जा रही थी उनका कहना था कि हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने भी कोलाहल अधिनियम का उल्लंघन करने वाले संस्थानों पर कडी कार्रवाई के दिशा निर्देश दिये थे और इसी के चलते पुलिस द्वारा शहर के 40 विवाह घरों को नोटिस जारी करते हुए इस नियम का पालन करने को कहा गया है।