बिलासपुर सेल्टर होम से भागा किशोर पहुंंचा रायगढ़

रायगढ़। आरपीएफ अधिकारी को रायगढ़ प्लेटफार्म पर घूमते हुए एक लावारिस किशोर मिला। जिससे पूछताछ के बाद बिलासपुर से भाग कर आने की बात सामने आई। आरपीएफ ने उक्त मासूम को चाइल्उ लाइन को सौंप दिया। चाइल्ड लाइन की काउंसलिंग में किशोर के बिलासपुर स्थित सेल्टर होम से भाग कर रायगढ़ आने की बात सामने आई है। उक्त किशोर को सीडब्ल्यूसी में पेश कर स्थानीय सेल्टर में शिफ्ट कर दिया है। awवहीं उसके बयानों की संबंधित संस्था से पूछताछ की जा रही है। मिली जानकारी के अनुसार मंगलवार की सुबह करीब 8 बजे रायगढ़ आरपीएफ अधिकारी को प्लेटफार्म पर घूमते हुए एक किशोर मिला। किशोर से पूछताछ के बाद मालूम हुआ कि वो बिलासपुर से भाग कर रायगढ़ पहुंचा है। ऐसे में, आरपीएफ ने किशोर को स्थानीय चाइल्उ लाइन के सुपूर्द कर दिया। चाइल्ड लाइन ने जब किशोर की काउंसलिंग की तो चौकाने वाले तथ्य सामने आए। किशोर, बिलासपुर स्थित ‘समर्पितझ् सेल्टर होम से भाग है। किशोर की माने तो सेल्टर होम में उसके साथ मारपीट की जाती थी। वहीं इलाहाबाद में उसके माता-पिता के रहने की वजह से वो उनसे संपर्क भी नहीं कर पाता है। इसकी वजह से सामान लेने के बहाने किशोर ने सेल्टर होम से भागने की साजिश की। किशोर के इस खुलासा के बाद स्थानीय चाइल्ड लाइन की टीम, बिलासपुर चाइल्ड लाइन से संपर्क कर उक्त संस्था की जानकारी लेने में जुट गई है। वहीं किशोर को बाल कल्याण समिति में पेश कर पंडरीपानी स्थित आशियाना सेल्टर होम में शिफ्ट कर दिया है। स्थानीय चाइल्ड लाइन की काउंसलिंग में किशोर ने बताया कि करीब दो साल पहले मुंबई भी भाग कर गया था। जहां मुंबई चाइल्ड लाइन ने उसे प्रदेश के दुर्ग जिला स्थित सेल्टर होम में शिफ्ट कराया। वहीं बिलासपुर में किशोर के दूर के परिजनों के रहने को लेकर उसे दुर्ग से बिलासपुर स्थित सेल्टर होम में शिफ्ट कर दिया गया। किशोर द्वारा दी गई जानकारी की सचाई जानने स्थानीय टीम पतासाजी कर रही है।